रेत व्यवसाय में पार्टनर बना दोस्त ने 20.25 लाख रुपए हड़पे

-मदनमहल थाने में आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज

By: santosh singh

Published: 12 Sep 2020, 11:04 AM IST

जबलपुर। रेत व्यवसाय में निवेश पर मुनाफा का लालच देकर नेपियर टाउन निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति के साथ छतरपुर निवासी मित्र ने 20.25 लाख रुपए हड़प लिए। 25 वर्ष पुरानी दोस्ती का भरोसा कर पैसे लगाए थे। आरोपी ने न तो रेत का ठेका लिया और न ही पैसे वापस किए। पीडि़त की शिकायत पर मदनमहल पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया।
नेपियर टाउन निवासी अतुल पांडे ने शिकायत दर्ज कराई कि इंद्रप्रस्थ कॉलोनी छतरपुर निवासी उज्जवल सिन्हा से उनकी 25 वर्ष पुरानी दोस्ती है। 12 जनवरी 2020 को उसने कॉल किया कि रेत डम्प मिल रहा है। 30 लाख रुपए निवेश करने हैं। आधा निवेश करने पर उसकी रकम 15 फरवरी तक वापस कर देंगे। इसके अलावा चार लाख रुपए का मुनाफा भी मिल जाएगा। 14 जनवरी तक रकम जमा करना था। इस कारण उसने 13 जनवरी को सीसी खाते से 15 लाख रुपए उज्जवल सिन्हा की फर्म मौली कान्हा ट्रेउिंग कम्पनी के छतरपुर स्थित खाते में ट्रांसफर कर दिया। 19 जनवरी को उज्जवल सिन्हा, शंटू अग्रवाल के साथ जबलपुर आया ओर बताया कि वे पार्टनर हैं। काम अच्छा चल रहा है। 15 फरवरी तक पैसा वापस हो जाएगा। मोबाइल पर रोज दो से तीन बार बात होती थी। 21 जनवरी को उसने वाट्सअप पर मैसेज भेजा कि नई खदान 1.20 लाख मीटर की एक वर्ष के लिए मिल रही है। इसमें 600 प्रति क्यूएम ऑनर को देना होगा। एक माह में दस हजार क्यूबिक मिट्रिक रेत का खनन होगा। 25 प्रतिशत का शेयर ले सकते हो, 45 प्रतिशत के शेयर बीएमटी वाले शंटू अग्रवाल और 30 प्रतिशत का शेयर होल्डर उज्जवल ने खुद का बताया। इस पर उसने 27 जनवरी को पांच लाख और 28 जनवरी को 5 लाख रुपए और आरटीजीएस के माध्यम से ट्रांसफर कर दिए। 15 फरवरी को उज्जवल को फोन लगाया कि रेत डम्प वाला पैसा डाल दो। उज्जवल ने 10 दिन की मोहलत मांगी। 28 फरवरी को फोन करने पर चार दिन बाद पैसे ट्रांसफर के लिए बोला। छह मार्च को उसने 4.75 लाख रुपए ट्रांसफर किए और कहा कि होली तक पूरा पैसा वापस कर देगा। उसने नई रेत वाली खदान का भी ठेका न लेने की बात कह वो 10 लाख रुपए भी वापस करने के लिए कहा था। 14 मार्च को उसने शंटू अग्रवाल को कॉल किया। उसने छतपुर पहुंचने पर उज्जवल से पैसा दिलाने की बात कही। 17 मार्च को वह स्वंय उज्जवल सिन्हा के छतरपुर घर गया। पता चला कि वह बांदा में गया है। 19 को आएगा। तब भी वह नहीं मिला। तब से अब तक न तो पैसे वापस किए और न ही फोन रिसीव करता है। पुलिस ने उज्जवल के खिलाफ 20 लाख 25 हजार रुपए हड़पने के मामले में धारा 420, 406 भादवि का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया था।

Show More
santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned