मायावती का बहुत बड़ा एक्शन, इस विधायक को किया बसपा से निष्कासित, किया था यह कृत्य

मायावती का बहुत बड़ा एक्शन, इस विधायक को किया बसपा से निष्कासित, किया था यह कृत्य
Mayawati

Abhishek Gupta | Publish: Jul, 23 2019 10:46:26 PM (IST) | Updated: Jul, 24 2019 03:39:29 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बहुजन समाद पार्टी (Bahujan Samaj Party) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने पार्टी के विधायक के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हुए उन्हें निष्कासित कर दिया है।

लखनऊ. बहुजन समाद पार्टी (Bahujan Samaj Party) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने पार्टी के विधायक के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हुए उन्हें निष्कासित कर दिया है। मामला कर्नाटक विधानसभा (Karnataka Vidhan Sabha) में कांग्रेस-जेडीएस (Congress-JDS) सरकार के पक्ष में वोट करने से जुड़ा है। और बसपा के विधायक एन. महेश (N Mahesh) ने बसपा सुप्रीमो के निर्देशों की अनदेखी की है। इसके चलते उन्हें तत्काल प्रभाव से मायावती ने खुद पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

ये भी पढ़ें- अखिलेश यादव को लगा तगड़ा झटाका, पहली बार फंसे अपनी ही बात में, भाजपा सांसद ने सबके सामने पकड़ा झूठ

मायावती ने खुद कही यह बात-

मायावती ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इस कार्रवाई की जानकारी देते हुए लिखा, कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार के समर्थन में वोट देने के पार्टी हाईकमान के निर्देश का उल्लंघन करके बीएसपी विधायक एन महेश आज विश्वास मत में अनुपस्थित रहे, जो अनुशासनहीनता है जिसे पार्टी ने अति गंभीरता से लिया है। इसलिए महेश को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया गया।

ये भी पढ़ें- सिर्फ अखिलेश ही नहीं, बसपा महासचिव समेत यूपी के इन नेता व मंत्रियों की भी सुरक्षा घटी, देखें पूरी लिस्ट

यह था मामला-

दरअसल बसपा मुखिया ने कर्नाटक में सरकार के विश्वास मत के लिए बसपा के विधायक एन महेश को सीएम एचडी कुमारस्वामी की सरकार के पक्ष में मतदान करने के निर्देश दिए थे। लेकिन मायावती के निर्देशों की अवहेलना करते हुए महेश सदन से गायब रहे। आपको बता दें आज कर्नाटक की सरकार गिर गई। सदन में हुए मतदान के दौरान कुमारस्वामी की सरकार विश्वास मत में पिछड़ गई। सरकार के पक्ष में 99 तो वहीं विरोध में 105 वोट डाले गए हैं। सोमवार को ही बसपा विधायक ने कहा था कि मायावती ने उन्हें विश्वास मत के दौरान सदन में उपस्थित रहने के निर्देश दिए हैं। लेकिन महेश के इस कदम से वहां कर्नाटक सरकार को झटका लगा है। वह पहले से ही अल्पमत में आ चुकी थी।

ये भी पढ़ें- सपा नेता व उनकी जिला पंचायत सदस्य पत्नी भाजपा में शामिल, भाजपाई हुए नाखुश, बैठे धरने पर

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned