हर वार्ड में 150 लोगों का होगा एंटीबॉडी टेस्ट, जीयो टैगिंग भी!!!

जबलपुर में सीरो सर्वे की तैयारी शुरू, किट आते ही शुरू होगा परीक्षण

By: govind thakre

Published: 30 Nov 2020, 08:53 PM IST

जबलपुर . कोरोना की दूसरी लहर की आशंका के बीच शहर में सीरो सर्वे होगा। लोगों की एंटीबॉडी टेस्ट से कोरोना को लेकर हर्ड इम्युनिटी का पता लगाया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग ने तैयारी कर ली है। शहर में संक्रमण की वास्तविक की जानकारी के लिए प्रत्येक वार्ड से करीब 150-170 व्यक्तियों का एंटीबॉडी टेस्ट होगा। इसके लिए नमूने स्वास्थ्य कर्मियों के मोबाइल पर अपलोड एप के माध्यम से संबंधित व्यक्ति की जानकारी दर्ज की जाएगी। सर्वे में एक घर से एक व्यक्ति का नमूना होगा। एक घर से नमूने लेने के बाद उससे 10-15 घर छोडकऱ दूसरे व्यक्ति का एंटीबॉडी टेस्ट होगा। वार्ड के अलग-अलग भाग के लोगों के नमूने का एंटीबॉडी परीक्षण किया जा सके। सर्वे में प्रभावी परिणाम प्राप्त करने और गड़बड़ी की आशंका को कम करने के लिए सेम्पलिंग में जियो टैगिंग और मैपिंग का उपयोग किया जाएगा। सीरो सर्वे में कोरोना संवेदनशील क्षेत्र चिन्हित होने पर वहां संक्रमण के रोकथाम के लिए पृथक योजना तैयार की जाएगी। टेस्ट के लिए आवश्यक एलायजा किट की खेप पहुंचते ही परीक्षण प्रारंभ हो जाएगा।
ऐसे होगा एंटीबॉडी टेस्ट
- जो व्यक्ति अभी तक कोरोना पॉजिटिव ना आए हो।
- कोविड काल में बुखार या संदिग्ध लक्षण ना रहे हो।
- ऐसे व्यक्ति का टीम घर आकर रक्त का नमूना लेगी।
- नमूने का मेडिकल कॉलेज की लैब में परीक्षण होगा।
- परीक्षण रिपोर्ट की जानकारी एसएमएस से मिलेगी।
------------
तीन-तीन के वर्ग बनाए
- 03 समूह, बच्चे, महिला व पुरुष वर्ग में नमूने एकत्रित किए जाएंगे।
- 1/3 नमूने, कुल नमूने के 20 वर्ष से कम आयु वाले लोगों के होंगे।
- 1/3 नमूने, कुल नमूने के 20 से 50 वर्ष की आयु के लोग होंगे।
- 1/3 नमूने, कुल नमूने के 50 वर्ष से ज्यादा आयु वाले व्यक्ति होंगे।
---------------
सीरो सर्वे में ये होगा
- 150-170 नमूने औसतन प्रत्येक वार्ड से लिए जाएंगे।
- 10-12 हजार कुल नमूने का शहर में परीक्षण होगा।
- 40 टीम, इस सर्वे और नमूने लेने के लिए बनाई गई है।
- 02 पैरामेडिकल, एक-एक निगम व पुलिस कर्मी टीम में।
- 79 वार्ड में प्रत्येक जगह से एंटीबॉडी के नमूने लेंगे।
--------------
इसी सप्ताह शुरु होगा, 10 दिन में पूरा करेंगे
स्वास्थ्य विभाग ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज के साथ मिलकर सीरो सर्वे की योजना बनाई है। सूत्रों के अनुसार एंटीबॉडी टेस्ट के लिए आवश्यक एलायजा किट सहित कुछ सामग्री आना शेष है। सर्वे दल का गठन, कर्मियों को प्रशिक्षण सहित अन्य तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। चार-पांच दिन में टेस्ट किट की खेप आना है। सप्ताह के अंत में सर्वे शुरू हो सकता है। सर्वे सिर्फ नगर निगम सीमा क्षेत्र में होगा। प्रत्येक सर्वे टीम से प्रतिदिन 20-25 नमूने संकलन की उम्मीद की जा रही है। 10-12 दिन में सर्वे कार्य पूरा कर लिए जाने अनुमान है।
एनएससीबीएमसी को फिर बड़ी जिम्मेदारी
कोरोना से युद्ध में नेताजी सुभाषचंद्रबोस मेडिकल कॉलेज की सीरो सर्वे में भी अहम भूमिका होगी। सर्वे टीम में शामिल स्वास्थ्य कर्मियों का एनएससीबीएमसी प्रशिक्षित करेगा। इनके द्वारा संकलित करके लाए गए नमूने का कॉलेज में परीक्षण होगा। कॉलेज के विशेषज्ञ नमूने की जांच रिपोर्ट का अध्ययन करके निष्कर्ष निकलेंगे कि शहर के किन क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण हो रहा है। इन क्षेत्रों में संक्रमण के रोकथाम की प्रभावी नीति बनाएंगे। एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम से ऐसे नमूने मिलते है जिनमें कोरोना को लेकर रोग प्रतिरोधक क्षमता हो, और उन्हें संक्रमित होने का पता ना चला हो, इसे हर्ड इम्युनिटी मना जाएगा। ऐसे क्षेत्र अलग चिन्हित किए जाएंगे।
वर्जन
शहरी क्षेत्र में सीरो सर्वे होगा। इसकी योजना तैयार कर ली गई है। जल्द ही सर्वे प्रारंभ कर दिया जाएगा।
डॉ. शत्रुघन दाहिया, स्वास्थ्य अधिकारी, जिला अस्पताल

Show More
govind thakre Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned