Muharram 2021: मुहर्रम 2021 Massages, Quotes, Images, Facebook Whatsapp status

Muharram 2021: माह ए मुहर्रम 2021 शुरू हो चुका है और इसके साथ ही इस्लामिक साल हिजरी सन 1443 की शुरुआत हो चुकी है। ये इस्लामिक नव वर्ष भी है, हालांकि इसे गम का महीना कहा जाता है। इसी महीने में हजरत इमाम हुसैन और उनके 72 साथी कर्बला में इस्लाम और इंसानियत की खातिर शहीद हो गए थे। मुहर्रम के दिनों में लोग एक दूसरे को मुहर्रम के मैसेज, कोट्स भेज रहे हैं। मुहर्रम व्हाट्सऐप स्टेटस, डीपी और फेसबुक प्रोफाइल बना रहे हैं। मुहर्रम की फोटो भी खूब शेयर हो रही है।

Muharram 2021:मुहर्रम से इस्लामिक कैलेंडर साल की शुरआत होती है। यह हिजरी सन का पहला महीना है। 11 अगस्त 2021 से इस्लामिक साल हिजरी सन 1443 शुरू हो गया है। इस्लाम में रमजान के बाद मुहर्रम दूसरा सबसे पवित्र महीना माना जाता है। मुहर्रम इस्लामिक हिजरी साल का नव वर्ष भी है। हालांकि इसे गम का महीना कहा जाता है। इसी महीने में हजरत इमााम हुसैन और उनके 72 साथी कर्बला में इस्लाम और इंसानियत के लिये शहीद हो गए थे। इमाम हुसैन व साथियों की शहादत 10 वीं मुहर्रम यानि आशूरा के दिन हुई थी। इसे शिया सुन्नी दोनों अपनी-अपनी तरह से मनाते हैं।

 

Muharram 2021: मुहर्रम कोई त्योहार नहीं है। इस्लाम में सिर्फ दो त्योहार हैं ईद और बकरीद। कहा जाता है कि कर्बला की घटना से पहले मुहर्रम पर लोग इस्लामिक नए साल की खुशियां मनाते थे और एक दूसरे को बधाई भी दी जाती थी। पर कर्बला में पैगंबरे इस्लाम के नाती इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शहादत के बाद। ये परंपरा खुद बखुद इसलिये बंद हो गई क्योंकि इमाम हुसैन का गम बड़ा है। शिया समुदाय इसे याद करके मातम करता है। धारदार चीजों से सीना पीटकर भी मातम किया जाता है। बड़ी संख्या में ताजिया भी निकाले जाते हैं। बहुत स मुस्लिम सवाब (पुण्य) के लिये मुहर्रम में रोजा भी रखते हैं।

 

Happy Muharram Wishes 2021: जानकारी के अभाव में कुछ लोग 'मुहर्रम मुबारक' भी कह देते हैं। पर गम का महीना होने के नाते अमूमन ऐसा कहा नहीं जाता। मुहर्रम पर लोग कर्बला की दुख भरी शायरी, नौहे, मर्सिया आदि शेयर करते हैं। काले या हरे झंडे, हजरत अली के रौजे या फिर प्रतीकात्मक दुलदुल (इमाम हुसैन का घोड़ा) की तस्वीरें शेयर करते हैं।


Muharram Best Wishes in Hind

न जाने क्यों मेरी आंखों में आ गए आंसू
सिखा रहा था मैं बच्चेे को कर्बला लिखना

 

किस शेर की आमद है कि रन काँप रहा है

रुस्तम का जिगर ज़ेर-ए-कफ़न काँप रहा है


क्या सिर्फ मुसलमान के प्यारे हैं हुसैन
चरखे नौ ए बशर के तारे हैं हुसैन
इनसान को बेदार तो हो लेने दो
हर कौम पुकारेगी हमारे हैं हुसैन

 

गुरूर टूट गया कोई मरतबा (सम्मान) न मिला
सितम के बाद भी कुछ हासिले जफा (दुश्मनी) न मिला
सरे हुसैन मिला है यजीद को लेकिन
शिकस्त (हार) ये है कि फिर भी झुका हुआ न मिला

 

अजब ही शान है देखो हुसैनी लश्कर की
कहां से ढूंढ के लाएं मिसाल असगर की
सितारा फज्र का अब भी उदास रहता है
सुनाई देती है अब भी असान अकबर की

 

जन्नत की आरजू में कहां जा रहे हैं लोे
जन्नत तो कर्बला में खरीदी हुसैन ने
दुनिया ओ आखिरत में जो रहना हो चैन से
जीना अली से सीखो मरना हुसैन से


Happy Muharram Quotes 2021
कत्ले हुसैन असल में मर्गे यजीद है
इस्लाम जिंदा होता है हर करबला के बाद

 

मिट्टी में मिल गया था इरादा यजीद का
लहरा रहा है परचम अब भी हुसैन का

 

मेरी खुशियों का सफर गम से शुरू होता है
मेरा हर साल मुहर्रम से शुरू होता है

 

एक पल की थी हुकूमत यज़ीद की

सदियाँ हुसैन की हैं ज़माना हुसैन का


Muharram Status for facebook and Whatsapp
दूसरों के महल में गुलामी से बेहतर है कि इंसान अपनी झोंपड़ी में हुकूमत करे


जन्नत के मुंतजिर न रहो, बल्कि ऐसे बनो कि जन्नत तुम्हारी मुंतजिर रहे


दुनिया तुम्हें उस वक्त तक नहीं हरा सकती, जब तक कि तुम खुद से न हार जाओ

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned