झाड़खंड महादेव के श्रावण में नहीं कर पाएंगे जलाभिषेक

शिव आराधना का पवित्र माह श्रावण (shravan month) 25 जुलाई से शुरू होगा। शिवालयों में रोजाना विशेष झांकियां सजाई जाएगी। शहर के झाड़खंड महादेव मंदिर (Jharkhand Mahadev) में भक्त सिर्फ दर्शन कर सकेंगे, जलाभिषेक पर पाबंदी रहेगी। वहीं ताड़केश्वर महादेव मंदिर में एक बार में सिर्फ 4 से 5 श्रद्धालुओं को जल चढ़ाने के लिए प्रवेश दिया जाएगा। गलता तीर्थ (Galta Tirth Jaipur) के पवित्र कुंडों पर लोगों के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी।

By: Girraj Sharma

Updated: 22 Jul 2021, 09:36 AM IST

झाड़खंड महादेव के श्रावण में नहीं कर पाएंगे जलाभिषेक
— श्रावण मास 25 जुलाई से शुरू
— गलता के पवित्र कुंडों पर लोगों का प्रवेश रहेगा निषेध
— झाड़खंड महादेव के भक्तों को दर्शनों की ही मिलेगी अनुमति

जयपुर। शिव आराधना का पवित्र माह श्रावण 25 जुलाई से शुरू होगा। शिवालयों में रोजाना विशेष झांकियां सजाई जाएगी। शहर के झाड़खंड महादेव मंदिर (Jharkhand Mahadev) में भक्त सिर्फ दर्शन कर सकेंगे, जलाभिषेक पर पाबंदी रहेगी। वहीं ताड़केश्वर महादेव मंदिर में एक बार में सिर्फ 4 से 5 श्रद्धालुओं को जल चढ़ाने के लिए प्रवेश दिया जाएगा। गलता तीर्थ के पवित्र कुंडों पर लोगों के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी। श्रावण में इस बार लोग गलता तीर्थ (Galta Tirth Jaipur) का पवित्र जल नहीं ले पाएंगे। ऐसे में इसबार गलताजी में मेला भी नहीं भरेगा। गलता पीठ के स्वामी अवधेशाचार्य का कहना है कि कोरोना गाइडलाइन की अनुपालना में गलता के पवित्र कुंडों पर गत वर्ष से ही भक्तों का प्रवेश बंद है। श्रावण माह में भी लोगों का प्रवेश निषेध रहेगा। हाल ही में राज्य सरकार ने कांवड यात्रा को लेकर जो गाइडलाइन जारी की है, उसका सभी पालन करें।

क्वींस रोड स्थित झाड़खंड महादेव मंदिर में श्रावण मास में भक्त महादेवजी के जलाभिषेक नहीं कर सकेंगे। भक्त महादेवजी के दर्शन ही कर पाएंगे। वहीं रोजाना सुबह—शाम अलग—अलग झांकियों के दर्शन होंगे। श्रीबब्बू सेठ मेमोरियल ट्रस्ट के अध्यक्ष जयप्रकाश सोमानी ने बताया कि श्रावण में श्रद्धालु महादेवजी के दर्शन ही कर पाएंगे। दर्शन सुबह 7 बजे खुलेंगे, जो रात 8 बजे तक रहेंगे। भक्त महादेवजी के जल नहीं चढ़ा पाएंगे, जल चढाने पर पांबदी रहेगी। सुबह—शाम बाबा के रोजाना विशेष फूलों की झांकियां सजाई जाएगी। भक्तों का प्रवेश और निकास की अलग—अलग लाइनें होगीं, इसके लिए यहां बेरिकेडिंग कर दी गई है। मंदिर में सहस्त्रघट आदि नहीं होंगे। सोमवार को दर्शनों को लेकर अभी कुछ तय नहीं हो पा रहा है।

चौड़ा रास्ता स्थित ताड़केश्वर महादेव मंदिर में श्रावण को लेकर विशेष व्यवस्था रहेगी। भक्त ताड़क बाबा के जल चढ़ा पाएंगे, लेकिन एक बार में सिर्फ 10 भक्तों को ही प्रवेश दिया जाएगा। मंदिर पुजारी श्याम पारासर ने बताया कि लोग सोशल डिंस्टेंसिंग की पालना के साथ ताड़क बाबा के जल चढा पाएंगे। मंदिर सुबह 4 बजे खुल जाएगा। इसके बाद शाम 5 बजे तक भक्त ताड़क बाबा के जल चढा पाएंगे। इसके बाद बाबा के शृंगार होगा।

झोटवाड़ा रोड स्थित श्रीचमत्कारेश्वर महादेव मंदिर में श्रावण मास में भक्त जल चढ़ा पाएंगे, हालांकि कोरोना गाइडलाइन की पालना करनी होगी। श्रीचमत्कारेश्वर महादेव मंदिर सार्वजनिक सेवा समिति के अध्यक्ष महेन्द्र कुमार खंडेलवाल ने बताया कि श्रावण मास में मंदिर सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहेगा, भक्त सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक ही जल चढ़ा पाएंगे।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned