सरेआम वारदातें हो रहीं, शोहदे-लुटेरे बेखौफ हैं, उधर पुलिस 10 साल के बच्चे को खंूखार आतंकी की तरह पीटती है

जबलपुर में आइजी को एसपी से पूछना पड़ रहा है कि आखिर यह सब हो क्यों रहा है?

 

By: shyam bihari

Published: 26 Feb 2021, 08:28 PM IST

जबलपुर। वारदातों की तो मानो जबलपुर शहर में बाढ़ सी आ गई है। बीच बाजार, भीड़भाड़ वाले इलाकों में भी चेन स्नेचिंग ऐसे हो रही हैं, मानो बच्चे 'पतंगÓ लूट रहे हों। जीसीएफ क्वार्टर जैसे सुरक्षित इलाके में भी बदमाश दिनहाहाड़े महिला का मंगलसूत्र लूट ले, उस पर चाकू से वार कर दे, तो कहने के लिए बचता ही क्या है? हद तो यह है कि उसी क्षेत्र में ठीक एक महीने पहले भी सरेआम महिला के साथ लूट, मारपीट और छेड़छाड़ की वारदात को युवक ने अंजाम दिया था। पुलिस उसकी परछाई तक नहीं तलाश पाई। छेड़छाड़-बलात्कार की वारदातों ने चिंता में डाल दिया है। शोहदे राह चलती युवतियों पर कमेंट करते हैं। पीछा करते-करते घर तक पहुंच जाते हैं। परिजन विरोध करे, तो उसकी भी पिटाई करते हैं। हर कोई कहने लगा है कि चोर-लुटेरे-शोहदे-गुंडे और बदमाशों को पुलिस का खौफ नहीं रह गया है। चौंकाने वाली बात है कि खुद आइजी भगवत सिंह चौहान मान रहे हैं कि जबलपुर में अपराधों का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। सोचने वाली बात है कि आइजी को पुलिस अधीक्षक से पूछना पड़ रहा है कि आखिर ऐसा क्यों है? स्वाभाविक है, एसपी ने रटा-रटाया जवाब दिया होगा कि सर, सख्त कार्रवाई की जाएगी। लेकिन, एसपी साहब अब सिर्फ आश्वासन से बात नहीं बनने वाली। कुछ ऐसा करना होगा कि अपराधियों के मन में खौफ पैदा हो। आप अपने उन मातहतों से पूछें कि मोबाइल चुराने का आरोपी 10 साल का बालक क्या इतना खूंखार हो गया था कि उसे बेरहमी से जानवरों की तरह पीटा जाए? इस तरह की कार्रवाई गुंडों-लुटेरों पर करें, तो शहर उन्हें सिर-आंखों पर बिठाएगा।


घर के पीछे का दरवाजा खटखटाकर पानी मांगा, मंगलसूत्र लूटकर चाकू से किया वार

जबलपुर के विद्या नगर स्थित जीसीएफ क्वार्टर में गुरुवार को दिन-दहाड़े लूट की वारदात हो गई। बदमाश ने एक क्वार्टर के पीछे का दरवाजा खटखटाकर पानी मांगा। फैक्ट्रीकर्मी की पत्नी ने जैसे ही पानी दिया, बदमाश ने महिला का मंगलसूत्र लूटा और चाकू से उसके चेहरे पर वार कर भाग निकला। वारदात से इलाके में दहशत का माहौल है। ठीक एक माह पहले 25 जनवरी को भी इसी इलाके में एक बदमाश ने महिला से दुष्कृत्य का प्रयास किया था। नाकाम होने पर मंगलसूत्र लूट लिया था। विद्या नगर के जीसीएफ क्वार्टर क्रमांक 187/2 में श्रीराम पावले सपरिवार रहते हैं। वे गुरुवार को ड्यूटी गए थे। दोपहर लगभग 12.12 बजे किसी ने क्वार्टर के पीछे दरवाजा खटखटाया। श्रीराम की पत्नी ममता ने पूछा, तो एक व्यक्ति ने खुद को सफाईवाला बताते हुए पानी मांगा। ममता और उनकीबेटी पानी लेकर गई, तो उसने जग की जगह बॉटल में पानी मांगा। ममता की बेटी बॉटल लेने अंदर गई, तभी बदमाश ने ममता का मंगलसूत्र लूट लिया। विरोध पर उनके चेहरे पर चाकू से वारकर भाग गया।

ममता की चीख सुनकर उनकी बेटियां व आसपास के लोग दहशत में आ गए। ममता खून से लथपथ हो गई थीं। उनके पति, पुलिस और 108 एम्बुलेंस को सूचना दी गई। ममता को सतपुला और फिर वहां से निजी अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने मामले में लूट और चाकू से वार करने का प्रकरण दर्ज किया। ममता को निशाना बनाने के पहले बदमाश ने वहां के तीन और क्वार्टर में वारदात को अंजाम देने की कोशिश की। तीनों क्वार्टर में पीछे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन वहां से पुरुषों की आवाज आई, तो बदमाश बिना कुछ कहे आगे बढ़ता गया। जैसे ही उसने ममता के घर में केवल महिलाओं को देखा, वारदात को अंजाम दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद वह बाइक से भाग निकला। जीसीएफ के विद्या नगर स्थित क्वार्टर में रहने वाली महिला 25 जनवरी को मॉर्निंग वॉक पर निकली थी। तभी एक युवक उन पर झपटा। महिला से दुष्कृत्य की कोशिश की। मंसूबों में नाकाम रहा, तो उसने मारपीट कर मंगलसूत्र लूट लिया था। मामले में घमापुर थाने में ही प्रकरण दर्ज किया गया। एसपी ने आरोपी पर दस हजार का इनाम भी घोषित किया था, लेकिन उसका पता नहीं चला।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned