UPSC CSE 2019: सोशल मीडिया पर चल रही भ्रामक सूचनाओं को लेकर यूपीएससी ने जारी किया अहम नोटिस

UPSC CSE 2019 : रिजर्व लिस्ट को लेकर सोशल मीडिया चली रही सूचनाओं पर यूपीएससी ने जारी किया महत्वपूर्ण नोटिस

By: Pratibha Tripathi

Published: 27 Apr 2021, 09:54 PM IST

UPSC CSE 2019 : संघ लोक सेवा आयोग की ओर से सिविल सेवा परीक्षा (CSE) 2019 की रिजर्वेशन लिस्ट बनाने को लेकर एक नोटिस जारी किया है क्योकि इसके लिए सोशल मीडिया पर तरह तरह की भ्रामक सूचनाओं काफी समय से चल रही थी। जिसको लेकर यूपीएससी ने अहम नोटिस जारी करके अभ्यर्थियों के मन संदेह को दूर करने का प्रयास किया है।

Read More:- PGIMER Research Fellow Result 2021: प्रोजेक्ट रिसर्च फेलो पोस्ट परिणाम हुए जारी, यहां से करें चेक

आयोग ने नोटिस जारी करते हुए कहा है कि सिविल सेवा परीक्षा 2019 में भाग लेने वाले अभ्यर्थियों के मन में किसी भी तरह का संदेह पैदा ना हो इसके लिए आयोग की ओर आधिकारिक बयान जारी किया जा रहा है। इसके लिए यह देखना काफी जरूरी है कि आयोग सख्ती के साथ परीक्षा के उन नियमों का पालन कर रहा है जो भारत सरकार ने सिविल सेवा परीक्षा को लेकर गैजेट नोटिफिकेशन के जरिए नियम बनाए थे।

Read More:- INI CET PG 2021 entrance exam postponed: कोविड-19 के चलते INI CET PG 2021 प्रवेश परीक्षा हुई स्थगित, डिटेल्स यहां से करें चेक

इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा के लिए आयोग विभिन्न सेवाओं के लिए विभिन्न वर्गों से आने वाले अभ्यर्थियों की नियुक्ति की अनुशंसा करता है। मेन रिजल्ट जारी होने के बाद अनारक्षित श्रेणी में से शेड्यूल कास्ट , शेड्यूल ट्राइब और बैकवर्ड क्लासे व ईडब्ल्यूएस को घटाता है। इस प्रक्रिया के दौरान उन्ही छात्रों का चयन किया जाता है जो मेरिट लिस्ट में सबसे ऊपर आते है। इसके लिए किसी भी तरह की कोई राहत नहीं दी जाती।

मेन रिजल्ट के बाद चयनित किए गए अभ्यर्थियों की लिस्ट भी सरकार के गैजेट नोटिफिकेशन 2019 के अनुसार किया जाता है। इसी तरह की प्रक्रिया से गुजरने के बाद ही पारदर्शी तरीके से सभी वर्गों के अभ्यर्थियों को बराबर अवसर प्रदान किया जाता है आगे आप यूपीएससी का यह पूरा नोटिस देख सकते हैं

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned