किसानों के लिए राहत की खबर... सब्सिडी का बीज 35 रुपए किलो में मिलेगा

किसानों के लिए राहत की खबर... सब्सिडी का बीज 35 रुपए किलो में मिलेगा

Suraksha Rajora | Updated: 24 Jun 2019, 08:58:39 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

kota news Good news राजस्थान राज्य बीज निगम ने अनुदानित बीज की दर जारी की

कोटा. कृषि विभाग और राजस्थान राज्य बीज निगम (Rajasthan State Seed Corporation) के बीच बीज पर दी जाने वाली सब्सिड़ी का विवाद आखिर सोमवार को सुलझ गया है। इसके बाद बीज निगम (Seed corporation) ने सोयाबीन के प्रमाणिक बीज की विक्रय दर 35 रुपए किलो तय कर दी है।

Read More: कतार में पसीना बहाया,धक्के खाए... फिर उम्मीद बंधी एडमिशन की, पुलिस ने संभाला मोर्चा

सोयाबीन के बीज का वितरण एक-दो दिन में शुरू हो जाएगा। बीज निगम ने अपने स्तर पर ही बीज उत्पादन कार्यक्रम के तहत सोयाबीन का बीज तैयार करवाया है। एक किसान को अधिकतम दो क्विंटल बीज दिया जाएगा।

Read More: हाथ की कारीगरी से खींच रहा था परिवार की गाड़ी, सीमलिया पुलिस ने घर में घुसकर हाथ ही तोड़ दिया..

 

बीज निगम की ओर से सोयाबीन के प्रमाणिक बीज की कुल कीमत 70 रुपए किलो (7000 रुपए प्रति क्विंटल) आंकी है। इस पर 35 रुपए प्रति किलो की दर से सब्सिडी मिलेगी। कोटा संभाग में 12350 क्विंटल अनुदानित बीज दिया जाएगा।

 

70 फीसदी तक बुवाई, खाद के स्टॉक का दावा

-कृषि कार्यों में जुटे धरतीपुत्र

रावतभाटा. एक सप्ताह पूर्व हुई बारिश के बाद उपखंड के कुण्डाल क्षेत्र को छोड़कर अन्य स्थानों पर धरतीपुत्र कृषि कार्यों में जुट गए हैं। कृषि विभाग ने करीब 18 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में खरीफ की बुवाई के अनुमानित लक्ष्य निर्धारित किए हैं। बोराव, जावदा, रावतभाटा व भैंसरोडगढ़ क्षेत्र के किसान इन दिनों खेतों में खरीफ की बुवाई में परिवार सहित जुटे हैं।

 

वहीं कई बड़े किसान मजदूरों की सहायता से बुवाई करा रहे हैं। अब तक मक्का, सोयाबीन, उड़द, ज्वार, मूंगफली, चावल, तिल्ली, मूंग, कपास की करीब 60 से 70 प्रतिशत तक बुवाई हो चुकी है।


सहायक कृषि अधिकारी धनपाल सिंह ने बताया कि बरसात की कमी के कारण कुण्डाल क्षेत्र में अभी बुवाई ने जोर नहीं पकड़ा। वहीं 18 जून को हुई बरसात के बाद रावतभाटा, बोराव, जावदा, भैंसरोडगढ़ क्षेत्र में बुवाई हो रही है। उन्होंने दावा किया कि सहकारी समितियों में यूरिया व डीएपी का पर्याप्त स्टॉक है। सहकारी समितियों व निजी दुकानों पर किसानों को मांग के अनुरूप यूरिया व डीएपी मिल रहा है। उन्होंने बताया कि अनुमानित लक्ष्य के आधार पर विभाग ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

खरीफ फसल अनुमानित लक्ष्य

मक्का- 7500 हैक्टेयर
सोयाबीन-3000 हैक्टेयर

उड़द- 3000 हैक्टेयर
ज्वार- 2500 हैक्टेयर

मूंगफली-700 हैक्टेयर
चावल-800 हैक्टेयर

तिल्ली-250 हैक्टेयर
मूंग-150 हैक्टेयर

कपास-75 हैक्टेयर
सब्जी/चारा-25 हैक्टेयर

(स्रोत-कृषि विभाग रावतभाटा)

 

 

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned