मुसाफिरों की जेब पर भार! राजस्थान रोडवेज ने बंद की ये योजना, यात्रा करने से पहले जान लें

बस किराए में रियायत के नाम पर राजस्थान रोडवेज ( Rajasthan Roadways ) का दोहरा चेहरा सामने आया है। कम यात्री भार को देखते हुए करीब एक महीने पहले रोडवेज ( Roadways Bus ) ने जयपुर-दिल्ली रूट पर किराया घटाया था। साथ ही फ्लैक्सी योजना शुरू कर वोल्वो से लेकर साधारण बसों में ऑनलाइन टिकट और समूह में यात्रा पर छूट दी थी...

जयपुर। बस किराए में रियायत के नाम पर राजस्थान रोडवेज ( Rajasthan Roadways ) का दोहरा चेहरा सामने आया है। कम यात्री भार को देखते हुए करीब एक महीने पहले रोडवेज ( Roadways Bus ) ने जयपुर-दिल्ली रूट पर किराया घटाया था। साथ ही फ्लैक्सी योजना शुरू कर वोल्वो से लेकर साधारण बसों में ऑनलाइन टिकट और समूह में यात्रा पर छूट दी थी। अब दिवाली पर यात्रियों की भीड़ बढऩे पर सस्ते किराए से नुकसान की आशंका के चलते रोडवेज ने मंगलवार से यह योजना बंद कर दी। नतीजतन, दिल्ली-जयपुर के लिए यात्रियों को 200 रुपए ज्यादा देकर यात्रा करनी पड़ी। वहीं, अब रोडवेज इस रूट पर 700 की जगह 900 रुपए वसूलेगा। इसके अलावा योजना के तहत महिलाओं को मिलने वाली छूट बंद कर दी है। इसका एक असर यह होगा कि दिवाली पर निजी बसों को फायदा मिलेगा।

मंगलवार से पहले तक ऑनलाइन टिकट बुक करा चुके यात्री कम किराए में यात्रा कर सकेंगे। उक्त योजना बंद होने से दिवाली पर टिकट विंडो से टिकट लेने वाले यात्रियों को नुकसान होगा। वहीं, दिल्ली लौटने वाले यात्रियों को बतौर किराया 900 रुपए देने होंगे।

जानिए और क्या था फ्लैक्सी योजना में
- समूह में यात्रा पर छूट
- न्यूनतम चार और अधिकतम छह यात्रियों के ऑनलाइन रिजर्वेशन
- टिकट बुकिंग और अग्रिम आरक्षण पर 10 प्रतिशत छूट
- अग्रिम आरक्षण में छूट का लाभ
- 16 दिन पहले बुकिंग पर 20 फीसदी छूट
- 3 से 15 दिन पूर्व आरक्षण पर 10 फीसदी रियायत
- 16 से 30 दिन पहले टिकट बुक करने पर किराए में 20 फीसदी रियायत

रोडवेज बसों में एक, दो और तीन माह के लिए मासिक पास बनवाने वाले यात्रियों को वर्तमान में तीन दिन के लिए 50 प्रतिशत छूट दी जा रही है। अब 60 प्रतिशत छूट यानी एक माह में 12 दिवस के यात्री किराए पर मासिक पास दिए जाएंगे।

हालांकि, रोडवेज का तर्क है कि फ्लैक्सी योजना से रोडवेज को प्रति माह 12 लाख का नुकसान हो रहा है। एक महीने से आय कम हो रही थी। वहीं, हकीकत यह है कि रोडवेज द्वारा योजना का प्रचार नहीं किया गया। यात्री हित की बजाय आय को देखते हुए योजना शुरू की गई।

इस संबंध में रोडवेज एमडी आलोक का कहना है कि दिल्ली-जयपुर की यात्रा के लिए एडवांस बुकिंग हो गई है। किराया कम करने से नुकसान के चलते वापस किराया 700 से बढ़ाकर 900 रुपए कर दिया है। बस में यात्री ज्यादा जा रहे हैं, उस हिसाब से आय नहीं हो रही।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned