रिहाना, मिया खलीफा और ग्रेटा को जवाब देते हुए Kapil Mishra ने तोड़ी सारी हदें, महिलाओं का अपमान करते हुए बोलें- 'आंदोलन था मंडियों का बन गया...'

By: Shweta Dhobhal
| Published: 05 Feb 2021, 11:01 AM IST
रिहाना, मिया खलीफा और ग्रेटा को जवाब देते हुए Kapil Mishra ने तोड़ी सारी हदें, महिलाओं का अपमान करते हुए बोलें- 'आंदोलन था मंडियों का बन गया...'
BJP Leader Kapil Mishra Comment On Rihanna, Mia Khalifa Greta Thunberg

  • बीजेपी लीडर कपिल मिश्रा ( Kapil Mishra ) ने महिलाओं पर की आपत्तिजनक टिप्पणी
  • ट्वीट कर रिहाना ( Rihanna ), मिया खलीफा ( Mia Khalifa ), और ग्रेटा थनबर्ग ( Greata Thunberg ) पर किया कमेंट
  • किसान आंदोलन ( Farmers Protest ) को लेकर बोलने पर महिलाओं पर साधा निशाना

नई दिल्ली। किसान आंदोलन पर जब से अमेरिकन पॉप सिंगर रिहाना ने ट्वीट किया है। तब से ही वह भारत में जमकर ट्रोल हो रही हैं। आम से लेकर खास तक सभी रिहाना पर ताना कसने का मौका नहीं छोड़ रहे हैं। जहां बॉलीवुड की कई जानी-मानी हस्तियों ने अपने-अपने अंदाज में रिहाना को उनके ट्वीट का जवाब दिया है। वहीं अब राजनेता अपने अंदाज में रिहाना पर बरसते हुए नज़र आ रहे हैं। इस बीच बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने भी रिहाना के साथ-साथ किसान आंदोलन का समर्थन करने वाली महिलाओं पर कुछ ट्वीट किए हैं। जिसमें वह अपने शब्दों की सारी हदें पार करते हुए दिखाई दिए।

 

tweet_1_1.jpg

हर मुद्दे पर खुलकर बोलने वाले नेता कपिल मिश्रा ने कई ट्वीट किए जिसमें वह औरतों की इज्जत, और उन्हें चुप कराते हुए नज़र आए। कपिल मिश्रा ने सबसे पहला ट्वीट किया। जिसमें वह लिखते हैं कि 'आंदोलन था मंडियो का बन गया...।' अब इस ट्वीट को पूरा करने में सभी बहुत सक्षम हैं और सभी यह बात भी बखूबी जानते हैं कि वह क्या कहना चाहते हैं। हालांकि ट्वीट के विवादों में आने के बाद उन्होंने तुंरत ही इस ट्वीट को डिलीट कर दिया। लेकिन वह फिर भी बाज नहीं आए और उन्होंने एक और ट्वीट किया जिसमें वह औरतों की इज्जत की धज्जियां उड़ाते हुए नज़र आए।

tweet_2_1.jpg

कपिल मिश्रा ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखते हुए कहा कि 'सेक्स, कामुकता, नंगाई और हवस की गोद में ले जाकर बिठा दिया फर्जी किसान आंदोलन को...एक हफ्ते पहले एक अत्यंत पवित्र निशान इस आंदोलन का प्रतीक बनाकर लहराया गया था और आज?' इस ट्वीट के माध्यम से कपिल मिश्रा 26 जनवरी को किसानों द्वारा किए गए प्रदर्शन की बात करें। वहीं रिहाना, मिया खलीफा और ग्रेटा के लिए सेक्स, कामुकता, नंगाई और हवस की गोद जैसे शब्दों का प्रयोग किया गया।

tweet_3_1.jpg

वहीं अब इस ट्वीट पर ध्यान दीजिए। जिसमें कपिल मिश्रा शब्दों से खेलते हुए नज़र आ रहे हैं। मिया खलिफा का किसान आंदोलन को सपोर्ट करना नेता को इतना खराब लग रहा है कि वह अपनी सारे हदों को पार करते हुए शब्दों का चयन करना भी भूल गए हैं। पहले तो कपिल मिश्रा ने मिया खलीफा पर ताना कसा कि 'अब मिया खलीफा भी आंदोलन खड़ा करेंगी।' जिसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया जिसमें जरा उनकी भाषा पर गौर जरूर दीजिएगा। कपिल मिश्रा लिखते हैं 'जुताई को क्या सुन लिया इन्होंने?' महिलाओं के ऊपर किए गए यह तमाम ट्वीट सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहे हैं। वैसे आपको बतातें चलें कि अक्सर कई बार शब्दों और भाषा की मर्यादा को लांगते हुए कपिल मिश्रा अपनी गलतियों के लिए कई बार माफी मांग चुके हैं।