scriptशराब दुकान में लूट करने से पहले नींद में सो रहे २ गार्डों की टंगिया में १५-१६ वारकर सुला दिया मौत की नींद | Before robbing a liquor shop, two sleeping guards were killed by givin | Patrika News

शराब दुकान में लूट करने से पहले नींद में सो रहे २ गार्डों की टंगिया में १५-१६ वारकर सुला दिया मौत की नींद

locationजांजगीर चंपाPublished: Jan 18, 2024 10:01:52 pm

Submitted by:

Ashish Tiwari

शराब दुकान में लूट करने से पहले नींद में सो रहे दो गार्डों को टंगिया से १५-१६ बार सिर में वारकर हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया। इसके बाद आराम से देशी व विदेशी मदिरा दुकान में चोरी की घटना को अंजाम दिया गया। आरोपियों ने करीब चार माह तक पुलिस को खूब छकाया। इसके बाद आखिरकार आरोपी चाहे कितना भी शातिर हो कानून के हाथ लंबे होते है के तर्ज पर पुलिस ने ३ आरोपियों को धर दबोचा। घटना में शामिल तीनों आरोपी पति-पत्नी सहित पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

शराब दुकान में लूट करने से पहले नींद में सो रहे २ गार्डों की टंगिया में १५-१६ वारकर सुला दिया मौत की नींद

aropi

एसपी ने प्रेस कान्फ्रेंस में हाईप्रोफाइल डबल मर्डर केस का खुलासा करते हुए बताया कि चाम्पा थाना क्षेत्रांतर्गत शासकीय शराब दुकान सिवनी में 4-5 नवंबर 2023 की रात किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा शराब दुकान सुरक्षा में कार्यरत २ गार्ड यदुनंदन पटेल पिता लक्ष्मीप्रसाद पटेल, जयकुमार सूर्यवंशी पिता घासीराम सूर्यवंशी निवास पिसौद थाना चाम्पा की नकाब पहनकर टंगिया से निर्दयता पूर्वक सिर में प्रहार कर हत्या कर नगदी रकम व शराब चोरी कर फरार हो गया है। घटना दिनांक को नकाब लगाकर कृष्णा के साथ लगभग रात 12 बजे अपने घर से निकलकर शराब दुकान सिवनी पहुंचा। आरोपी शिवशंकर हाथ में टंगिया लेकर शराब दुकान के बने बाउंड्रीवाल में अंधेरे से होते हुए देशी शराब दुकान की ओर पहुंचा। गार्डो के सोने का इंतजार करने लगा। तभी लगभग 12.20 बजे दोनों गार्ड एक तखत में मच्छरदानी लगाकर सो गए थे। गार्डों की हलचल होने पर छुपकर देखते रहे। 12.50 बजे पुरी तरह से सो गए, तब उनके सिर पर टंगिए के पिछले हिस्से से लगातार 15-16 वारकर सिर कुचल दिया। इससे मौके पर ही मौत हो गई। फिर देशी शराब दुकान का ताला तोडने लगा, इसी बीच एक अंजान व्यक्ति शराब के नशे में आने पर मुन्ना सहिस उसे पकडकर वापस बाहर सड़क की ओर छोड़कर आकर ताला तोड़कर अंदर घुसकर कांउटर के पास रखे पैसों को चुराया। फिर अंग्रेजी शराब दुकान का भी ताला तोड़कर दुकान से 2 नग ब्लैक डॉग शराब चुरा लिया और वहां से दोनों वापस अपने घर आ गए। घटना कारित करते समय घटना में प्रयुक्त टंगिया, पाना, नकाब को अपने घर में लाकर छुपा दिया तथा शराब को धीरे-धीरे पी गए व चुराए पैसों केा खर्च करता रहा। विवेचना के दौरान आरोपियों के खिलाफ धारा 302, 460, 120बी, 34 के कार्रवाई की जा रही है।

मृतक के परिजनों के सामने घटना का किया डेमो


पुलिस ने शराब दुकान में लूट के पहले डबल मर्डर व लूट का डेमो भी किया। इसके लिए आरोपी को शराब दुकान ले जाकर घटना को कैसे अंजाम दिया गया। इसका डेमो कर वीडियो बनाया गया। क्योंकि परिजनों सहित ग्रामीणों को पहले जारी हुए सीसी टीवी में आरोपी तेज तर्रार व भरा शरीर का लग रहा था। सामने से आरोपी दुबला पतला दिखा। डेमो के बाद परिजन भी पुलिस की जांच आरोपी से संतुष्ट हो गए।
कृष्णा कुत्तों को बिस्किट देकर फुसलाया व लोगों पर रखा नजर
मुन्ना के शराब दुकान के पास पहुंचने पर कुत्ते लगातार भौकने लगे। इससे मुख्य आरोपी का पुत्र कृष्णा ने घटनास्थल शासकीय शराब दुकान सिवनी पर लगातार रहने वाले कुत्तों को से पूर्व परिचित था। इसलिए बिस्किट का लालच देकर पास स्थित चखना दुकान के पीछे फुसलाकर लगातार बिस्किट खिलाने लगा। साथ ही आने-जाने वाले लोगों नजर भी था। एक शराबी के आने पर सिटी बजाकर मुन्ना को सचेत भी किया।

७१४ मोबाइल नंबरों की पुलिस ने की जांच
पुलिस के लिए यह घटना काफी पेचिदा हो गया था। साथ ही कही कोई सुराग हाथ नहीं लग पा रहा था। जबकि आसपास के सीसी टीवी फूटेज, तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा गहन जांच किया गया। घटनास्थल एवं आसपास के इलाके सिवनी, पिसौद, हथनेवरा, बरबसपुर, गोविंदा, कर्रा मोड़ आदि स्थानों का टावर डंप लिया गया। जिनमें लगभग घटनास्थल से संबंधित लगभग 7 लाख 40 हजार 500 नंबरों के गतिविधियों की पुष्टी हुई। इसके आधार पर लगभग 386 सिम नंबरों का कॉल डिटेल रिकार्ड खंगालकर लगभग 714 मोबाईल नंबरों को जांच की गई। 100 से ज्यादा व्यक्तियों का कथन दर्ज किया गया। विशेष टीम घटनास्थल तथा अन्य संदेहास्पद स्थानों में लगातार कैंप कर घटना कारित करने वाले अज्ञात आरोपी की पतातलाश कर रही थी। समय के साथ घटना पुरानी होती जा रही थी लेकिन पुलिस सभी मोबाईल नंबरों पर नजर रखकर घटना से संबंधित आरोपी की पतासाजी के लिए मुखबीर तैनात कर पतासाजी की जा रही थी। पुलिस की इसी हठ ने आरोपी तक पहुंचाया।

हुलिया बदलने के लिए श्मशान घाट के कपड़े का किया उपयोग


आरोपी अपराधिक प्रवृत्ति का है। इससे पहले भी जेल जा चुका है। वह शराब दुकान में चोरी करने से पहले नकाब सहित अपना पूरा हुलिया बदला। इसके लिए वह श्मशान घाट में पड़े कपड़ों को पहन लिया। बाह को काट लिया और नकाब बनाकर उसमें दोनों आंख को छेदकर कर लिया। पुलिस को चकमा देने के लिए वह श्मशान घाट के काले कपड़े को पहनकर घटना को अंजाम दिया।
इसी दिन एक दूसरे मामले में मारपीट में शामिल था। सीसी टीवी में वह दूसरा कपड़ा पहना हुआ था। जिसमें पुलिस भी दिग्भ्रमित हो गया।
————–

ट्रेंडिंग वीडियो