scriptrajasthan weather forecast today 04 august 2021 | राजस्थान के इन जिलों में बाढ़ के हालात, जानें आगे कैसा रहेगा मौसम | Patrika News

राजस्थान के इन जिलों में बाढ़ के हालात, जानें आगे कैसा रहेगा मौसम

भारी बारिश के कारण कोटा-बूंदी-बारां-धौलपुर सहित अन्य जिलों में बाढ़ के हालत बन गए हैं। बारां जिले में कई दिनों से लगातार दो सौ मिमी से अधिक बारिश हो रही है।

जयपुर

Published: August 04, 2021 08:48:48 pm

जयपुर। भारी बारिश के कारण कोटा-बूंदी-बारां-धौलपुर सहित अन्य जिलों में बाढ़ के हालत बन गए हैं। बारां जिले में कई दिनों से लगातार दो सौ मिमी से अधिक बारिश हो रही है। अब कोटा संभाग के कई जिलों में ऐसी स्थिति हो चुकी है कि जहां देखो, वहां पानी ही पानी नजर आ रहा है।
rajasthan weather forecast today 04 august 2021
बात करें कोटा की तो 230 लोगों को तो एसडीआरएफ की टीम ने 400 से अधिक ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। बड़ोद में कालीसिंध नदी की पुलिया पर करीब 4 फीट की चादर चल रही है। भारी बारिश के कारण कोटा-इटावा मार्ग बंद हो गया। मारवाड़ा चौकी में रेलवे अंडर ब्रिज के नाले में पानी की आवक होने से आवागमन बंद है।
rain2.jpgवहीं बूंदी जिले में जैतसागर झील के बरसाती नाले में आए उफान से शहर दो हिस्सों में बंट गया। मेज नदी पर लाखेरी के निकट पापड़ी पुलिया पर पानी आने के बाद कोटा-दौसा मेगा स्टेट हाईवे पर आवागमन बंद हो गया। पिछले 24 घंटों में बारां, सवाई माधोपुर, कोटा और बूंदी जिलों में कहीं-कहीं अत्यंत भारी बारिश दर्ज की गई है। सर्वाधिक बारिश 280 मिमी खातोली, कोटा में दर्ज की गई है।
चंबल खतरे के निशान से 14.60 मीटर ऊपर
धौलपुर जिले में चंबल का पानी करीब 120 गांव व ढाणियों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है। गांवों के लोगों को ऊंचे स्थानों पर भेजा गया। बुधवार देर शाम चंबल का जलस्तर 144.60 पहुंच गया, जो कि खतरे के निशान से करीब 14.60 मीटर ऊपर है। यह पानी गुरुवार तक धौलपुर पहुंच जाएगा। बाढ़ प्रभावित 23 ग्राम पंचायतों के 65 राजस्व गांवो में 21 मेडिकल टीमें तैनात अलर्ट मोड़ पर कार्य करते हुए दवा वितरण कार्य कर रही है।
rain1.jpgकोटा बैराज से एक लाख क्यूसेक पानी की निकासी
मंगलवार देर रात 3 बजे चम्बल नदी पर बने कोटा बैराज बांध के 10 गेट खोलकर एक लाख क्सूसेक पानी की निकासी की गई। देर रात 3 बजे कोटा बैराज के दस गेट खोलकर 1 लाख क्यूसेक पानी की निकासी की गई। उसके बाद बुधवार को दिन तक 10 गेट खोलकर 78,760 क्यूसेक पानी की निकासी की गई। शाम को पानी की आवक कम होने से 4 गेट खोलकर 11 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की गई।
rain_in_rajasthan.jpgआगे क्या
पश्चिमी मध्य प्रदेश के ऊपर बना अति कम दबाव का क्षेत्र बुधवार को कमजोर होकर कम दबाव के क्षेत्र में परिर्वितत हो गया। यह अभी भी उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश व आसपास के क्षेत्र के ऊपर बना हुआ है। इसी कारण मध्यप्रदेश कुछ जिलों एवं उससे लगते राजस्थान के इलाकों में भी भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार कम दबाव के क्षेत्र के धीरे-धीरे कमजोर होने से पूर्वी राजस्थान में बारिश की गतिविधियों में कमी होने की संभावना है। हालांकि कोटा संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश व एक दो स्थानों पर अति भारी बारिश होने की संभावना आगामी 24-48 घंटों के दौरान बनी रहेगी। 5 अगस्त को करौली, बूंदी, कोटा, बारां व सवाईमाधोपुर में एक-दो स्थानों पर अति भारी बारिश हो सकती है। वहीं 6 और 7 अगस्त सवाई माधोपुर, करौली, धौलपुर में भारी बारिश हो सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: पीएम मोदी ने किया नेताजी की भव्य होलोग्राम प्रतिमा का अनावरणभारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्र सरकारUP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीUP Election 2022: बुन्देलखण्ड का सियासी समीकरण, क्या बीजेपी की जड़ों को हिला सकेंगे सपा-बसपा और कांग्रेसकोविड टीकाकरण की पहचान आपके साथ में, अब पहनों ईमूनोबैंड अपने हाथ मेंRespiratory System: श्वसन तंत्र का मुख्य कार्य और स्वस्थ फेफड़ों के लिए खाएं ये खाद्य पदार्थ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.