script लोकसभा चुनाव हमें आक्रामक शैली से काम करना है, रक्षात्मक शैली से नहीं | Loksabha Election 2024 BJP Rajasthan Media and Social Media Workshop | Patrika News

लोकसभा चुनाव हमें आक्रामक शैली से काम करना है, रक्षात्मक शैली से नहीं

locationजयपुरPublished: Jan 27, 2024 10:04:26 pm

Submitted by:

Umesh Sharma

लोकसभा चुनावों की तैयारी को लेकर प्रदेश भाजपा मीडिया एवं सोशल मीडिया कार्यशाला लोकसभा 2024 का आयोजन शनिवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में किया गया। कार्यशाला के दौरान तीन सत्र हुए। उद्घाटन सत्र को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी, राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी, कैबिनेट मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने सबोंधित किया।

लोकसभा चुनाव हमें आक्रामक शैली से काम करना है, रक्षात्मक शैली से नहीं
लोकसभा चुनाव हमें आक्रामक शैली से काम करना है, रक्षात्मक शैली से नहीं

लोकसभा चुनावों की तैयारी को लेकर प्रदेश भाजपा मीडिया एवं सोशल मीडिया कार्यशाला लोकसभा 2024 का आयोजन शनिवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में किया गया। कार्यशाला के दौरान तीन सत्र हुए। उद्घाटन सत्र को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी, राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी, कैबिनेट मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने सबोंधित किया। वहीं द्वितीय सत्र में पीपीटी के माध्यम से निमित्त करणीय कार्य बताये गये। भाजपा प्रदेश मंत्री पिंकेश पोरवाल और प्रदेश मीडिया संयोजक प्रमोद वशिष्ठ ने आगामी लोकसभा चुनावों में मीडिया की भूमिका और कार्य सरंचना को लेकर संबोधित किया। समापन सत्र को मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने संबोधित किया।

जोशी ने कहा कि भाजपा के पास जो विजन है वह देश की किसी पार्टी के पास नहीं है। हमारा लक्ष्य सभी 25 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करना है। मीडिया के क्षेत्र में कंटेट सबसे महत्वपूर्ण चीज होता है। हमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 10 साल के ऐतिहासिक कार्यों को लेकर जनता के बीच जाना है। मीडिया कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर तक पीएम मोदी की लोककल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार करना चाहिए। इसके लिए विषय पर पकड़ और प्रभावी वक्तव्य रखना आवश्यक है। जोशी ने कहा कि हमारी प्रदेश सरकार ने 100 दिन की कार्ययोजना बनाकर काम करना शुरू कर दिया। हमने पेपर लीक के खिलाफ एसआईटी का गठन कर इसमें लिप्त आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी है। आज प्रदेश में अपराधियों को रात रातभर नींद नहीं आ रही। कांग्रेस के लोग जो पेपर लीक में लिप्त थे उन्हे डर लगने लगा है कि कहीं जांच के दायरे में हम ना आ जाएं। सभी कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट जाना है। विधानसभा चुनावों की तरह लोकसभा चुनावों में भी हमें आक्रामक शैली से काम करना है, रक्षात्मक शैली से नहीं। कैबिनेट मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि मीडिया संवाद और संदेश का सबसे बेहतर माध्यम है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमने महिला सशक्तिकरण, स्पेस, तकनीक, गरीब कल्याण, सेना की ताकत बढ़ाने सहित धर्म और संस्कृति को स्थापित करने का काम किया है।

इंडी गठबंधन के प्राण संकट में हैं-त्रिवेदी

राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि पांच साल बाद राजस्थान में जनता का राज आया है और 500 साल बाद अयोध्या में प्रभु श्री राम आए हैं। जो कांग्रेस के लोग इस बात पर फूलते थे कि हमारी पार्टी के मुखिया ऐसे लोग हैं, जिनके कपड़े धुलने पेरिस जाते हैं। उन्हे ये बता दूं कि हमने फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रों को जयपुर में एक आम चाय वाले की दुकान पर बिठाकर चाय पिलाई है। आज भारत और फ्रांस के बीच रक्षा क्षेत्र में साझेदारी बढ़ रही है। कांग्रेस पर तंज कसते हुए उन्होने कहा कि राम का काज एक तपस्वी ही कर सकता है और प्रधानमंत्री मोदी ने 11 दिन का उपवास रखकर प्रभु श्रीराम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न कराई। इधर राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा हुई और उधर इंडी गठबंधन की प्रतिष्ठा जाने लगी और अब प्राण सकंट में हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में विश्व में हमने भारत को मदर ऑफ डेमोक्रेसी के रूप में स्थापित किया है। इसलिए इस गणतंत्र दिवस पर परेड में 80 प्रतिशत महिला कैडेट्स ने भाग लिया और केंद्र सरकार के कैबिनेट में सर्वाधिक मंत्री महिलाएं हैं। राजस्थान की जनता लगातार तीसरी बार भाजपा को 25 सीटें जिताने का मन बना चुकी है। तीन बार 25 सीटें जीतने पर तीनों का योग हुआ 75 तो हम यह मान सकते हैं कि राजस्थान अमृत महोत्सव मनाने जा रहा है।

कार्यकर्ता अपना स्वंय का मूल्यांकन करें और जिम्मेदारी निभाएं-सीएम भजन लाल

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने विधानसभा चुनाव में भाजपा कार्यकर्ताओं की मेहनत के लिए सभी का स्वागत और अभिनंदन किया। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता को जो दायित्व पार्टी की ओर से दिया जाता है, उसे पूरी लगन और मेहनत के साथ पूरा करें। मीडिया में खुद को साबित करने के लिए तात्कालिक विषयों की जानकारी महत्वपूर्ण है, वहीं कार्यकर्ता अपना स्वंय का मूल्यांकन स्वंय करें और जिम्मेदारी का निर्वहन एकाग्र होकर करें। कोई भी कार्यकर्ता जब समर्पित भाव से सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ काम करता है तो उसे स्वतः ही भीतर से ऊर्जा मिलती है। सोशल मीडिया के लाभ हानि के बारे में बताते हुए उन्होने कहा कि सोशल मीडिया चलाते समय तीन बातों का ध्यान रखें पहला आपको खुद ही सही गलत का आकलन करना होगा, दूसरा लाभ-हानि का निर्धारण करना होगा और तीसरी बात आवेश या उकसावे में आकर कोई पोस्ट या कमेंट ना करें। हमें संगठित होकर काम करना है और प्रदेश की सभी 25 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करनी है।

ट्रेंडिंग वीडियो