विवाहित युवती का अपहरण कर 90 हजार में बेच दिया

-गिरोह में शामिल नाबालिग सहित तीन गिरफ्तार, एक आरोपी फरार, बड़ा हो सकता है गिरोह

By: santosh singh

Published: 15 Aug 2020, 03:50 PM IST

जबलपुर। संजीवनी नगर थानांतर्गत निवासी 24 वर्षीय विवाहित युवती को मानव तस्करी करने वाले गिरोह ने अगवा किया और फिर उसे 90 हजार रुपए में टीकमगढ़ में बेच दिया। वहां उसे खरीदने वाले आरोपी ने 15 दिनों तक बंधक बनाकर बलात्कार करता रहा। उसके चंगुल से छूटकर युवती किसी तरह घर पहुंची और आपबीती सुनाई। पति के साथ वह गुरुवार रात को संजीवनी नगर थाने पहुंची। जहां पुलिस ने प्रकरण दर्ज करते हुए किशोरी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों बालिग आरोपियों को पुलिस ने शनिवार तक रिमांड पर लिया है।
24 जुलाई को धनवंतरी नगर से किया अगवा-
संजीवनी नगर टीआई भूमेश्वरी चौहान ने बताया कि विवाहित युवती की एक तीन वर्ष की बेटी है। बीते 24 जुलाई को वह पैसे निकालने धनवंतरी नगर स्थित बैंक गई थी। वहां से घर लौटते समय उसी की मोहल्ले में रहने वाली 15 वर्षीय किशोरी भूकम्प कॉलोनी निवासी सुनील रजक के साथ मिली। दोनों कार से थे। किशोरी ने महिला को घर छोडऩे की बात कह कार में बिठा लिया। दोनों युवती को उसके घर की बजाय गलियों से होते हुए कहीं और ले जाने लगे। युवती ने कार से कूदने का प्रयास किया तो किशोरी और सुनील ने उसकी बेटी की हत्या की धमकी दी।
तेजगढ़ दमोह रोड स्थित जंगल ले गए-
दोनों उसे तेजगढ़ दमोह रोड स्थित जंगल ले गए। वहां उसे हाथीघाट हरदुआ तेजगढ़ निवासी नरेंद्र उर्फ नारायण सिंह लोधी और टीकमगढ़ निवासी दशरथ लोधी मिले। किशोरी और सुनील ने युवती को उनके हवाले कर दिया। वहां युवती ने शोर मचाया तो फिर उसकी बेटी को मारने की धमकी देकर चुप करा दिया। दशरथ सिंह लोधी ने युवती को बताया कि वह उसे 90 हजार रुपए में खरीदा है। दोनों उसे बेडिय़ा गांव ले गए। जहां दशरथ लोधी ने उसे बंधक बनाकर 15 दिनों तक बलात्कार करता रहा।
चंगुल से छूटकर भागी युवती-
आरोपी के चंगुल से छूट कर युवती नौ अगस्त को निकली और 10 को अपने घर पहुंची। मजदूरी करने वाले पति को आपबीती सुनाई। इसके बाद गुरुवार को दोनों थाने पहुंचे और पूरे वाकए की जानकारी दी। संजीवनी नगर पुलिस ने मामले में धारा 366, 376 (2)(एन), 370 ए, 506, 34 भादवि का प्रकरण दर्ज कर लिया। पुलिस ने किशोरी, सुनील और नरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया। दशरथ की तलाश जारी है। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि 90 हजार रुपए में किशोरी को सुनील ने 10 हजार रुपए दिए थे। जबकि सुनील और नरेंद्र ने 40-40 हजार रुपए लिए थे। किशोरी ने पांच हजार रुपए के कपड़े और पांच हजार रुपए का मोबाइल खरीदा है। पुलिस ने सुनील व नरेंद्र को रिमांड पर लिया है।
वर्जन-
रिमांड पर लिए गए दोनों आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि इस गिरोह ने कई गरीब युवतियों को इसी तरह टीकमगढ़ व आसपास के जिलों में अविवाहित अधिक उम्र वालों को बेचा है।
भूमेश्वरी चौहान, टीआई संजीवनी नगर

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned