script बेमौसम बारिश में भीगा करोड़ों का धान, खरीदी हुई बंद | Paddy worth crores soaked in unseasonal rain, purchase stopped | Patrika News

बेमौसम बारिश में भीगा करोड़ों का धान, खरीदी हुई बंद

locationजांजगीर चंपाPublished: Dec 05, 2023 08:54:35 pm

Submitted by:

Anand Namdeo

बेमौसम बारिश धान खरीदी पर ऐसे समय में आफत बनकर आई है जब ठीक धान खरीदी ने रफ्तार पकडऩी शुरु की है।

बेमौसम बारिश में भीगा करोड़ों का धान, खरीदी हुई बंद
बेमौसम बारिश में भीगा करोड़ों का धान, खरीदी हुई बंद
3 दिसंबर का इंतजार कर रहे किसान अब जल्द से जल्द धान बेचना चाह रहे थे कि ठीक ऐन मौके पर बेमौसम बारिश के चलते जिले में धान खरीदी ही ठप पड़ गई है। मंगलवार को जिले में कहीं भी खरीदी नहीं हुई। करीब 104 उपार्जन केंद्रों के लिए 45 हजार क्विंटल से ज्यादा का टोकन कटा था जो निरस्त हो गया। वहीं आगामी दो से तीन दिनों तक बारिश की चेतावनी है। ऐसे में शुक्रवार तक किसानों का टोकन नहीं काटा जाएगा और इस हफ्ते खरीदी पूरी तरह से ठप रहेगी। आगे मौसम अच्छा रहा तो सोमवार से ही धान खरीदी फिर से पटरी पर आ पाएगी। क्योंकि अधिकांश उपार्जन केंद्रों में हो रही बेमौसम बारिश के चलते जमीन गीली हो गई है। ऐसे में न तो धान की तौलाई हो सकती है और न ही धान को सुरक्षित रखा जा सकता है। किसानों की गाड़ी भी धान लेकर केंद्रों तक नहीं पहुंच पाएगी, गीली मिट्टी के चलते वाहन फंसने का डर रहेगा। इसको देखते हुए आगामी तीन दिनों तक खरीदी बंद ही रहेगी। वैसे भी शुक्रवार तक ही खरीदी होती। शनिवार और रविवार को खरीदी नहीं होती। ऐसे में सोमवार से ही खरीदी शुरु होने की बात समितियों के द्वारा कही गई।

एक लाख 62 हजार क्विंटल धान जाम


इधर जिले में मंगलवार 5 दिसंबर तक की स्थिति में 104 उपार्जन केंद्रों के जरिए 2 लाख 9 हजार 492 क्विंटल धान खरीदी हो चुकी है। इनमें से 46 हजार 900 क्विंटल धान का ही उठाव हुआ है। 1 लाख 62 हजार 592 क्विंटल धान उपार्जन केंद्रों में खुले आसमान के नीचे रखा हुआ है। जहां धान को बचाने पर्याप्त इंतजाम तक नहीं है। मंगलवार को कई उपार्जन केंद्रों में धान रातभर हुई बेमौसम बारिश में भीग गया। सुबह धान को तिरपाल से ढंकते उपार्जन केंद्रों के कर्मचारी नजर आए। इधर बारिश के बाद उपार्जन केंद्रों का नोडल अधिकारी के द्वारा दौरा भी किया गया और अव्यवस्था मिलने पर फटकार भी लगाई और धान को पूरी तरह से ढंककर रखने निर्देशित किया।

उपार्जन केंद्रों में खरीदे गए धान को सुरक्षित रखने निर्देशित दिए हैं। सभी जगह धान सुरक्षित है। बेमौसम बारिश के चलते फिलहाल कुछ दिनों तक खरीदी प्रभावित रह सकती है। मौसम साफ होते ही पुन: खरीदी होगी।
अश्वनी पांडेय, नोडल अधिकारी

ट्रेंडिंग वीडियो