scriptMeritorious Students Honoured: मुख्यमंत्री से ड्रेस, जूते-मोजे, स्टेशनरी और स्कूल बैग पाकर बच्चों के चेहरे खिले | CM Yogi Adityanath felicitated meritorious students of state at Lok Bhawan. | Patrika News
लखनऊ

Meritorious Students Honoured: मुख्यमंत्री से ड्रेस, जूते-मोजे, स्टेशनरी और स्कूल बैग पाकर बच्चों के चेहरे खिले

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में प्रदेश के मेधावी छात्र-छात्राओं का किया सम्मान, छात्रों को सर्टिफिकेट, टैबलेट और एक लाख रुपए प्रदान किए।

लखनऊJun 29, 2024 / 04:16 pm

Ritesh Singh

Education Department

Education Department

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लोकभवन में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के मेधावी छात्र एवं छात्राओं को सम्मानित किया। साथ ही सीएम योगी ने ड्रेस, जूता-मोजा, स्वेटर, स्टेशनरी एवं स्कूल बैग की खरीद के लिए प्रति छात्र-छात्रा 1200 रुपए की धनराशि उनके माता/पिता/अभिभावक के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से अंतरण प्रक्रिया का भी शुभारंभ किया। इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि हम सभी की जिम्मेदारी बनती है कि कोई छात्र स्कूल से वंचित न रह जाए। हम अपनी इस जिम्मेदारी का निर्वहन करें, ये देश की सबसे बड़ी सेवा है। श्रीमद्भागवत गीता में तो किसी को शिक्षित करना सबसे पवित्र कार्य माना गया है।
Education Department
यह भी पढ़ें

1 जुलाई अखिलेश यादव का जन्मदिन, शहर में लगे पोस्टर, जानें क्या होगा खास 

उन्होंने शिक्षा विभाग से जुड़े शिक्षकों और अधिकारियों से कहा कि आप उस पवित्र कार्य से जुड़े हुए है। आपका आचरण एक शासकीय अधिकारी की तरह नहीं, बल्कि समाज के एक मार्गदर्शक के रूप में, एक शिक्षक के रूप में होना चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि हमारे विद्यालय इनोवेशन और रिसर्च के नए सेंटर के रूप में स्थापित हों, हमारे छात्र-छात्राओं के अंदर कठिन से कठिन चुनौतियों से जूझने का जज्बा हो, इसके लिए हम अपने आपको तैयार करें।

नई पीढ़ी के लिए रोल मॉडल हैं मेधावी छात्र

मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित करने के बाद सीएम योगी ने कहा कि सचमुच एक गुरु के लिए इससे बड़ी बात क्या हो सकती है कि जिसको उन्होंने गाइड किया वो देश में, प्रदेश में, जनपद में उच्च स्थान प्राप्त कर उन्हें गौरवान्वित कर रहे हैं। इन कार्यक्रमों के माध्यम से हम अपने प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को सम्मानित करते हुए नई पीढ़ी के सामने उन्हें रोल मॉडल के रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं कि अगर वो भी ऐसे ही परिश्रम करेंगे तो उन्हें भी सम्मान प्राप्त होगा।
Education Department
यह भी पढ़ें

दो हजार करोड़ से ‘UP’ में स्थापित होगा बायो प्लास्टिक पार्क, जानिए जिले का नाम 

सीएम योगी ने छात्र-छात्राओं को सफलता का मंत्र देते हुए कहा कि जीवन में किसी भी फील्ड में जाना हो याद रखना परिश्रम का कोई विकल्प नहीं हो सकता। जीवन में शॉर्टकट का रास्ता अपनाने वाला व्यक्ति कभी भी अपनी मंजिल को प्राप्त नहीं कर सकता। इसलिए जीवन में जितना कठिन परिश्रम कर सकते हैं, करना चाहिए। जिन छात्रों ने कठिन परिश्रम किया, मेरिट में उनका नाम आया। सफलता हमें ये भी बताती है कि हमने मंजिल पा ली है, हमारी दिशा सही है, हमें दिशा भ्रम में नहीं पड़ना है।

मेधावी छात्रों के नाम पर रखा जाएगा सड़क का नाम

सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा, उत्तर प्रदेश माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद, काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन नई दिल्ली और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड नई दिल्ली से जुड़े छात्र-छात्राओं को यहां सम्मानित किया गया है। हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की मेरिट में जगह बनाने वाले कुल छात्र-छात्राओं की संख्या 170 है, जिनमें छात्र 58 हैं और छात्राएं 112 हैं। ये सफलता बताती है कि बेटियों ने लंबी छलांग मारी है और बेटी पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है।
Education Department
यह भी पढ़ें

IAS Durga Shakti Nagpal: चर्चित IAS दुर्गा शक्ति नागपाल का बड़ा तबादला: बांदा से लखीमपुर खीरी भेजी गईं, जानें उनकी दिलचस्प कहानी 

 उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा की हाईस्कूल परीक्षा की मेरिट सूची में कुल 17 में 4 छात्र हैं और 13 छात्राएं हैं। इंटरमीडिएट की मेरिट लिस्ट में कुल 36 में से 14 छात्र हैं और 22 छात्राएं हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की हाईस्कूल परीक्षा की मेरिट लिस्ट में कुल 11 में से 2 छात्र एवं 9 छात्राएं सम्मिलित हैं। इंटरमीडिए में 11 की मेरिट लिस्ट में एक छात्र और 10 छात्राएं शामिल हैं।
यह भी पढ़ें
 

LDA Housing Scheme: लखनऊ को जल्द ही मिलेंगी चार नई आवासीय योजनाएं, LDA ने तैयार किया खाका, जानें इसके बारे में

सीबीएसई की 10वीं मेरिट सूची में प्रदेश के 26 छात्रों में 11 छात्र और 15 छात्राएं हैं। 10+2 में 22 में 3 छात्र और 19 छात्राएं हैं। आईसीएससी में 30 में 18 छात्र और 12 छात्राएं है, वहीं 10+2 में 17 में से 5 छात्र हैं और 12 छात्राएं हैं। इन सभी मेरिट में आने वाले छात्र-छात्राओं को सर्टिफिकेट, टैबलेट और एक लाख रुपए नगद उपलब्ध कराने का कार्य सरकार कर रही है। इसके साथ ही ये छात्र जिस गांव, मोहल्ले के होंगे वहां की सड़क का नामकरण इनके नाम पर या वहां की सड़क का निर्माण कार्य सरकार के स्तर पर होगा। विधायक और सांसद के साथ मिलकर इन्हीं के द्वारा इसका शिलान्यास भी कराया जाना चाहिए।

7 वर्ष से लगातार इनोवेशन को आगे बढ़ा रहा बेसिक शिक्षा परिषद

सीएम योगी ने कहा कि आज यहां पर बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा अनेक कार्यक्रमों का शुभारंभ किया गया। इनमें 88 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के खाते में 1200 रुपए प्रति छात्र भेजे गए हैं। बेसिक शिक्षा परिषद ने विगत 7 वर्ष में अनेक इनोवेशन को आगे बढ़ाया है। 2017 के पहले जैसे सरकार अंधकार में रहती थी, वैसे ही इन्होंने शिक्षा को भी अंधकार में ढकेलने का काम किया था। आज आप देख रहे हैं कि 12 दिन के अंदर शुचितापूर्ण तरीके से नकल विहीन परीक्षा संपन्न हुई है और 14 दिन के अंदर परिणाम भी आ गए। पहले तीन महीने में परीक्षा होती थी, तीन महीने परिणाम आने में लगते थे, तीन महीने एडमिशन में लगते थे और शेष तीन महीने पर्व और त्योहार में चले जाते थे और साल निकल जाता था।
Education Department
यह भी पढ़ें

Uttar Pradesh Monsoon Update 2024: राजधानी लखनऊ में बदला मौसम का मिजाज

उन्होंने कहा कि ऑपरेशन कायाकल्प के अगले चरण के कार्यक्रम को लेकर बेसिक शिक्षा परिषद ने नए कदम उठाए हैं, जिसमें पीएम श्री स्कूल के रूप में स्कूलों का आधुनिक स्वरूप भी हम सबको देखने को मिल रहा है। हमने 18 कमिश्नरी में 18 अटल आवासीय विद्यालय बनाए हैं। 57 नए सीएम कंपोजिट स्कूल हम लोग प्रदेश के अन्य जनपदों में शुरू करने जा रहे हैं। आज प्रदेश में निपुण भारत अभियान के अंतर्गत बेसिक शिक्षा विभाग ने एक लंबी छलांग लगाई है। साथ ही कस्तूरबा गांधी बालिका इंटर कॉलेज बालिकाओं के पढ़ने का एक नया प्लेटफॉर्म बना है। अब इन्हें कक्षा 9 से 12 में भी अपग्रेड किया गया।

Hindi News/ Lucknow / Meritorious Students Honoured: मुख्यमंत्री से ड्रेस, जूते-मोजे, स्टेशनरी और स्कूल बैग पाकर बच्चों के चेहरे खिले

ट्रेंडिंग वीडियो