scriptThe engagement was broken due to injury, now the court has given this | hight court decision चोट लगने पर टूटी थी सगाई, अब कोर्ट ने सुनाया यह फैसला | Patrika News

hight court decision चोट लगने पर टूटी थी सगाई, अब कोर्ट ने सुनाया यह फैसला

hight court decision एक युवती के चोट लग गई। इस कारण सगाई तोड़ने का भी आरोप मंगेतर पर लगाया। साथ ही यौन शोषण का भी आरोप लगा। इसके बाद मंगेतर ने दूसरी युवती से शादी कर ली तो पहली युवती ने मामला दर्ज कराया। इस पूरे प्रकरण के बाद कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। कोर्ट का कहना है कि अनुसंधान के आधार पर प्रताडि़त नहीं किया जाए।

जोधपुर

Published: April 22, 2022 07:44:43 pm

जोधपुर। राजस्थान हाईकोर्ट highcourt ने एक युवती द्वारा दर्ज करवाए गए दुष्कर्म के मामले में परिस्थितियों को देखते हुए आरोपी की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए कहा कि अनुसंधान की आड़ में उसे प्रताडि़त नहीं किया जाए।
न्यायाधीश दिनेश मेहता की एकल पीठ में याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी करते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता रवि भंसाली एवं अधिवक्ता मोहित सिंघवी ने कहा कि प्रथम दृष्टया युवती ने याची को सामाजिक व मानसिक चोट पहुंचाने के तहत झूठा मामला दर्ज करवाया है। ऐसे में याची को बतौर आरोपी न्यायिक हिरासत एवं पूछताछ के लिए तलब करना न्यायसंगत नहीं है।
hight court decision चोट लगने पर टूटी थी सगाई, अब कोर्ट ने सुनाया यह फैसला
hight court decision चोट लगने पर टूटी थी सगाई, अब कोर्ट ने सुनाया यह फैसला
यह था पूरा मामला-खबर विस्तार से यहां पढ़े...Rape युवती के कमर दर्द हुआ तो मंगेतर ने तोड़ दी सगाई

भंसाली ने कहा कि याचिकाकर्ता और शिकायतकर्ता की शादी 18 जुलाई, 2021 को होनी थी, जो चोट लगने के कारण स्थगित हो गई। इसके बाद कुछ मतभेद सामने आए। याचिकाकर्ता ने हाल ही 19 अप्रैल, 2022 को एक अन्य लडक़ी से शादी की है। इस बात से नाराज होकर शिकायतकर्ता ने 18 अप्रैल को याचिकाकर्ता को परेशान करने और उसके विवाहित जीवन को नष्ट करने की दृष्टि से प्राथमिकी दर्ज करवाई है। प्राथमिकी में यौन उत्पीड़न के आरोप पूरी तरह से दुर्भावनापूर्ण हैं, क्योंकि जुलाई, 2021 में सगाई टूट गई थी, लेकिन आठ महीने तक शिकायतकर्ता ने कोई कदम नहीं उठाया।
....................................

पड़ोसी को मुक्के मारकर हत्या के आरोपी को 10 वर्ष का कठोर कारावास

जोधपुर.सात वर्ष पूर्व के प्रयास के आरोपी को जिला न्यायालय ने 10 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई। 17 मार्च 2015 को सत्तार खान ने सदर पुलिस थाने में रिपोर्ट देकर बताया कि उसके पुत्र शाहरुख को उसी मोहल्ले में रहने वाले अनीस ने मुक्कों से वार कर घायल कर दिया जिससे वह बेहोश हो गया,बेहोशी की हालत में उसे अस्पताल ले गए जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई ।पुलिस ने आरोपी को भारतीय दंड संहिता की धारा 302 तथा अन्य धाराओं में गिरफ्तार किया।अंतिम बहस के दौरान आरोपी के अधिवक्ता ने बचाव करते हुए कहा कि आरोपी का उद्देश्य मृतक को मारने का नहीं था।अपर लोक अभियोजक अनिलसिंह देवड़ा ने कड़ा विरोध किया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपर जिला सत्र न्यायाधीश संख्या दो प्रवीणकुमार मिश्रा ने 22 गवाहों तथा साक्ष्य के आधार पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 की बजाय 304 ए के तहत आरोप साबित मानते हुए अनीस खान पुत्र अख्तर खान को 10 वर्ष के कठोर कारावास तथा जुर्माने की सजा सुनाई। कोर्ट ने मृतक शाहरुख खान
के परिवार को राजस्थान पीड़ित प्रतिकर स्कीम 2011 के तहत आर्थिक सहयोग के लिए जिला विधिक प्राधिकरण को अनुशंसा भेजी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Azam Khan Release: दो साल बाद जेल से रिहा हुए आजम खान, दोनों बेटों ने किया रिसीव, शिवपाल भी पहुंचेGyanvapi Masjid Row: ज्ञानवापी मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, हिंदू-मुस्लिम पक्ष रखेंगे अपने-अपने तर्कExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंJammu Kashmir: रामबन में जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहा, 7 लोग फंसे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारीभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: नड्डा ने दिया एकजुटता का संदेश, आज पीएम मोदी बताएंगे जीत का फॉर्मूलाGood News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.