I Card: छह हजार कार्मिकों को मिलेगी पहचान


बनाए जाएंगे आई कार्ड
विभाग बनवाएगा कार्ड
कार्मिक लंबे समय से कर रहे थे मांग
जन अनुशासन पखवाड़े में ड्यूटी निभाना होगा आसान
फील्ड में आए दिन होने वाली परेशानी भी होगी कम

By: Rakhi Hajela

Updated: 28 Apr 2021, 10:44 AM IST


जयपुर, 28 अप्रेल
प्रदेश के पशु चिकित्सा संस्थानों (Veterinary Institutions) में कार्यरत तकरीबन छह हजार से अधिक कार्मिकों को अब उनकी पहचान मिल सकेगी। लंबे समय से अपने पहचान पत्रों का इंतजार कर रहे इन कार्मिकों के आईडी कार्ड बनवाए जाएंगे। खास बात यह कि विभाग इनके आईकार्ड खुद बनाएगा।
आए दिन होती थी कार्मिकों के साथ मारपीट
गौरतलब है कि विभाग की ओर से संचालित की जा रही विभिन्न योजनाओं को पूरा करने के लिए कार्मिकों को फील्ड में ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालकों के घर घर जाकर पशुओं का टीकाकरण करना होता है। इस दौरान कई बार इन कार्मिकों के साथ मारपीट किए जाने, उन्हें बंधक बनाए जाने की घटनाएं सामने आई हैं। कार्मिक के पास परिचय पत्र नहीं होने से अपनी पहचान साबित करना भी उनके लिए मुश्किल हो रहा था। इसके बाद वर्तमान में चल रहे जन अनुशासन पखवाड़े में पशु पालन विभाग (Animal Husbandry Department) आवश्यक सेवा (Essential service) में तो शामिल है लेकिन कार्मिकों के पास परिचय पत्र नहीं होने से उनके लिए अपने चिकित्सा संस्थानों तक पहुंचना मुश्किल हो रहा है, रास्ते में पुलिस की समझाइश करना आसान नहीं होता।
राजस्थान पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ ने की थी पेशकश
गौरतलब है कि कार्मिकों को फील्ड में काम करने के दौरान आ रही परेशानी को देखते हुए राजस्थान पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ ने विभाग से कार्मिकों के आईडी कार्ड बनवाए जाने की मांग की थी। संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय सैनी ने इस संबंध में विभाग का पत्र लिखा था। उन्होंने विभाग को यह भी प्रस्ताव दिया था कि यदि विभाग आईडी कार्ड बनवाने में असमर्थ है तो संघ कार्मिकों के हित में उनका परिचय पत्र बनवाएगा। इसके बाद विभाग के एडिशनल डायरेक्टर प्रदीप सारस्वत, डॉ. पीसी भाटी और डॉ.आनंद सेजरा की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया था। राजस्थान पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री अर्जुन शर्मा की कमेटी के सदस्यों के साथ हाल ही में हुई वार्ता में निर्णय लिया गया कि विभाग ही कार्मिकों के आईडी कार्ड बनवाएगा। अर्जुन शर्मा ने कहा कि विभागीय अधिकारियों के साथ हुई बैठक में निर्णय लिया गया है कि कार्मिकों के परिचयपत्र शीघ्र बनवाए जाएंगे।
इनका कहना है,
राजस्थान पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ का पत्र विभाग के पास आया था। कार्मिकों के परिचय पत्र बनवाए जाएंगे। हालांकि विभाग के पास बजट कम है ऐसे में हम किसी अन्य मद से बजट की व्यवस्था करेंगे। परिचय पत्र बनाने का काम विभाग अपने स्तर पर ही करेगा।
डॉ. वीरेंद्र सिंह, निदेशक,
पशुपालन विभाग।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned