सऊदी प्रिंस ने खरीदी दुनिया की सबसे महंगी ईसा मसीह की पेंटिंग, इंग्लैंड के राजा के महल से हुई थी चोरी

By: Mohit sharma

Updated: 10 Dec 2017, 03:02 PM IST

गल्फ
1/4

नई दिल्ली। एक ओर जहां सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान अपने देश में भ्रष्टाचार से जंग कर रहे हैं, वहीं उनके द्वारा अपने शौक के लिए बेशुमार दौलत खर्च किए जाने का मामला सामने आया है। खबर है कि सऊदी प्रिंस ने लियोनार्डो द विंची की बनाई 'ईसा मसीह' की सबसे महंगी पेटिंग खरीदी है। सऊदी प्रिंस द्वारा खरीदी गई यह महंगी पेंटिंग दुनिया भर में चर्चा का विषय बनी हुई है।

दुनिया की सबसे महंगी पेंटिंग

दरअसल, लियोनार्दो दा विंची अपनी मोनालिसा पेंटिंग की वजह से दुनिया भर में काफी मशहूर हैं। विंची की एक और सल्वातोर मुंडी नाम की पेटिंग पिछले दिनों 450,312,500 डॉलर यानी लगभग 29,042,085,992 रुपये में बिकी थी। यह दुनिया भर में अब तक सबसे महंगी बिकने वाली पेंटिंग है। यही कारण है कि पेंटिंग के बिकने के समय से ही यह पूरे विश्व में चर्चा का विषय बनी हुई है। असल में पेंटिंग अपनी महंगाई के अलावा खरीदार की वजह से भी अधिक चर्चित हो गई है। एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार इस पेंटिंग को किसी ओर से नहीं, बल्कि सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने खरीदा है। बताया जा रहा है कि इस पेंटिंग को उन्होंने खुद नहीं, बल्कि अपने एक मित्र प्रिंस बदर बिन अब्दुल्ला के नाम से खरीदा है। हालांकि बदर इस बात से इनकार करते नजर आ रहे हैं।

ऐसे हुआ खुलासा

जानकारों के मानें तो इस पेंटिंग को सऊदी प्रिंस द्वारा खरीदे जाने का एक प्रमाण यह भी है कि इसको लोवरे नाम के फ्रांसी विश्व प्रसिद्ध कला संग्रहालय की अबूधाबी में खुली ब्रांच में रखा गया है। जिस पर सऊदी युवराज का प्रभाव है। बता दें कि इस अबूधाबी में इस ब्रांज का उद्घाटन कुछ दिन पहले ही किया गया है। बताया जा रहा है कि एक समय यह पेंटिंग इंग्लैंड के राजा चार्ल्स प्रथम के महल से चोरी हो गई थी। जिसके बाद यह 1958 में बेहद खराब हालत पाई गई थी। जिसके बाद उसको मेन्टेन कर सही स्थिति में लाया गया। कला प्रेमियों की मानें तो निकट भविष्य में यह पेंटिंग मोनालिसा जितनी ही लोकप्रियता ही हासिल कर लेगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned