कोरोना को पूरी तरह से मात देने की प्रक्रिया शुरू

-जबलपुर के तीन अस्पतालों में ड्राई रन

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 08 Jan 2021, 06:03 PM IST

जबलपुर. कोरोना वेक्सीन लगाने का पूर्वाभ्यास शुक्रवार को की सुबह किया गया। पूर्वाभ्यास (ड्राई रन) का आयोजन जिला चिकित्सालय, मेडिकल कॉलेज और मेट्रो हॉस्पिटल में किया गया। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने जिला चिकित्सालय (विक्टोरिया हॉस्पिटल) पहुंचकर ड्राई रन का अवलोकन किया। जिला पंचायत के सीईओ और अपर कलेक्टर संदीप जीआर मेट्रो हॉस्पिटल में तथा मेडिकल कॉलेज में डीन डॉ प्रदीप कसार कोरोना का टीका लगाने की तैयारियों के तहत आयोजित इस रिहर्सल पर नजर रखे हुये थे ।

ड्राई रन

ड्राइ रन के लिए चिन्हित शहर के जिला अस्पताल विक्टोरिया, मेडिकल कॉलेज और निजी क्षेत्र के सिटी अस्पताल में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया सुबह आठ बजे शुरू हुई। तीनों सेंटर को एक घंटे में 10 लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य दिया गया था। मेडिकल और सिटी अस्पताल में निर्धारित समय पर ड्राई रन की प्रक्रिया शुरू हो गई। लेकिन विक्टोरिया में कुछ विलंब हुआ। विक्टोरिया में सबसे पहले पैथोलाजिस्ट को टीका लगाने का डेमो हुआ।

ये भी पढें- कोरोना वैक्सीन पर राजनीति का असरः ड्राई रन को पहुंची महिला स्वास्थ्यकर्मी ने किया इंकार

ड्राई रन

जानकारी के अनुसार ड्राई रन का उद्देश्य कोविड वैक्सीन लगाने से पहले अपनी तैयारियों को परखना था। हेल्थ सर्विस से जुड़े लोगों को आगे कर वैक्सिनेशन का फुलप्रूफ प्लान तैयार करने में इससे मदद मिलेगी। ड्राई रन में कोविड वैक्सीन लगाने के बाद साइड इफेक्ट जैसी स्थिति में जल्द उपचार की सुविधा देने की तैयारियों को परखा गया।

ड्राई रन के लिए तीनों सेंटर पर स्वास्थ्य विभाग ने अलग-अलग टीम बनाई थी। हर केंद्र में पांच-पांच कर्मियों की टीम लगाई गई थी। इस टीम में एक पुलिस कर्मी, महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर, नर्स और दो अन्य श्रेणी के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई थी। वैक्सीनेशन ऑब्जर्वेशन में कोई समस्या आने पर तुरंत इलाज के लिए एक डॉक्टर व नर्स की टीम तैनात रही।

ड्राई रन

ऐसे हुआ ड्राई रन

-चिन्हित व्यक्ति को एसएमएस से वैक्सीन लगवाने की सूचना एक दिन पहले ही भेज दी गई थी
-केंद्र पहुंचने पर पुलिस कर्मी ने मोबाइल पर भेजे गए एसएमएस से अपनी सूची का मिलान किया
-पंजीयन टीम ने मैसेज नंबर का कोविन पोर्टल से मिलान कर दस्तावेजों का सत्यापन किया
-वेटिंग रूम से एक-एक कर लोगों को वैक्सीनेशन कक्ष में भेजा गया
-वैक्सीनेशन के बाद कोविन एप पर संबंधित की जानकारी अपडेट की गई
-वैक्सीनेशन के बाद संबंधित को आधा घंटा ऑब्जर्वेशन कक्ष में रखा गया
-इस केंद्र में एक नर्स और चिकित्सक को तैनात किया गया था तो बाहर एंबुलेंस का इंतजाम था

ड्राई रन

ड्राई रन में वैक्सीनेशन रूम, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अलग बैठने का इंतजाम रहा। वैक्सीनेशन स्टोरेज सहित केंद्र में हैंड सैनिटाइजर, मास्क, वैक्सीन वायल ओपनर, हब कटर, पार्टीशन स्क्रीन, एईएफआई एनाफायलासिस किट, रेड एंड यलो, ब्लू पंचर प्रूफ कंटेनर बैग, वैक्सीन लगाने की आवश्यक सामग्री, पीने का पानी और टॉयलेट की व्यवस्था थी।

जबलपुर में आसपास के दो संभाग की कोविड वैक्सीन भी स्टोर की जाएगी। इसके लिए पर्याप्त क्षमता और फ्रीजर जिला अस्पताल में है। कोविड वैक्सीन के भंडारण व्यवस्था को लेकर एक कोर टीम बनाई गई है। कोर टीम में एनएससीबी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ प्रदीप कसार, मेडिकल अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी, जिला टीकाकरण अधिकारी, डॉक्टर एसएस दाहिया शामिल हैं।

04 चरणों में जिले में वैक्सीन लगाई जाएगी
22,044 हेल्थ वर्कर को सबसे पहले वैक्सीन लगेगी
02 डोज लगने पर पूरा होगा कोर्स
28 दिन के अंतर पर लगेगा दूसरा डोज
08 आइस लाइन रेफ्रीजरेटर वैक्सीन स्टोरेज के लिए रखे गए हैं

Corona virus
Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned