घर लौटते ही क्वारेंटाइन की धज्जियां...प्रवासियों पर कार्रवाई

प्रदेश लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों और अन्य लोगों के लिए 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन नियम का पालन करवाने के लिए सरकार सख्त हो गई है। होम क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती बरतते हुए उन्हें संस्थागत क्वारेंटाइन में भेजा जा रहा है। राज्य में अब तक क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने पर एक हजार 306 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है।

By: chandra shekar pareek

Published: 28 May 2020, 01:37 AM IST

सार्वजनिक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और राज्य स्तरीय क्वारेंटाइन प्रबंध समिति की अध्यक्ष वीनू गुप्ता ने बताया कि वर्तमान में 21 हजार से ज्यादा लोग संस्थागत क्वारेंटाइन में हैं, जबकि 4 लाख 75 हजार से ज्यादा लोग होम क्वारेंटाइन की पालना कर रहे हैं।
होम क्वारेंटाइन वालों पर कड़ी नजर
उन्होंने बताया कि जो लोग घरों में ही क्वारेंटाइन नियमों का पालन कर रहे हैं, उन पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है। इन नियमों का पहली बार उल्लंघन करने वालों से समझाइश की जा रही है। इसके बाद भी यदि वे नियमों को तोड़ रहे हैं, तो उन्हें संस्थागत क्वारेंटाइन में भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि होम क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों की कोविड क्वारेंटाइन अलर्ट सिस्टम के जरिए मॉनिटरिंग की जा रही है। यह एप्लीकेशन सूचना एवं तकनीक विभाग ने विकसित किया है।
उल्लंघन करने पर कार्रवाई
एसीएस वीनू गुप्ता ने बताया कि 1 हजार 306 व्यक्तियों ने क्वारेंटाइन नियमों का उल्लंघन किया गया है, जिसमें से 604 को होम क्वारेंटाइन से संस्थागत क्वारेंटाइन में भेज दिया गया है। इसके अलावा 702 लोगों के विरुद्ध नोटिस देने, पैनल्टी लगाने और एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की गई है।
10 हजार से ज्यादा क्वारेंटाइन सेंटर
राज्य स्तरीय क्वारेंटाइन प्रबंध समिति की अध्यक्ष वीनू गुप्ता ने बताया कि ग्राम पंचायत भवन, विद्यालयों के भवन इत्यादि को संस्थागत क्वारेंटाइन के लिए काम में लिया जा रहा है। राज्य में वर्तमान में 10 हजार 212 क्वारेंटाइन सेंटर हैं। गुप्ता ने कहा कि बताया कि पाली, उदयपुर, जालोर, नागौर और डूंगरपुर जिलों में भारी संख्या में प्रवासी श्रमिकों का आगमन हुआ है। जालोर, पाली, नागौर, हनुमानगढ़ और बाड़मेर जिलों में एेसे लोगों की संख्या अधिक है जो होम क्वारेंटाइन में रह रहे हैं। जबकि नागौर, राजसमंद, झुंझुनूं, चित्तौडग़ढ़ और चूरू जिलों में संस्थागत क्वारेंटाइन लोगों की संख्या अधिक है।

Corona virus COVID-19 virus
chandra shekar pareek Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned