बिजली बिल माफी पर भाजपा का 31 को विरोध-प्रदर्शन, दो सितंबर को सौंपेंगे कलेक्टर्स को ज्ञापन

राजस्थान विधानसभा के वर्तमान में चल रहे सत्र में भाजपा जनहित के मुद्दे नहीं उठा पाई है। विधानसभा में अभी तक केवल कोविड—19 ही चर्चा हो पाई है। ऐसे में अब भाजपा तीन महीने के बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर 31 अगस्त को प्रदेशभर के जीएसएस और उपखण्ड स्तर पर विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा।

By: Umesh Sharma

Published: 23 Aug 2020, 06:49 PM IST

जयपुर।

राजस्थान विधानसभा के वर्तमान में चल रहे सत्र में भाजपा जनहित के मुद्दे नहीं उठा पाई है। विधानसभा में अभी तक केवल कोविड—19 ही चर्चा हो पाई है। ऐसे में अब भाजपा तीन महीने के बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर 31 अगस्त को प्रदेशभर के जीएसएस और उपखण्ड स्तर पर विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद दो सितम्बर को सभी जिला मुख्यालयों पर जिला कलेक्टर्स को भाजपा के सभी जनप्रतिनिधि, सांसद, विधायक एवं पंचायतों के जनप्रतिनिधि ज्ञापन देंगे। भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी और जिलाध्यक्षों की सेमी वर्चुअल बैठक में रविवार को यह निर्णय किया गया। इस बैठक को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी संबोधित किया था।

बैठक के बाद पूनियां ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बैठक में बिजली बिलों की माफी, वीसीआर से परेशान किसान, टिड्डी के हमलों से फसलों को हुए नुकसान, सम्पूर्ण किसान कर्जमाफी, अवैध खनन, बढ़ते अपराध, ठप पड़े विकास कार्य, राशन वितरण में भेदभाव, लम्बित भर्तियां, बेरोजगारी भत्ता, कोरोना कुप्रबन्धन, भ्रष्टाचार सहित प्रदेश के विभिन्न मुद्दों पर कांग्रेस सरकार को घेरने पर चर्चा हुई। जिसमें बिजली बिल माफी को लेकर सबसे पहल प्रदर्शन पर सभी ने हामी भरी है।

पत्रकारों के सवालों को जवाब देते हुए डाॅ. पूनियां ने कहा कि भाजपा ने सभी जिलों में कार्यकारिणी का गठन पूरा कर लिया है। मण्डलों के गठन की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है और बूथों की प्रक्रिया को भी जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। प्रदेश की नई कार्यकारिणी का पूरे प्रदेशभर से सोशल इंजीनियरिंग को ध्यान में रखते हुए गठन किया गया है।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned