कोटा ट्रिपल आईटी का भवन 128 करोड़ में बनेगा

कोटा ट्रिपल आईटी में अब एडमिशन लेने के बाद कोर्स छोडऩे की स्थिति में केन्द्रीय सीट आवंटन बोर्ड और जोसा के दिशा निर्देशों के तहत फीस वापस नहीं की जाएगी। जयपुर में गुरुवार को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस प्रस्ताव को सहमति दी गई।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 29 Jul 2021, 11:55 PM IST

कोटा. मुख्य सचिव निरंजन आर्य की अध्यक्षता में गुरुवार को सचिवालय में भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपल आईटी) कोटा की वित्त समिति और गवर्निंग बॉडी की बैठक हुई। मुख्य सचिव ने बैठक में शैक्षणिक तथा अशैक्षणिक पदों पर भर्ती, नए पाठ्यक्रम, वर्ष 2021-22 के लिए बजट अनुमान के संबंध में चर्चा की और प्रस्तावों का अनुमोदन किया। संस्थान के निदेशक प्रो. उदय कुमार ने बताया कि ट्रिपल आईटी के भवन निर्माण के लिए लगभग 100 एकड़ भूमि ग्राम रानपुर में आवंटित की गई। कोटा कैंपस के निर्माण पर 128 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

ट्रिपल आईटी कोटा की वित्त समिति की यह तीसरी बैठक थी। मुख्य सचिव ने संस्थान के कोटा में स्थाई भवन के निर्माण के लिए वित्तीय की उपलब्धता तथा भवन निर्माण की प्रगति के बारे में जानकारी ली। बैठक में नए विद्यार्थियों की ओर से एडमिशन लेने के बाद कोर्स छोडऩे की स्थिति में केन्द्रीय सीट आवंटन बोर्ड और जोसा के दिशा निर्देशों के तहत फीस वापस नहीं करने पर सहमति दी गई। अकादमिक वर्ष 2021-22 में संस्थान द्वारा शुरू किए जा रहे नए एमटेक-पीएचडी कोर्सेज की फीस के प्रस्ताव का भी अनुमोदन किया गया। संस्थान के निदेशक प्रो. उदय कुमार ने बताया कि विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने के लिए कोर्सेज की फीस अन्य पीपीपी मोड पर संचालित ट्रिपल आईटी की तुलना में कम रखी गई है। उन्होंने बताया कि संस्थान के नियमित स्टाफ के लिए राष्ट्रीय पेंशन स्कीम स्वीकार कर ली गई है। पिछले कई सालों से कोटा ट्रिपल आईटी की कक्षाएं भवन के अभाव में कोटा में नहीं लग पा रही है। अभी जयपुर स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में कक्षाएं चल रही हैं।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned