इतनी क्रूर कोई महिला भी हो सकती है...? इस सवाल ने इस पूरे शहर को झकझोर दिया है

जबलपुर में दो वर्षीय बच्ची का अपहरण और नृशंस तरीके से गला घोंटकर जान लेने वाली महिला के बारे में कहा जा रहा है कि वह जादू-टोने को बदला लेना चाहती थी

 

 

By: shyam bihari

Published: 06 Feb 2021, 09:14 PM IST

जबलपुर। क्रूरता तो किसी के भी दिल और दिमाग में आ सकती है। लेकिन, जिस तरह की क्रूरता जबलपुर शहर में एक महिला ने जिस क्रूर तरीके से एक दो साल की बच्ची की हत्या की है, उसने पूरे शहर को झकझोर दिया है। घर के बाहर खेल रही दो वर्षीय बच्ची का पड़ोस में रहने वाली महिला ने अपहरण किया और गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया। दिल दहला देने वाली यह वारदात न्यू कंचनपुर के निर्मलचंद्र वार्ड स्थित रवींद्र के बाड़े में हुई। महिला ने अपने किराए के मकान के भीतर वारदात को अंजाम देने के बाद शव वहीं छिपा दिया था। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है।
रवींद्र के बाड़े बाड़े में ही किराए से बबीता साहनी और उसका पति अमरदीप भी रहता है। बबीता ने लगभग दो माह पूर्व बेटी को जन्म दिया था। लेकिन, 12 दिन बाद उसकी बेटी की मौत हो गई। उसे संदेह था कि रेशमा और उसके परिवार ने जादूटोना कर उसकी बेटी को मारा है। महिला का कहना है कि उसने अपनी बच्ची की मौत का बदला लिया है। उसने बेहद नृशंस तरीका अपनाया। उसने नायरा के मुंह में कपड़ा ठूंसा और फिर उसी कपड़े से उसका गला घोंट दिया। इसके बाद उसने कपड़े में कई गठान लगा दी। इसके बाद घर में ताला लगाकर वह पीछे बने बाथरूम में नहाने चली गई। सीसीटीवी कैमरे को चैक किया, तो उसमें बबीता दोपहर लगभग 1.58 बजे नायरा के साथ नजर आई। इधर हसन ने अधारताल थाने में पुलिस को सूचना दी। नायरा की मां रेशमा का रो-रो कर ***** हाला था। इस दौरान बबीता ने उसे ढांढस बंधाया। तभी मकान मालिक की बेटी समेत अन्य ने एक-एक घर को चैक करने की बात कही। लगभग सवा तीन बजे वह बबीता के भीतर वाले कमरे में गई, तो नायरा जमीन पर पड़ी थी। परिजन नायरा को डॉक्टर के पास ले गए। वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। तब तक अधारताल सीएसपी अशोक तिवारी समेत अन्य मौके पर पहुंचे। पुलिस टीम ने बबीता को हिरासत में लिया। पूछताछ में उसने वारदात को अंजाम देने की बात कबूली।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned