जबलपुर के 33 वार्ड महिलाओं के हवाले, बाकी में होगी घमासान, देखें कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

हंगामे के बीच पूरी हुई 79 वार्डों की आरक्षण प्रक्रिया

 

By: Lalit kostha

Published: 01 Oct 2020, 10:22 AM IST

जबलपुर। पार्षद बनने का सपना संजोए कई लोगों के चेहरे बुधवार को खिल गए तो कुछ को निराशा हाथ लगी। नगरीय निकाय चुनाव के लिए नगर निगम के 79 वार्डों के आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हो गई। तीन घंटे प्रकिया को पूरा कर लिया गया। कोरोना संकट के बीच मानस भवन में आयोजित प्रक्रिया के दौरान कुछ पूर्व पार्षदों ने रुलिंग प्रक्रिया का पालन नहीं करने का आरोप लगाते हुए हंगामा भी किया।

नगरीय निकाय चुनाव की कवायद: पार्षद बनने किसी का चेहरा खिला तो कोई हुआ निराश

इसके कारण कुछ देर प्रक्रिया प्रभावित हुई। प्रशासनिक अधिकारियों ने उन्हें नियमावली से अवगत कराया। इसके बाद फिर से प्रक्रिया शुरू हुई। सामान्य, ओबीसी, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति से लेकर महिला वर्ग के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। वार्डों के आरक्षण के दौरान सामान्य वर्ग व पिछड़ा वर्ग के वार्डों के आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हुई ही थी तभी कांग्रेस के पूर्व पार्षदों ने रूलिंग प्रक्रिया का पालन नहीं करने का आरोप लगाया। जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद दोपहर 1.30 के लगभग प्रक्रिया को रोक दिया गया। प्रशासन की ओर से कहा गया कि जनप्रतिनिधियों को जो भी भ्रम है उसे दूर किया जा रहा है। सभी को नियमों की जानकारी दी गई। चक्रानुक्रम फॉर्मूला से अवगत कराया गया। आधा घंटे के लगभग प्रक्रिया शुरू हुई। दोपहर 2.30 बजे आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हो गई।

इस दौरान विधायक विनय सक्सेना, कांग्रेस नगर अध्यक्ष दिनेश यादव, पूर्व एमआईसी सदस्य, रमेश प्रजापति, पूर्व पार्षद संजय राठौर व कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, निगमायुक्त अनूप कुमार सिंह, अपर आयुक्त डीपी कुमरे, उपायुक्त पीएन सन्खेरे, आदित्य शुक्ला व अन्य मौजूद थे।

jmc.png
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned