वैक्सीन की डोज लेने के बाद डॉक्टर हुए कोविड पॉजिटिव, सकते में स्वास्थ्यकर्मी

यूपी में कोरोना वैक्सीन का डोज लगवाने के बाद कुछ स्वस्थ लोग अचानक ही बीमार पड़ जा रहे हैं।

By: Karishma Lalwani

Updated: 23 Mar 2021, 10:32 AM IST

लखनऊ. यूपी में कोरोना वैक्सीन का डोज लगवाने के बाद कुछ स्वस्थ लोग अचानक ही बीमार पड़ जा रहे हैं। सोमवार को राजधानी लखनऊ में ऐसा ही एक मामला सामने आया जहां कोविड का टीका लगवाने के बाद एक डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव हो गए। दरअसल सिविल अस्पताल के इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर नितिन मिश्रा ने बीते कुछ दिन पहले कोरोना वैक्सीनेशन कराया था। इसके बाद 21 मार्च को उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गयी। उन्होंने कोविड की पहली डोज फरवरी में और दूसरी डोज मार्च में ली थी। इसके कुछ दिन बाद उन्हें हल्का बुखार आया। टेस्ट करवाया तो कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव निकली।

हजरतगंज स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल हॉस्पिटल के डॉ. नितिन मिश्रा ने पहला डोज 15 फरवरी को और दूसरी दोस्त 16 मार्च को लगवाया था। इसके बाद जब 20 तारीख को हल्का बुखार आने के बाद कोविड-19 होने की आशंका हुई तो 20 मार्च को सैम्पल जांच के लिए भेजा गया। 21 मार्च को कोविड-19 की पॉजिटिव आने पर सिविल हॉस्पिटल के स्वास्थ्य कर्मियों सकते में आ गए। अब संपर्क में आने वाले लोगों का भी टेस्ट कराया जाएगा।

रिकवरी रेट 98 प्रतिशत

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के अनुसार यूपी में कोरोना रिकवरी रेट 98 प्रतिशत हो गया है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 542 मामले सामने आए हैं। जिसमें सक्रिय मामलों की संख्या 3396 है। जबकि संक्रमण से अब तक 8,760 लोगों की मृत्यु हुई है।

राजधानी में 147 नए केस

सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, राजधानी लखनऊ में 147 नए केस आए हैं। इससे शहर में कोविड से संक्रमण की स्थिति खतरनाक होने की संभावना जताई गई है। यूपी में बीते 24 घंटे के दौरान 542 नए केस सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें: कोरोनाः लखनऊ में तत्काल पुरानी व्यवस्था हुई लागू, डीएम ने जारी की नई गाइडलाइन्स, इन पर लगेगा प्रतिबंध

ये भी पढ़ें: यूपी के सभी जेलों में कैदियों को लगेगी कोरोना वैक्सीन, आदेश हुआ जारी

Corona virus
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned