scriptअब डॉक्टर कक्ष के सामने मरीजों को इलाज कराने नहीं करना पड़ेगा इंतजार | Now patients will not have to wait for treatment in front of doctor's | Patrika News
होम

अब डॉक्टर कक्ष के सामने मरीजों को इलाज कराने नहीं करना पड़ेगा इंतजार

मरीजों को मिलेगा टोकन।अस्पताल में शुरु हुआ क्यू मैनेजमेंट सिस्टमडॉक्टर कक्षों के सामने लगाए डिस्प्ले बोर्डटोकन की जानकारी के लिए लगाए बड़े डिस्प्ले। डॉक्टर कक्ष के सामने लगे डिस्पले।

Jan 09, 2023 / 09:04 pm

ghanshyam rathor

Now patients will not have to wait for treatment in front of doctor's,Now patients will not have to wait for treatment in front of doctor's

Now patients will not have to wait for treatment in front of doctor’s,Now patients will not have to wait for treatment in front of doctor’s


बैतूल। महानगरों के अस्पतालों की तर्ज पर अब जिला अस्पताल में इलाज कराने वाले मरीजों को टोकन सिस्टम की सुविधा मिल सकेगी। अस्पताल में क्यू मैनेजमेंट सिस्टम शुरु किया है। इसके शुरु होने के बाद मरीजों को इलाज के लिए डॉक्टरों के कक्ष के सामने लंबी लाइन नहीं पड़ेगा। मरीजों को ओपीडी पर्ची के साथ जगह टोकन दिया जाएगा। इस टोकन के आधार पर मरीजों का इलाज हो सकेगा। मरीज को बाद का नंबर मिलता है तो वह अपनी सुविधा के हिसाब से अन्य काम करके भी अस्पताल इलाज के लिए पहुंच सकता है।
जिला अस्पताल में मप्र लोक स्वास्थ्य सेवा निगम लिमिटेड के माध्यम से क्यू मैनेजमेंट सिस्टम लागू किया है। इस सिस्टम के तहत मरीजों को एकीकृत खिडक़ी से ओपीडी पर्ची कटाने के साथ ही टोकन मिल जाएगा। टोकन के रुप में एक छोटी पर्ची दी जाएगी। इसमें टोकन नंबर और डॉक्टर का कक्ष क्रमांक दिया जाएगा। मरीज अपने टोकन पर दिए नंबर के हिसाब से डॉक्टर के पास अपना इलाज करा सकेंगे। मरीजों की सुविधा के लिए टोकन व्यवस्था शुुरु करने ओपीडी में डॉक्टरों के सभी कक्ष के सामने १२ छोटे इलेक्ट्रानिक डिस्प्ले बोर्ड लगाए हैं। इस बोर्ड पर ही टोकन नंबर दिखाया देगा। इस टोकन नंबर के हिसाब से ही मरीज अपनी बारी आने पर इलाज करा सकेंगे।
तीन बड़े डिस्प्ले पर मिलेगी जानकारी
इसके साथ अस्पताज में तीन जगहों पर अस्पताल चौकी के सामने, ओपीडी और डॉक्टर कक्ष के पास तीन बड़े मास्टर डिस्पले लगाए गए हैं। इन पर भी सभी कक्षों के टोकन नंबर की जानकारी रहेगी। डॉक्टर के किस कक्ष में कौन सा टोकन नंबर चल रहा है। मरीजों की सुविधा के लिए टोकन नंबर का एनाउंसमेंट भी होगा। अस्पताल में टोकन सिस्टम शुरु होने से मरीजों को इलाज के लिए डॉक्टर कक्ष के सामने लाइन नहीं लगाना पड़ेगा।
डॉक्टर कक्ष के नंबर किए तय
जिला अस्पताल में टोकन सिस्टम के चलते १२ कक्ष तय किए हैं। इन कक्षों को नंबर दिया गया है। ओपीडी में क्रमांक जी एक व दो में नेत्र रोग विभाग, कक्ष क्रमांक जी-३ में शिशु रोग, जी-४ नाक,कान गला रोग विशेषज्ञ, जी-७ में महिला रोग, जी-८ में एनसीडी क्लिनिक व वृद्ध क्लिनिक, जी-९, जी १० मेडिसिन विभाग, जी-११ सर्जिकल ओपीडी, जी-१९,२० में दंत रोग ओपीडी और कक्ष क्रमांक जी-२१ में मेडिसिन विभाग का डिस्प्ले बोर्ड लगाया है। इन सभी कक्षों के लिए टोकन दिए जाएंगे।
सोमवार को हुआ ट्रायल
क्यू मैनेजमेंट सिस्टम लगाने वाली कंपनी के इंजीनियर सतीश विश्वकर्मा ने बताया जिला अस्पताल में टोकन व्यवस्था का काम पूरा हो गया है। सोमवार को इसका ट्रायल किया है। पूरा सिस्टम ठीक तरह ेसे काम कर रहा है। अस्पताल प्रशासन चाहे तो इसे मंगलवार से नियमित किया जा सकता है। किसी प्रकार की समस्या आती हैं इसे कंपनी के कर्मचारी ठीक करके देंगे।
इनका कहना
अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए टोकन सिस्टम लगाया है। सोमवार इसका ट्रायल किया है। इसके शुरु होने से मरीजों को डॉक्टर कक्ष के सामने इंतजार नहीं करना पड़ेगा। मरीज अपने टोकन के हिसाब से इलाज करा सकेंगे।
डॉ एके बारंगा,सीएस जिला अस्पताल बैतूल।

Hindi News/ Home / अब डॉक्टर कक्ष के सामने मरीजों को इलाज कराने नहीं करना पड़ेगा इंतजार

ट्रेंडिंग वीडियो