मौसम विभाग का यूपी के इन जिलों में 9-11 जुलाई को भारी बारिश का अलर्ट

UP Weather Forecast - लखनऊ में आज से तीन दिनों तक बारिश के आसार
- गोरखपुर में बदला मौसम का मिजाज, गुरुवार सुबह से बारिश जारी
- बलिया, मऊ और आजमगढ़ में झमाझम बारिश शुरू
- पश्चिमी यूपी में मानसून 9 जुलाई से फिर से होगा सक्रिय

By: Mahendra Pratap

Updated: 08 Jul 2021, 11:25 AM IST

लखनऊ. Monsoon update 2021 यूपी में मौसम की हालात अब बदलने जा रही है। मौसम विभाग का अलर्ट है कि यूपी में तीन दिन लगातार जमकर बारिश होगी। तेज हवाओं के साथ आकाशीय बिजली के गिरने की चेतावनी भी जारी की गई है। राजधानी लखनऊ में उमस और गर्मी से जनता काफी परेशान है। गुरुवार सुबह से आसमान में बादल छाए हुए हैं। पूरी संभावना है कि देर शाम लखनऊ में बारिश हो जाए।

मौसम विभाग का यूपी के 11 जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी

जून में उम्मीद से अच्छी बारिश हुई पर जब से जुलाई माह शुरू हुआ है तब से बारिश लापता हो गई है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, आने वाले तीन दिन पश्चिमी और पूर्वी यूपी के अलग-अलग जिलों में भी गरज-चमक के साथ भारी बारिश हो सकती है। तापमान में आंशिक गिरावट दर्ज की जा सकती है।

मौसम विभाग पूर्वानुमान गुरुवार से लखनऊ में होगी बारिश (Lucknow Weather Update) :- मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार को लखनऊ के अलग-अलग इलाकों में अन्य दिनों की अपेक्षा तेज बारिश हो सकती है। गरज-चमक के साथ बादलों की आवाजाही दिनभर बनी रह सकती है। अगले तीन दिनों तक लगातार बारिश के आसार बन रहे हैं। अधिकतम तापमान 39 व न्यूनतम तापमान 28.2 डिग्री सेल्सियस रहा।

गोरखपुर में बदला मौसम का मिजाज, गुरुवार सुबह से बारिश :- गोरखपुर में गुरुवार सुबह झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि बारिश का यह सिलसिला अगले कई दिनों तक जारी रहेगा। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय ने कहाकि, राजस्थान के ऊपर कुछ वायुमंडलीय परिस्थितियां बनी हुई हैं। जिस वजह से गोरखपुर में बारिश हो रही है। राजस्थान में एक निम्न वायुदाब क्षेत्र बना है। उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड होते हुए बंगाल की खाड़ी तक इसका विस्तार हुआ है। इसके चलते पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर एक चक्रवाती हवा का क्षेत्र बना हुआ है।

बलिया, मऊ और आजमगढ़ में झमाझम बारिश :- पूर्वांचल के कई शहरों में मानसून ने लगता है एक बार फिर अपना मन बना लिया है। गुरुवार सुबह से बलिया, मऊ और आजमगढ़ सहित कई जिलों में या तो बारिश हो रही है या बादलों की सक्रियता बनी हुई है। वाराणसी के मौसम विज्ञानी बताते हैं कि, वातावरण में उमस घुली होने की वजह से पसीने की स्थिति है मगर इसमें बदलाव आएगा। वहीं मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल के उत्‍तर में लोकल हीटिंग वाले बादलों की अधिक सक्रियता बनी हुई है। इसका स्‍तर और व्‍यापक हुआ तो दोपहर तक बादलों की सघन सक्रियता का दौर आएगा।

पश्चिमी यूपी में मानसून शीघ्र होगा सक्रिय (Monsoon In Meerut NCR) :- पश्चिमी यूपी में मौसम विशेषज्ञों का अलर्ट है कि, पूर्वी हवा के चलने से यह बदलाव आया है। यह मानसून के फिर से सक्रिय होने का अच्छा संकेत है। 10 जुलाई तक गर्मी बने रहने की संभावना है। गुरुवार शाम तक बादलों के आने और हवाओं के चलने से मौसम का मिजाज बदलेगा।

10 जुलाई तक मानसून की बाधा दूर होने के आसार : डा. यूपी शाही

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि, गुरुवार शाम से मौसम में बदलाव होगा, ठंड़ी हवाएं चलने की उम्‍मीद है, यह नौ और दस जुलाई तक जारी रहेगी। मौसम विभाग का कहना है कि, बंगाल की खाड़ी में बढ़ रहे निम्‍न दाब से मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है। मानसून एक बार फिर सक्रिय होगा और तेज हवा के साथ बारिश भी खूब होगी। जिसका असर दिल्‍ली एनसीआर समेत पूरे उत्‍तर भारत में देखा जा सकता है। सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय के मौसम केंद्र के प्रभारी डा. यूपी शाही ने बताया कि, 10 जुलाई तक मानसून की बाधा दूर होने के आसार हैं। इस बीच तीन-चार दिनों तक रुक-रुक कर बौछारें पड़ सकती हैं।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned