script RSSB का बड़ा फैसला, अब इस तकनीक से बच नहीं सकेंगे नकलची और डमी अभ्यर्थी, पकड़े जाने पर खैर नहीं | Rajasthan Staff Selection Board Big Decision NEW 2 technique will be caught Fake and dummy candidates | Patrika News

RSSB का बड़ा फैसला, अब इस तकनीक से बच नहीं सकेंगे नकलची और डमी अभ्यर्थी, पकड़े जाने पर खैर नहीं

locationजयपुरPublished: Dec 24, 2023 07:07:09 pm

Rajasthan Staff Selection Board Big Step : महाराष्ट्र में सफलता के बाद अब राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की नई पहल। अब RSSB इन दो नहीं तकनीक से नकल गिरोह और डमी अभ्यर्थियों पर शिकंजा कसेगा।

rajasthan_staff_selection_board.jpg
Rajasthan Staff Selection Board
विजय शर्मा राजस्थान में भर्ती परीक्षाओं में नकल गिरोह और डमी अभ्यर्थियों को रोकने के लिए राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड अब आधुनिक तकनीक का सहारा लेने जा है। अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट बोर्ड आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) की मदद से जांचेगा। इसके लिए AI टूल्स का इस्तेमाल किया जाएगा। यह प्रयोग महाराष्ट्र में सफल हुआ है। बोर्ड की टीम पिछले कई दिनों से इस नवाचार पर अध्ययन कर रही थी। इतना ही नहीं, बोर्ड की ओर से भर्ती परीक्षा की ओएमआर शीट ट्रायल के तौर पर जांची भी गई है। सफल प्रयोग के बाद अब बोर्ड ने इस प्रक्रिया को अपनाने जा रहा है। नए साल में आने वाली भर्तियों में इस तकनीकी को अपनाया जाएगा। एआई से ओएमआर शीट जांच के दौरान कोई अभ्यर्थी दोषी पाया जाता है तो उस पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकेगी।

इस तरह पकड़ेंगे नकल

एआई (AI) के जरिए ओएमआर (OMR) शीट की जांच के बाद यह पता लगेगा कि हर परीक्षा केंद्र पर प्रत्येक अभ्यर्थी और जिलों में परीक्षा केन्द्र का औसत परिणाम कितना आ रहा है। अगर किसी परीक्षा केंद्र का परिणाम सभी केंद्रों से अधिक है तो इसकी जांच की जाएगी। केंद्रों की वीडियोग्राफी देखी जाएगी। अभ्यर्थियों ने सभी प्रश्नों के हल कैसे किए, इसके कारणों का भी पता लगाया जाएगा। अगर नकल का मामला सामने आता है तो परीक्षा केंद्र, परीक्षा लेने वाले और अभ्यर्थियों पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें

राजस्थान माध्यमिक बोर्ड स्तरीय परीक्षाओं में बड़ा बदलाव, शिक्षा विभाग में चल रहीं हैं विशेष तैयारियां



फेस स्कैन कर पकड़ेंगे डमी अभ्यर्थी

परीक्षाओं में डमी अभ्यर्थियों के बढ़ते मामलों को देखते हुए अधीनस्थ बोर्ड अब भर्ती परीक्षा में बैठने वाले परीक्षार्थियों की फेस या आई स्कैन करेगा। इसी के साथ अभ्यर्थियों की बायोमैट्रिक हाजिरी की जाएगी। इससे अभ्यर्थी का बोर्ड के पास रिकॉर्ड रहेगा। जब अभ्यर्थी को ज्वॉइन दी जाएगी तो उस समय फेस मैच किया जाएगा। अलग-अलग फेस होने की स्थिति में डमी अभ्यर्थियों की पहचान की जाएगी।

यह भी पढ़ें

RSSB : अब नौकरी के आवेदन फॉर्म संग 10वीं की मार्कशीट या आधार कार्ड को करना होगा लिंक, जानें वजह

ट्रेंडिंग वीडियो