UAE में टैंकरों पर हुए हमले की रिपोर्ट UNSC में पेश, घटना के लिए जिम्मेदार है कोई 'खास' देश

  • UAE के तट पर तेल टैंकरों पर हुए हमले में किसी देश का हाथ
  • UAE, सऊदी अरब और नॉर्वे की जांच में मिले अहम सुराग
  • संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सामने शुरुआती जांच रिपोर्ट की सौंपी गई

By: Shweta Singh

Updated: 07 Jun 2019, 01:54 PM IST

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के तट पर तेल टैंकरों पर हुए हमलों को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। UAE की अगुवाई में चल रही जांच में अभी तक जो तथ्य सामने आए हैं, उससे पता चलता है कि इसमें किसी देश का (State Actor) का हाथ था। हालांकि, अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि आखिरकार वह देश कौन सा है।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सामने पेश की गई रिपोर्ट

यही नहीं, हमले में ईरान की संलिप्तता का सबूत भी अभी तक नहीं सामने आया है। इस संबंध में UAE के साथ सऊदी अरब और नॉर्वे ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) के सामने शुरुआती जांच रिपोर्ट पेश किए। फिलहाल, इस मामले की जांच जारी है और इसकी अंतिम रिपोर्ट भी परिषद के सामने पेश किए जाएंगे। इसी आधार पर आगे की कार्रवाई के लिए निर्णय लिया जाएगा।

UNSC

हमले में किसी एक्सपर्ट देश का हाथ

इस संबंध मेें UAE, सऊदी अरब और नॉर्वे ने एक बयान में जानकारी दी कि फिलहाल अभी जांच अभी जारी है। लेकिन अब तक हासिल हुए तथ्य इशारा करते हैं कि चार हमले एक अत्याधुनिक और सोचे समझे प्लान का हिस्सा थे। इसे किसी महत्वपूर्ण परिचालन क्षमता वाले तत्व ने अंजाम दिया। संभवत: यह तत्व कोई देश है।’ रिपोर्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि हमले को अंजाम देने के लिए नाव को तेजी से नेविगेट करानेवाले एक्सपर्ट की मदद ली गई है।

यह भी पढ़ें-

Tanker

अमरीका ने लगाया था ईरान पर आरोप

आपको बता दें कि अमरीका ने 12 मई को हुए इस हमले का आरोप ईरान पर लगाया था, जबकि तेहरान ने ऐसे किसी संभावना से इनकार करते हुए जांच की मांग की थी। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, लेकिन सऊदी अरब ने कहा है कि उसके दो जहाजों को "महत्वपूर्ण" क्षति हुई है। अमीरात अपतटीय क्षेत्र में 4 तेल टैंकरों पर हमला किया गया था। खास बात यह है कि हमला ऐसे वक्त हुआ जब तेहरान और वॉशिंगटन के बीच तनाव काफी बढ़ चुका है।

यह भी पढ़ें-

Saudi arab king

सऊदी किंग सलमान का बयान

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते सऊदी अरब के किंग सलमान ने ईरान की आलोचना करते हुए, उनकी हरकत को 'आतंकी करतूत' बताया था। इस्लाम के सबसे पवित्र शहर मक्का में OIC बैठक के दौरान सलमान ने वहां के मुस्लिम नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसे हमलों से वैश्विक ऊर्जा आपूर्ति के लिए जोखिम हैं। OIC देशों के नेताओं के सामने भाषण देते हुए सलमान ने कहा, 'दुनिया को आतंकवाद को पालने वालों और उनकी आर्थिक मदद करने वालों से लड़ना चाहिए।'

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned