Patrika Positive News: अंतिम यात्रा पर जब अपने छोड़ रहे साथ, टीम अभिषेक पूरे विधि-विधान से कर रही दाह संस्कार

Patrika Positive News: अभिषेक और उनके दोस्तों के मुताबिक हमलोगों की टीम मृतक को घर से लेकर श्मशान घाट तक पूरा विधि विधान से कार्यक्रम करने के बाद उन्हें सम्मानजनक विदाई दे कर अगले दिन उनकी अस्थि भी मां गोमती में प्रवाह करने का काम करती है। उन्होंने अपनी इस मुहिम का नाम -एक कोशिश एक प्रयास- मुहिम अंत्येष्टि दिया है।

लखनऊ. Patrika Positive News: राजधानी लखनऊ के राजाजीपुरम के निवासी अभिषेक और उनके दोस्तों को शायद ही ये पता होगा कि किस्मत उन्हें ऐसा कुछ करने का मौका देगी, जिससे न सिर्फ लखनऊ बल्कि पूरे यूपी में उनकी पहचान बन जाएगी। दरअसल अभिषेक और उनके दोस्त कोरोना के इस कठिन समय में लखनऊ की उन लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार करने का काम कर रहे हैं, जिनका या तो इस दुनिया में कोई नहीं है या फिर करोना के डर से अंतिम संस्कार करने कोई पहुंच नहीं पा रहा।

अप्रैल से शुरू की मुहिम

आपको बता दें कि अभिषेक और उनके दोस्तों ने इस अभियान की शुरुआत अप्रैल महीने में की थी। वह अपने एक दोस्त के पिताजी की अंत्येष्टि के लिए राजाजीपुरम के श्मशान घाट पर गए हुए थे। तभी श्मशान घाट के बाहर एक शख्स अपने बच्चे की डेड बॉडी लेकर रो रहा था। वह अपने बच्चे की अंत्येष्टि श्मशान घाट में भीड़ और दूसरी वजहों से नहीं कर पा रहे थे। उस नजारे को देखकर अभिषेक और उनके दोस्तों को काफी दुख हुआ और उन्होंने उस बच्चे का अंतिम संस्कार खुद से किया। उसके बाद उन्होंने जौनपुर की एक घटना के बारे में सोशल मीडिया से सुना जिसमें एक व्यक्ति अपनी पत्नी की लाश रिक्शे पर लेकर जा रहा था। इस घटना के बाद से अभिषेक और उनके पांच दोस्तों ने यह तय किया कि वह ऐसे लोगों की मदद करेंगे।

अब तक 15 शवों का किया अंतिम संस्कार

उनके इस काम की चर्चा सोशल मीडिया में शुरू हो गई। इसी के जरिए उन्हें संपर्क किया जाने लगा। धीरे-धीरे पूरे लखनऊ में उनके इस नेक काम की चर्चा और तारीफ होने लगी। अभिषेकके मुताबिक आज की तारीख में उन्हें लगातार इस बारे में फोन आते रहते हैं। कुछ उनसे मदद मांगते हैं जबकि कुछ उनकी इस कोशिश की प्रशंसा करते हैं। अभिषेक के मुताबिक वह अभी तक 15 डेड बॉडीज का अंतिम संस्कार कर चुके हैं।

मदद के लिए कोई भी इन नंबरों पर कर सकता हैं संपर्क

अभिषेक और उनके दोस्तों के मुताबिक हमलोगों की टीम मृतक को घर से लेकर श्मशान घाट तक पूरा विधि विधान से कार्यक्रम करने के बाद उन्हें सम्मानजनक विदाई दे कर अगले दिन उनकी अस्थि भी मां गोमती में प्रवाह करने का काम करती है। उन्होंने अपनी इस मुहिम का नाम -एक कोशिश एक प्रयास- मुहिम अंत्येष्टि दिया है। अभिषेक के मुताबिक 4-5 दोस्तों के साथ शुरू की गई इस मुहिम में अब और भी कई लोग शामिल हो गए है। उनकी टीम में करुनेश पाठक, अनिल मिश्रा, हिमांशु शुक्ला, विनीत दीक्षित, अतुल सिंह, सनी साहू, जय गुप्ता, रमेश त्रिपाठी और पीयूष पांडे शामिल हैं। अभिषेक ने बताया कि जरूरतमंद लोग उन्हें उनके नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। उनका और उनके दोस्तों के नंबर अभिषेक गुप्ता- 8887987566, करुनेश पाठक- 94531 39957, अनिल मिश्रा- 90448 07803 हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी में शिक्षकों के पांच हजार खाली पदों पर शुरू होगी भर्ती, जानें काउंसलिंग और मेरिट लिस्ट की पूरी जानकारी

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned