नर्मदा की लहरों जैसे कैनवास पर उकेरा जा रहा नेताजी का जीवनवृत्त

जबलपुर में राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय का आयोजन

 

By: shyam bihari

Published: 04 Mar 2021, 08:25 PM IST

जबलपुर। शहीद स्मारक गोलबाजार, जबलपुर के प्रांगण में नर्मदा की लहरों जैसे कैनवास पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस का समग्र जीवनवृत्त चित्रांकित हो रहा है। नेताजी की 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में यह आयोजन राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय (एनजीएमए) व संस्कृति मंत्रालय के तत्वावधान में किया गया है। अद्वैत गडनायक, महानिदेशक, राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, नई दिल्ली ने बताया कि दो मार्च से पांच मार्च तक स्थानीय, प्रादेशिक, राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय ख्यातिलब्ध बेहतरीन चित्रकारों व फाइन आर्ट स्टूडेंट्स द्वारा अपनी प्रतिभा का परिचय दिया जाएगा।

कार्यक्रम का दो मार्च को शुभारंभ हुआ। तीन मार्च को गोलबाजार के गोलाकार प्रांगण में वृत्तनुमा कैनवास पर कूंची-कल्पना-कौशल का कमाल नजर आने लगा। इंदौर से आईं गर्वंमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ फाइन आर्ट से उपाधिधारक समिधा पालीवाल अपनी टीम के सदस्यों विशाल हंस, लोकेश नायक, शुचि, रितेश, दुर्गेश, पूजा सहित अन्य के साथ नेताजी के व्यक्तित्व-कृत्तिव को रेखांकित कर रही थीं। वहीं दूसरी तरफ शांति निकेतन व खैरागढ़ से फाइन आर्ट की शिक्षा पूरी करने वाले रवींद्र राय भी अपनी टीम के साथ श्वेत आधार पर रेखांकन कर रंग भरने में दत्तचित्त दिखे। नेताजी के जीवन को चित्रांकन के जरिये साकार करने वाले कलाकारों में हर उम्र के कलाकार देखने को मिल रहे हैं।
सभी अपनी थीम के हिसाब से अपने भीतर की रचनात्मकता, सौंदर्यबोध, ऊर्जा व कलात्मकता का भरपूरे प्रदर्शन करने में जुटे हैं। जब सभी कैनवास अपने ऊपर उकेरे चित्रों की समग्रता से सज जाएंगे। तब एक नजर में नेताजी का संपूर्ण जीवन आंखों के सामने झलक उठेगा। साथ ही 1939 के त्रिपुरी अधिवेशन की यादें भी ताजा हो जाएंगी।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned