जनता बोली- अधिकारी फोन नहीं उठाते, विधायक ने दूसरों के नंबर से किए 25 कॉल, एक भी नहीं हुआ रिसीव

जनता बोली- अधिकारी फोन नहीं उठाते, विधायक ने दूसरों के नंबर से किए 25 कॉल, एक भी नहीं हुआ रिसीव

Pawan Tiwari | Updated: 14 Jul 2019, 10:35:09 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

  • ग्वालियर दक्षिण से विधायक हैं प्रवीण पाठक।
  • लोगों की शिकायत पर विधायक ने आम जनता से फोन कराया।

ग्वालियर. विधायक प्रवीण पाठक शनिवार रात बिजली विभाग के कंट्रोल रूम को औचक निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान वहां केवल ऑपरेटर मौजूद था जबकि जूनियर इंजीनियर मौके से गायब थे। इस दौरान लोगों ने विधायक से कई शिकायतें कीं। बता दें कि मध्यप्रदेश में लगातार अघोषित बिजली कटौती की शिकायत मिल रही हैं।

 

इसे भी पढ़ें- गंदगी देख भड़के कलेक्टर ने खुद की सफाई, अधिकारी का एक माह का कटा वेतन, कहा- लापरवाहों को जेल भेजो

 

जनता के नंबर से लगाया फोन
विधायक के आने की जानकारी मिलते ही लोग भी इकट्ठा हो गए और विधायक से शिकायत करते हुए स्थानीय लोगों ने कहा कि बिजली विभाग के अधिकारियों को फोन लगाओ को वो फोन तक नहीं उठाते हैं। जिसके बाद विधायक प्रवीण पाठक ने एक-एक करके जनता के मोबाइल से 25 बार बिजली विभाग के अधिकारियों को फोन लगवाया। पर अधिकारियों ने फोन नहीं उठाया। उसके बाद विधायक ने अपने मोबाइल से फोन कर अधिकारियों को बुलाया।

 

Congress MLA

 

कर्मचारी नहीं अधिकारियों को करो निलंबित
इस दौरान गुस्से में विधायक ने कहा- कर्मचारियों को नहीं बल्कि अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करो। इसके बाद विधायक ने जूनियर इंजीनियर दीपक कुमार और असिस्टेंट इंजीनियर जेके श्रीवास्तव को मौक पर ही निलंबित करने को कहा।

 

 

इसे भी पढ़िए- ये देश का सबसे मंहगा स्कूल, माधवराव सिंधिया को भी नहीं मिला था रॉयल ट्रीटमेंट, 110 एकड़ में फैला है कैंपस

 

रजिस्टर भी देखा
प्रवीण पाठक ग्वालियर दक्षिण से कांग्रेस के विधायक हैं। वो सेकंड बटालियन के पास स्थिति बिजली विभाग के 24 घंटे चलने वाले कंट्रोल रूम पर पहुंचे तो सभी कर्मचारी नदारद थे और केवल ऑपरेटर मिला। आम जनता का फोन नहीं उठाने पर उन्होंने खुद के मोबाइल से फोन करके संभागीय अभियंता अजय तोमर को सेंटर के हालात दिखाने के लिए बुलाया। उसके बाद उन्होंने जनता की शिकायतों का रजिस्टर भी देखा। इस दौरान लोगों ने कहा- हमारी शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं होती है।

Congress MLA

 

मंत्रियों की भी नहीं सुनरहे अधिकारी

मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार के कई मंत्री आरोप लगा चुके हैं कि उनके विभाग के मंत्री उनकी बातों को नहीं सुन रहे हैं। वहीं, अघोषित बिजली कटौती के कारण कमल नाथ सरकार पर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। बिजली कटौती को लेकर सरकार बैकफुट पर नजर आती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned