script लोकसभा चुनाव: भाजपा का गेम प्लान शुरू, कांग्रेस में तो अभी सिर्फ इंतजार, राजस्थान में प्रतिपक्ष नेता का ऐलान बाकी | BJP Starts Preparations For Lok Sabha Election, Leader Of Opposition In Rajasthan Yet To Be Announced | Patrika News

लोकसभा चुनाव: भाजपा का गेम प्लान शुरू, कांग्रेस में तो अभी सिर्फ इंतजार, राजस्थान में प्रतिपक्ष नेता का ऐलान बाकी

locationजयपुरPublished: Dec 19, 2023 11:17:01 am

Submitted by:

Nupur Sharma

राजस्थान में विधानसभा चुनाव में जीत और सरकार बनने के बाद भाजपा पूरे उत्साह में है। अब भाजपा ने लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है, वहीं कांग्रेस में हार के बाद मायूसी है।

lok_sabha_election.jpg

राजस्थान में विधानसभा चुनाव में जीत और सरकार बनने के बाद भाजपा पूरे उत्साह में है। अब भाजपा ने लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है, वहीं कांग्रेस में हार के बाद मायूसी है। कांग्रेस पार्टी के नेता भी अगले चुनाव को लेकर फिलहाल कोई तैयारी नहीं कर रहे हैं। इससे पार्टी कार्यकर्ताओं में भी निराशा है।

यह भी पढ़ें

Happy New Year 2024: राजस्थान के इन सरकारी कर्मचारियों को मायूस कर सकती है ये खबर

कांग्रेस में फेरबदलका इंतजार
कांग्रेस में अब प्रतिपक्ष के नेता का चयन होना है। साथ ही प्रदेश कांग्रेस में नए अध्यक्ष बनाने की चर्चा भी चल रही है। प्रतिपक्ष के नेता के लिए कई युवा चेहरों के नाम भी चल रहे हैं। कांग्रेस आलाकमान ने मध्यप्रदेश में कमलनाथ को हटाकर जीतू पटवारी को प्रदेशाध्यक्ष बनाया है, वहीं छत्तीसगढ़ में प्रदेशाध्यक्ष नहीं बदला है सिर्फ नेता प्रतिपक्ष पर दूसरे चेहरे को लाया गया है।

समीक्षा बैठक कर इतिश्री
राजस्थान में चुनाव हारने के बाद दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी ने समीक्षा बैठक की। इसमें राजस्थान के नेताओं ने हार की जिम्मेदारी लेने की बजाय अलग-अलग कारण गिना दिए। बैठक के बाद पार्टी नेताओं ने भी औपचारिक बयान दे दिया कि अब नए सिरे से लोकसभा चुनाव की तैयारी की जाएगी और पार्टी उसमें अच्छा प्रदर्शन करेगी।

चंदा लेने का अभियान शुरू
कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए जनता से चंदा लेने का अभियान जरूर शुरू किया है ताकि पार्टी की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके। अभी हाल में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को चार राज्यों में हार का सामना करना पड़ा है। सिर्फ तेलंगाना में ही कांग्रेस की सरकार बनी है। जबकि राजस्थान और छत्तीसगढ़ में तो कांग्रेस की सरकारों को जाना पड़ा।

दो बार से नहीं खुला खाता
लोकसभा चुनाव में दो बार से कांग्रेस का राजस्थान में खाता तक नहीं खुल पाया। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने सभी 25 सीटें जीती थी, वहीं 2019 के चुनाव में भाजपा को 24 और एक सीट रालोपा के खाते में गई थी। नागौर से रालोपा के हनुमान बेनीवाल ने ये चुनाव जीता था। भाजपा ने गठबंधन में यह सीट खाली छोड़ दी थी। यही नहीं दोनों चुनावों में कांग्रेस के प्रत्याशियों की हार का अंतर भी बहुत ज्यादा रहा था।

यह भी पढ़ें

लोकसभा चुनाव के लिए पहला अभियान शुरू, वोटर लिस्ट से कटे नाम जुड़वाने और फर्जी नाम कटवाने में जुटी भाजपा

भाजपा ने शुरूकर दी विकसित भारत संकल्प यात्रा
विस चुनाव हारने के बाद कांग्रेस ने कोई कार्यक्रम शुरू नहीं किया, जबकि भाजपा ने विकसित भारत संकल्प यात्रा शुरू कर दी। प्रदेश के जिलों में कैंप लगवाए जा रहे हैं। इनमें केंद्र सरकार की योजनाओं को पात्र लोगों तक लाभ पहुंचाने का प्लान है। इसके जरिए भाजपा लोगों को जोड़ने व लोकसभा चुनाव में लाभ लेना चाह रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो