scriptbastar farmers kept eagles to safe caring farming | बस्तर में खेती करने का अनोखा तरीका, रखवाली करने पालते है बाज... लपकने में माहिर | Patrika News

बस्तर में खेती करने का अनोखा तरीका, रखवाली करने पालते है बाज... लपकने में माहिर

locationजगदलपुरPublished: Jan 15, 2024 03:53:35 pm

Submitted by:

Kanakdurga jha

Bastar Farming : धान कटाई के बाद बस्तर के अन्दरूनी इलाकों मे आसमा पर विचर रहे बाज को इन दिनों कुछ ग्रामीण पाल भी रहे हैं।

bastar_farmer.jpg
Bastar Farming : धान कटाई के बाद बस्तर के अन्दरूनी इलाकों मे आसमा पर विचर रहे बाज को इन दिनों कुछ ग्रामीण पाल भी रहे हैं। वे इन बाज को शिकारी पक्षी की तर्ज में अपने खेतों की रखवाली करने के लिए तैनात किए हुए हैं। इन दिनों धान की फसल पर बटेर व कीट का हमला हो जाता है। इससे बाज उन्हें शिकार बनाकर फसल की सुरक्षा भी कर रहे हैं।
बचपन से सिखाया जाता है बाज को : ग्रामीणों ने बताया की बाज बटेर पकड़ने मे माहिर होते हैं। उनके नुकीले पंजो से बच पाना मुश्किल है। बाज को छोटे समय से ही शिकार करना सिखाया जाता है। जब उड़कर लपकने लगे तब उसे शिकार के लिए उपयोग मे लाते है।
यह भी पढ़ें

नई सरकार में जवानों को मिली सुरक्षा, मिलेगा बुलेटप्रूफ हेलमेट... गोलीबारी और बम विस्फोट में सिर रहेगा सुरक्षित



देशी शराब बरामद

परपा थानांतर्गत ग्राम बड़े बोदल में ढाबा पर पुलिस ने अवैध रूप से देशी शराब विक्रय करने की सूचना पर परपा पुलिस की टीम ने ढाबा पर रेड कार्रवाई करके 55 लीटर देशी शराब बरामद की। उक्त शराब की कीमत 1100 रूपए आंकी गई है। पुलिस ने ढाबा संचालक शिवराम नाग उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम बड़े बोदल को धारा 34 बी आबकारी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया।

ट्रेंडिंग वीडियो