आरएएस भर्ती विवाद पर डोटासरा का भाजपा पर हमला, 'मैं बोलूंगा तो कलई खुल जाएगी'

डोटासरा ने कहा, भाजपा नेताओं के भी बेटा- बेटी आईएएस बने हैं, वसुंधरा राजे के कार्यकाल में जो लोग सेलेक्ट हुए हैं उन पर भाजपा सवाल उठा रही है, संघ प्रचारक निंबाराम की गिरफ्तारी की मांग उठाने पर टारगेट कर रही है भाजपा

By: firoz shaifi

Published: 22 Jul 2021, 05:59 PM IST

जयपुर। आरएएस भर्ती परीक्षा में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के परिवारजनों के समान अंकों को लेकर प्रदेश में सियासत चरम पर है। इस मामले में भाजपा नेताओं ने प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा का इस्तीफा मांगा है तो वहीं गोविंद सिंह डोटासरा ने भी जवाबी हमला करते हुए कहा कि भाजपा के नेता अपनी ही सरकार में हुई भर्ती पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं अगर बोलूंगा तो भाजपाई की कलई खुल जाएगी। पीसीसी चीफ ने गुरुवार को पेगासस जासूसी प्रकरण में हुए विरोध प्रदर्शन के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा नेताओं के बेटे बेटी भी आईएएस बने हैं उस पर भी भाजपा के नेताओं को सवाल खड़ा करना चाहिए।

भ्रष्टाचारी निंबाराम को बचा रही है भाजपा
पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोपी संघ प्रचारक निंबाराम की गिरफ्तारी को लेकर मैंने कई बार मांग उठाई है। इसी से नाराज होकर आरएसएस और भाजपा के नेता व्यक्तिगत रूप से मेरे परिवार को टारगेट कर रहे हैं। डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस की पाठशाला में पढ़ना और मेहनत करना सिखाया जाता है जबकि आरएसएस और भाजपा की पाठशाला में झूठ बोलना और निंबाराम की तरह चोरी करना सिखाया जाता है।

डोटासरा ने भाजपा नेताओं को चेतावनी देते हुए कहा कि वे किसी भी प्रकार की जांच के लिए तैयार हैं, लेकिन भ्रष्टाचार के आरोपी निंबाराम को तो सामने लेकर आओ, जो गिरफ्तारी से बचने के लिए जगह-जगह छिपते फिर रहे हैं।

कटारिया -पूनियां करा लें भर्तियों की जांच
पीसीसी गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा भाजपा नेताओं को शर्म नहीं आ रही है कि अपनी ही वसुंधरा राज्य सरकार के कार्यकाल के दौरान जो लोग भर्ती हुए हैं, उनकी सर्विस को 2 साल हो चुके हैं। उसके बाद उनकी मार्कशीट दिखाकर भाजपा नेता क्या साबित करना चाहते हैं। डोटासरा ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया कटारिया को चुनौती देते हुए कहा कि कटारिया और पूनियां दोनों मिलकर भाजपा और कांग्रेस के शासनकाल में जितने भी भर्ती के इंटरव्यू हुए हैं उनकी जांच कर ले।

इस जांच में अगर किसी भी कांग्रेस के मंत्री और नेता के ऊपर पक्षपात के आरोप सिद्ध हो तो मैं इसकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी लेने को तैयार हूं। भाजपा के नेता अपनी सरकार में हुई भर्तियों को लेकर वसुंधरा राजे पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2016 में जब यह भर्ती हुई थी तब आरपीएससी का चेयरमैन आरएसएस के श्याम प्रसाद अग्रवाल थे।

किसान वर्ग को टारगेट कर रही है भाजपा
पीसीसी चीफ ने कहा कि बच्चा टैलेंट से आरएएस बनता है न की रिश्तेदारी से, मेरा बड़ा बेटा और पुत्रवधु क्यों नहीं आरएएस बने। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता किसान वर्ग को टारगेट कर रहे हैं। हमारे किसानों के बच्चे टैलेंटेड हैं पहले भी आरएएस रहे हैं और अन्य पदों पर रहे हैं, अभी अभी बन रहे हैं और आगे भी बनेंगे। जब मेरा बेटा और पुत्रवधू आरएएस के लिए सिलेक्ट हुए थे उस समय हमारे परिवार में रिश्ते भी नहीं थे। आज किसान का बेटा आरएएस बनता है तो भाजपा को तकलीफ क्यों हैं।

Show More
firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned