script शेखसर के जवान मनोज का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार, ड्यूटी के दौरान बिगड़ी थी तबीयत | Shekhsar Soldier Manoj Kumar Dudi Was Cremated With State Honours In Jhunjhunu | Patrika News

शेखसर के जवान मनोज का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार, ड्यूटी के दौरान बिगड़ी थी तबीयत

locationझुंझुनूPublished: Dec 09, 2023 02:19:20 pm

Submitted by:

Nupur Sharma

शेखसर के जवान मनोज कुमार डूडी का शुक्रवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। नासिक के देवलाली में सेना में डयूटी के दौरान तबीयत बिगड़ने से उनका निधन हो गया। जवान की पार्थिव देह दोपहर को गांव पहुंची।

shekhsar_soldier_manoj_kumar_dudi_.jpg

शेखसर के जवान मनोज कुमार डूडी का शुक्रवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। नासिक के देवलाली में सेना में डयूटी के दौरान तबीयत बिगड़ने से उनका निधन हो गया। जवान की पार्थिव देह दोपहर को गांव पहुंची। इस दौरान सैकड़ों युवाओं ने बाइक और डीजे पर तिरंगा यात्रा निकाली और भारत माता की जय और मनोज अमर रहे के नारे लगाए। हवलदार मनोज की चिता को पुत्र दिनेश और नवनीत ने मुखाग्नि दी। साथ आए जवानों ने सलामी दी। पार्थिव देह लेकर पहुंचे सेना में सूबेदार अनिल कुमार ने बताया कि हवलदार मनोज की डयूटी के दौरान तबीयत खराब होने अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां उपचार के दौरान उनका निधन हो गया।

अंतिम यात्रा में मंडावा प्रधान शारदा देवठिया, पालिकाध्यक्ष नरेश सोनी, पूर्व चैयरमैन सज्जन मिश्रा, विशम्भर पूनिया, पूर्व सरपंच हरीराम कुमास, राहुल कुमार समेत सैकड़ों की संख्या में युवा व ग्रामीण शामिल हुए।

यह भी पढ़ें

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड: शूटरों की मिली आखिरी लोकेशन, तलाश में जुटी दिल्ली क्राइम ब्रांच और पंजाब की एंटी गैंगस्टर टास्क

एएमसी मेडिकल कोर-159 में तैनात थे
मनोज कुमार नासिक में भारतीय सेना की एएमसी मेडिकल कोर 159 बटालियन में कार्यरत थे। 2 जुलाई 1982 को जन्मे डूडी 23 अक्टूबर 2004 को भारतीय सेना में भर्ती हुए। वर्तमान में हवलदार की पोस्ट पर तैनात थे। मनोज के पिता भी सेना रह चुके हैं और माता संतोष देवी गृहिणी है। एक बड़ा भाई व एक छोटी बहन है। मनोज का विवाह इस्लामपुर की कमलेश के साथ हुआ था। इनके दो पुत्र दिनेश कुमार और नवनीत कुमार है। दोनों सेना में जाने के लिए तैयारी कर रहे हैं।

दो नवंबर को ही गए थे ड्यूटी पर
परिजन ने बताया कि मनोज 2 नवम्बर को ही 15 दिन की छुट्टी बीता कर डयूटी पर गए थे। 06 दिसंबर को उनकी घरवालों से फोन पर बात हुई थी।

ट्रेंडिंग वीडियो