प्रशासन पर हावी हुए स्थानीय विधायक, राशन सामग्री पहुंच रही चहेतों के घर- MP रामचरण बोहरा

जयपुर सांसद रामचरण बोहरा ( Jaipur MP Ramcharan Bohra ) ने बुधवार को राज्य सरकार ( Rajasthan Government ) पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण ( Coronavirus In Rajasthan ) जैसी वैश्विक महामारी के समय बिना किसी भेदभाव के हर जरूरतमंद तक राशन पहुंचाना सरकार का नैतिक दायित्व है।

By: abdul bari

Published: 22 Apr 2020, 09:06 PM IST

जयपुर. जयपुर सांसद रामचरण बोहरा ( Jaipur MP Ramcharan Bohra ) ने बुधवार को राज्य सरकार ( Rajasthan Government ) पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण ( Coronavirus In Rajasthan ) जैसी वैश्विक महामारी के समय बिना किसी भेदभाव के हर जरूरतमंद तक राशन पहुंचाना सरकार का नैतिक दायित्व है। चाहे वो किसी भी धर्म और सम्प्रदाय का हो। इसमें किसी भी प्रकार की तुष्टिकरण की नीति नहीं अपनानी चाहिए। भोजन पर सभी का समान हक है और सरकार यह सुनिश्चित करे कि कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं सोये। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार के मुखिया कहते हैं कि कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं सोयेगा, वहीं दूसरी तरफ सरकार के विधायक पक्षपात करने में लगे हुए हैं। यह खुले रूप से मानवता से खिलवाड़ नहीं तो और क्या है।


... सरकार की संकिर्ण भावना को दर्शाता है

सांसद बोहरा ने कहा कि वार्ड नं 64 के जरूरतमंदो द्वारा कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम में फोन करने पर उसे प्रभारी अधिकारी का नम्बर दिया जाता है और अधिकारी को फोन करने पर यह जवाब देना कि आपका राशन पार्टी कार्यकर्ता के पास है, वहीं से लेना, यह स्पष्टरूप से सरकार की संकिर्ण भावना को दर्शाता है। क्या सरकार पर क्षेत्रीय विधायक इस कदर हावी हो गए हैं कि जरूरतमंदो तक राशन सामग्री नहीं पहंचाकर अधिकारी उनके चहेते कार्यकर्ताओं के पास पहुंचा रहे हैं।


सरकार की कानों पर जूं नहीं रेंग रही

सांसद बोहरा ने कहा कि प्रतिदिन जयपुर संसदीय क्षेत्र के कर्फ्यूग्रस्त एवं अन्य क्षेत्रों से जिनके पास खाद्यान्न सामग्री नहीं पहुंच रही है, वो व्यक्ति दूरभाष पर अवगत करा रहे हैं। यहां तक कि दैनिक समाचार पत्रों में भी इन पीड़ितों की समस्या को प्रमुखता से उठाया जा रहा है। फिर भी सरकार की कानों पर जूं नहीं रेंग रही है। यहां तक कि जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए सार्वजनिक नम्बर भी सम्बन्धित प्रभारी, अधिकारियों द्वारा नहीं उठाए जा रहे हैं जिससे जरूरतमंद काफी परेशानी में हैं।

यह तुष्टिकरण नहीं, तो और क्या है

बोहरा ने आरोप लगाते हुए कहा कि हाल ही में मैंने 400 पैकेट का वितरण करवाना चाहा था, तब प्रशासन द्वारा यह कहकर लोड़िंग गाड़ी की अनुमति प्रदान नहीं की गई कि निजी व्यक्तियों से राशन वितरण नहीं करवा सकते, यह सरकार का आदेश है। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं को राशन वितरण के लिए खुली छुट दे रखी है। यह तुष्टिकरण नहीं, तो और क्या है। गरीब, असहाय एवं जरूरतमंदो के लिए किसी पार्टी का होना जरूरी नहीं, केवल मानवता की सेवा करना हम सबका दायित्व है।

यह भी पढ़ें...

अपने देश लौट आने को हैं बेताब हैं राजस्थानी: जानिए, किस हालत में कुवैत-इराक की सीमा पर किए गए हैं क्वारंटाइन


हनुमानगढ़ में पांच कोरोना पॉजिटिव आए सामने, जिले में मचा हड़कंप


कोरोना लॉकडाउन के बीच बिजली उपभोक्ताओं के लिए आई राहतभरी खबर, डिस्कॉम ने किया ये फैसला...

Show More
abdul bari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned