जरा सी चूक पड़ी जान पर भारी : चलती ट्रेन से कूदकर गवा दिये दोनो पैर, गलत ट्रेन में हो गया था सवार

जरा सी चूक और इंजीनियर ने गवा दिये दोनो पैर।

By: Faiz

Published: 13 Feb 2021, 03:58 PM IST

ग्वालियर/ मध्य प्रदेश के ग्वालियर से मुरैना स्टेशन के बीच शनिवार की सुबह एक ट्रेन यात्री की जरा सी चूक उसकी जान पर भारी पड़ गई। गनीमत रही कि, इस चूक के बवजूद उसकी जान तो बच गई, लेकिन इस दौरान उसने अपने दोनो पैर गवा दिये। दरअसल, हुआ ये कि, इंजीनियर युवक को हैदराबाद जाना था, लेकिन जल्दी-जल्दी में वो गलती से दिल्ली जाने वाली रेल गाड़ी में सवार हो गया। जबतक उसे गलत ट्रेन में चढ़ने का अहसास हुआ, तब तक ट्रेन रफ्तार पकड़ चुकी थी। लेकिन, आनन फानन में उसने चेन खींची और चलती ट्रेन से कूद पड़ा। इस दौरान नियंत्रण न बन पाने से वो ट्रेन की चपेट में आ गया, जिससे उसके दोनो पैर टूट गए।

 

पढ़ें ये खास खबर- अंधे कत्ल का खुलासा : हैरान कर देने वाले इस हत्याकांड में 3 आरोपी गिरफ्तार, 1 अब भी फरार

हादसे का कारण

news

आपको बता दें कि, 35 वर्षीय भिंड निवासी कप्तान सिंह पुत्र उदयवीर सिंह हैदराबाद की IT कंपनी में पदस्थ है। फिलहाल, वो छुट्टी मनाने अपने घर आया था। शनिवार की सुबह उसे सदन एक्सप्रेस से ग्वालियर से हैदराबाद जाना था। सुबह ही वो अपने सामान के साथ भिंड से ग्वालियर स्टेशन पहुंचा था। गलती से वो प्लेटफाॅर्म नंबर दो पर आई एमपी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में बैठ गया, लेकिन गाड़ी चलने के कुछ देर बाद उसे पता चला कि, वो गलत ट्रेन में बैठ गया। उसने रायरू स्टेशन गुजरने के बाद चेन पुलिंग कर दी। इस दौरान ट्रेन रुकी भी नहीं थी कि, वो कूद गया, जिसके चलते वो ट्रेन के पहिए के बीच फंस गया। गंभीर हालत में उसे मुरैना लाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद एंबुलेंस की मदद से ग्वालियर के ट्रॉमा सेंटर लाया गया।

 

पढ़ें ये खास खबर- यातायात सड़क सुरक्षा सप्ताह : पुलिस ने समझाया कि, आप कैसे कर सकते हैं सुरक्षित सफर


काटने पड़े दोनों पैर

हादसे के शिकार हुए कप्तान सिंह के दोनो पैर टूटकर बुरी तरह से एक दूसरे में लपट गए। ट्रॉमा सेंटर के चिकित्सकों को कप्तान सिंह की जान बचाने के लिये उसके दोनो पैर काटने पड़े। डॉक्टरों के मुताबिक, पीड़ित के पैर पूरी तरह चकनाचूर हो चुके थे। मसल्स फटने पर शरीर में जहर फैलने की संभावना थी, जिस कारण युवक की जान बचाने के लिये पैर काटने पड़े। इधर, रेलवे द्वारा पीड़ित के परिजन को सूचना मिलते ही वो भी अस्पताल पहुंच गए हैं।

अब भूख हड़ताल पर बैठे बच्चे - video

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned