नौकरी की तलाश में हताश युवक ने नहर में कूद कर दी जान, सुसाइड नोट में पिता से मांगी माफी

-नहर किनारे मिली बाइक के हैंडिल में टंगे बैग से मिला सुसाइड नोट

By: Ajay Chaturvedi

Published: 19 Mar 2021, 01:36 PM IST

जबलपुर. पूर्व बैंककर्मी कष्ण दत्त दुबे नामक 28 वर्षीय युवक ने सुसाइड नोट में पिता से माफी मांगते हुए नहर में छलांग लगा कर जान दे दी। घटना मझगवां कॉलोनी नहर की है। नहर के किनारे ही युवक की बाइक खड़ी थी जिसके हैंडिल के सहारे एक बैग लटका था। उस बैग से ही सुसाइड नोट मिला।

प्राप्त जानकारी के गुरुवार की शाम करीब छह बजे मझगवां कॉलोनी नहर में 28 वर्षीय युवक का शव तैरता दिखा। मझगवां निवासी राजेश यादव ने इसकी सूचना पनागर पुलिस को दी। टीआई आरके सोनी के मुताबिक नहर के पास ही एक बाइक भी खड़ी थी। बाइक के हैंडिल में हेलमेट और एक बैग टंगा था। बैग की तलाशी में एक कागज में सुसाइड नोट मिला।

सुसाइड नोट में लिखा है, ‘पापा जी सब झूठ था, नौकरी 2017 में ही चली गयी थी, मैं अब और बर्दाश्त नहीं कर सकता और यह कदम उठा रहा हूं, हो सके तो मुझे माफ कर देना। मैं बहुत अच्छा बनने के चक्कर में बहुत बुरा बन गया, किसी से नौकरी की बात नहीं हुई, सब पैसे बरबाद कर दिए मैने सिर्फ दोस्ती के चक्कर में। पनागर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

टीआई आरके सोनी के मुताबिक बाइक के रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर शव की पहचान कृष्ण दत्त दुबे (28 वर्ष) के रूप में हुई। पुराना कंचनपुर निवासी रमेश चंद्र दुबे ने मौके पर पहुंच कर शव की पहचान बेटे कृष्ण दत्त दुबे के रूप में की। रात आठ बजे के लगभग गांव वालों की मदद से किसी तरह शव को निकलवाया गया। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि कृष्ण दत्त दुबे कैनरा बैंक में नौकरी करता था, 2017 में उसकी नौकरी किसी कारण से चली गई थी। नौकरी पाने के लिए उसने काफी पैसे खर्च कर दिए थे। घरवालों को उसने नौकरी मिलने के बारे में झूठ बोला था।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned