रिश्वत लेते महिला सुपरवाईजर गिरफ्तार, एसीबी टीम को देख​ते ही छूटे पसीने, पानी तक नहीं पिया

abdul bari | Publish: Jun, 26 2019 07:27:43 PM (IST) | Updated: Jun, 27 2019 01:57:10 AM (IST) Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India

( acb action in jhalawar ) महिला सुपरवाईजर कैलाश बाई टेलर को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो झालावाड़ की टीम ने 8 हजार रुपए के साथ बुधवार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। अकलेरा में पर्यवेक्षक पद पर तैनात कैलाश बाई टेलर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से 15 प्रतिशत कमीशन के नाम पर रिश्वत लेती थी।

झालावाड़.
महिला बाल विकास विभाग ( Women and Child Development Department ) अकलेरा में महिला सुपरवाईजर कैलाश बाई टेलर को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो झालावाड़ ( ACB action in jhalawar ) की टीम ने 8 हजार रुपए के साथ बुधवार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग अकलेरा में पर्यवेक्षक पद पर तैनात कैलाश बाई टेलर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से 15 प्रतिशत कमीशन के नाम पर रिश्वत लेती थी।

बुधवार को हाउसिंग बोर्ड साईनाथपुरम स्थित उसके निजी आवास 54 साइनाथपुरम पर ट्रेप की कार्रवाई की गई। इस दौरान महिला के घर से आठ रुपए बरामद कर हाथ धुलवाए इस पर हाथों व पैसे का रंग गुलाबी हो गया।


20 प्रतिशत कमीशन की राशि के साथ किया गिरफ्तार-
एसीबी ( ACB ) के एएसपी भवानीशंकर मीणा ने बताया कि अकलेरा पंचायत समिति की गेहूंखेडी ग्राम पंचायत के भरतपुरा केन्द्र केन्द्र पर तैनात परिवादिया संगीता बाई ने बताया कि समूह के खाते में डाले गए पोषाहार के 5 माह की राशि 45548 रुपए की 20 प्रतिशत राशि की मांग कर 8 हजार रुपए रिश्वत के रुप में प्राप्त किए। जिसे बुधवार को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।


अधिकारियों के नाम भी आए सामने-
एएसपी मीणा ने बताया कि परिवादिया ने दिए शिकायत पत्र में बताया कि महिला एवं बालविकास अधिकारी कैलाश मीणा एव उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास डॉ. जीएम सय्यद को रिश्वत के रुपए नहीं पहुंचने पर नोटिस दिलवाना व बार-बार बुलाकर परेशान करने की बात की। एसीबी की टीम ने आरोपियों से सत्यापन के वक्त परिवादिया की वार्ता के दौरान उक्त अधिकारियों को भी पैसे पहुंचाने की बात बताई है। परिवादिया द्वारा एसीबी में 15 जून को ही शिकायत दी थी, तभी से कार्रवाई की तैयारी चल रही थी। 26 जून को महिला सुपरवाईजर ने फरियादिया को घर पर ही बुलाया जहां टीम भी मौका पर पहुंच गई।


इस संबंध में घर की ली तलाशी-
एसीबी की टीम के मुख्य आरक्षक गोपाल लाल, वरिष्ठ सहायकप्रमेश कुमार, कानिस्टेबल मो. आफाक, व सूरजमल आदि ने आरोपी कैलाश बाई के घर के कमरे में फर्श पर बिछे गद्दे के ऊपर बिछी चादर के उपर से बरामद किए, जिसके पास कैलाश बाई टेलर बैठी हुई थी। टीम द्वारा कार्रवाई 2.15 बजे से शाम तक जारी रही। कार्रवाई में महिला हैड कानिस्टेबल सुशीला, कानिस्टेबल सुमन भी साथ रही। टीम ने घर की आलमारी सहित सामानों की तलाशी ली। सबकुछ मैं ही हूं,

जो चलता हमसे ही चलता है-

परियादिया ने बताया कि सुपरवाईजर पहले तो 70 फीसदी मांग रही थी, बाद में 40 पर आई लेकिन मैंने कहा कि मेडम ये तो बहुत ज्यादा है। इस पर 20 फीसदी पर सौदा तय हुआ। टेलर ऐसे दो साल से पैसे मांग रही थी, लेकिन मेरी स्थिति ऐसी नहीं थी, बच्चों को पोषाहार खिलाएं या इन्हे पैसे देंवे। दो साल से पैसे मांग रही थी, लेकिन नहीं देने पर एक बार तो दो माह का वेतन काट लिया और एक बार तीन माह केन्द्र बंद बता दिया। ऐसे सभी सेंटर से लेती है। परिवादिया ने बताया कि किस से शिकायत करें सभी मिले हुए हैं। कोई शिकायत करते है तो सुपरवाईजर कहती है कि जो चलता है वह हम से ही चलता है, हम से ही बंद होता है, ऐसे मेें शिकायत किस से करें।


कार्रवाई के दौरान पसीने-पसीने हो गई टेलर-
जब एसीबी की टीम के बारे में महिला सुपरवाईजर कैलाश बाई टेलर को पता चला तो वह पसीने-पसीने हो गई, जब परिजन पानी लेकर आए तो पानी भी नहीं पीया। एसीबी की टीम अधिकारियों के भी नाम सामने आने के बाद आगे अन्य लोगों से भी पूछताछ करेगी।

 

यह खबरें भी पढ़े..


गजब का हौसला.. रात 1 बजे दिया नन्हीं परी को जन्म, सुबह दी बीएड की परीक्षा

नहीं खोला अस्पताल का दरवाजा.. आखिर, तड़पती प्रसूता ने अस्पताल के बाहर दिया बच्चे को जन्म

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned