Jewar International Airport : यूपी में प्रस्तावित देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट इस राज्य में हो सकता है शिफ्ट

Jewar International Airport : यूपी में प्रस्तावित देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट इस राज्य में हो सकता है शिफ्ट

Virendra Kumar Sharma | Publish: Aug, 22 2018 01:07:53 PM (IST) | Updated: Aug, 22 2018 03:03:10 PM (IST) Greater Noida, Uttar Pradesh, India

Jewar International Airport के लिए ज़मीन अधिग्रहण मुआवजे को लेकर किसान और सरकार के बीच में अभी नहीं बनी सहमति, एयरपोर्ट जमीन विवाद बढ़ने पर राजस्थान सरकार ने अलवर में एयरपोर्ट के लिए कोशिश तेज कर दी है।

ग्रेटर नोएडा. जेवर में बनने वाले jewar international airport पर खतरा के बादल मंडराने शुरू हो गए है। एयरपोर्ट के निर्माण के लिए जमीनी विवाद बढ़ने पर राजस्थान सरकार ने अलवर में कोशिश तेज कर दी है। लोक अदालत के जरिए राजस्थान सरकार किसानों से जमीन लेने पर विचार कर रही है। सितंबर माह में अलवर प्रशासन की तरफ से लोक अदालत आयोजित की जाएगी।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव से पहले बसपा में बड़ा फेरबदल, इन लोगों को मिलने जा रही है बडी जिम्मेदारी

दरअसल में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने जेवर में जमीन को लेकर 31 अगस्त तक का समय प्रशासन को दिया है। नोएडा के जेवर में बनने वाले Airport के लिए पहले चरण में 13 सौ हेक्टेयर जमीन की दरकार है। इसके लिए 8 हजार से ज्यादा किसानों की सहमति की जरुरत है। हालाकि जिला प्रशासन व यमुना प्राधिकरण की टीम प्रयासरत है। उधर अभी भी जमीन के लिए किसानों से सहमति नहीं बन पाई है।

कुछ किसान एयरपोर्ट के लिए जमीन देने की एवज में चार गुना मुआवजे की मांग पर अड़े हुए है। वहीं ज्यादातर किसान जमीन देने की मूड में दिखाई नहीं दे रहे है। डीएम ने रन्हेरा गांव में तहसील व प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ में किसानों से मीटिंग की। मीटिंग के दौरान डीएम ने किसानों से सोच समझकर जमीन देने की बात कहीं। उन्होंने आने वाली पीढी को मिलने वाले रोजगार को ध्यान में रखकर जमीन देने का फैसला लेने को कहा। एयरपोर्ट के लिए किसान सर्किल रेट के चार गुना मुआवजे लेने पर अड़े हुए है तो कुछ 3300 रुपये व एक किसान ने 2700 रुपये प्रति वर्ग मीटर प्रस्ताव रखा है।

उधर एयरपोर्ट के लिए राजस्थान सरकार ने कवायद तेज कर दी है। अलवर में पिछले कई साल से एयरपोर्ट बनाने पर विचार किया जा रहा है। अभी तक अलवर व आस-पास के शहरों के लोगों को हवाई यात्रा के लिए जयपुर या दिल्ली जाना पड़ता है। राजस्थान के अधिकारियों की माने तो कोटकासिम व तिजारा में एयरपोर्ट बनाया जाएगा। इसके लिए 14 गांवों की जमीन ली जाएगी। इसे ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट भी कहा जाएगा। दिल्ली एयरपोर्ट के दबाव को देखते हुए इसका विस्तार होगा। राजस्थान में एयरपोर्ट के निर्माण के लिए कोटकासिम के 14 गांवों की जानकारी एयरपोर्ट ऑथीरिटी ऑफ इण्डिया को दी गई है।

यह भी पढ़ें: मायावती इस सीट से लड़ेंगी लोकसभा चुनाव!

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned