डॉ. रवीना से पहले हरियाणा की छोरी से शादी करना चाहते थे आईपीएस सुरेंद्र दास, मां को रिश्ता नापसंद था

डॉ. रवीना से पहले हरियाणा की छोरी से शादी करना चाहते थे आईपीएस सुरेंद्र दास, मां को रिश्ता नापसंद था

Alok Pandey | Publish: Sep, 10 2018 04:16:16 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर के काकादेव इलाके की रवीना को जीवनसंगिनी बनाने से पहले सुरेंद्र दास हरियाणा की लडक़ी से ब्याह रचाने के लिए तैयार थे। उस लडक़ी का नाम मोनिका था, लेकिन.....

कानपुर. पत्नी और परिवार के बीच उलझकर मौत को गले लगाने वाले कानपुर के एसपी-पूर्वी आईपीएस सुरेंद्र दास की जिंदगी के तमाम पहलू खुलकर सामने आने लगे हैं। कानपुर के काकादेव इलाके की रवीना को जीवनसंगिनी बनाने से पहले सुरेंद्र दास हरियाणा की लडक़ी से ब्याह रचाने के लिए तैयार थे। उस लडक़ी का नाम मोनिका था, लेकिन सुरेंद्र की मां इंदु को वह लडक़ी अच्छी नहीं लगी तो सुरेंद्र ने मां की इच्छा का सम्मान करते हुए मोनिका का ख्याल दिल से निकाल दिया। इसके बाद मेट्रीमोनियल साइट के जरिए सुरेंद्र दास और रवीना संपर्क में आए। सुरेंद्र दास की जिद पर उनके परिजन रिश्ता लेकर रवीना के घर गए थे। इसी के बाद लखनऊ के होटल रमाडा में 9 अप्रैल 2017 को सुरेंद्र दास और रवीना एक-दूसरे के जीवनसाथी बन गए।


हरियाणा की लडक़ी का नाम मोनिका, इंदु चाहती थीं संस्कारी बहू

खुदकुशी करने वाले आईपीएस सुरेंद्र दास के सगे बड़े भाई नरेंद्र दास के मुताबिक, आईपीएस बनने के बाद दुल्हन की तलाश शुरू हुई तो सुंदर और संस्कारी बहू नहीं मिलने पर मेट्रोमोनियल साइट का सहारा लेना पड़ा। इसी साइट के जरिए हरियाणा की मोनिका को सुरेंद्र ने पसंद किया। इसके बाद दोनों के बीच टेलीफोन पर बातचीत भी हुई थी। सुरेंद्र ने घरवालों के साथ मोनिका से मुलाकात कर बात को आगे बढ़ाया, लेकिन सुरेंद्र की मां इंदू ने मोनिका को नापसंद कर दिया था। दरअसल, इंदु के दिल में हरियाणा की लड़कियों की छवि दबंग जैसी बनी हुई थी। बहरहाल, मां की इच्छा के कारण सुरेंद्र ने मोनिका से शादी करने का इरादा छोड़ दिया।


फिर रवीना से हुई मुलाकात, चट मंगनी और पट ब्याह

मोनिका का किस्सा खत्म होने के बाद सुरेंद्र दास तथा परिजन मेट्रोमोनियल साइट को तलाशने में जुटे रहे। इसी दौरान सुरेंद्र ने साइट पर डॉ. रवीना का बायोडॉटा देखा। सुरेंद्र के कहने पर परिजन डॉ. रवीना के घर शादी का प्रस्ताव लेकर गए थे। तीन महीने तक उनके और डॉ.रवीना के परिवार में शादी को लेकर बातचीत चली थी। इसके बाद लखनऊ के कानपुर-लखनऊ हाई-वे पर स्थित होटल रमाडा में 9 अप्रैल 2017 को दोनों का ब्याह कर दिया गया। शादी के बाद रवीना का रवैया देखकर इंदु को बहुत अफसोस हुआ। वह एक भी दिन ससुराल में नहीं रुकी। होटल से विदा होकर एकता नगर स्थित ससुराल तो पहुंची, लेकिन देर शाम मायके लौट आई थी।

Ad Block is Banned