बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह गिरफ्तारी वारंट जारी होते ही अंडर ग्राउंड, पुलिस संभावित ठिकानों पर दे रही दबिश

पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhanjay Singh) की गिरफ्तारी के लिए पुलिस सभी संभावित जिलों में तलाश कर रही है। धनंजय सिंह गिरफ्तारी वारंट जारी होते ही अंडर ग्राउंड हो गए हैं।

By: Karishma Lalwani

Published: 22 Feb 2021, 12:19 PM IST

लखनऊ. पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhanjay Singh) की गिरफ्तारी के लिए पुलिस सभी संभावित जिलों में तलाश कर रही है। धनंजय सिंह गिरफ्तारी वारंट जारी होते ही अंडर ग्राउंड हो गए हैं। ऐसे में उनका कोई सुराग न मिलने पर पुलिस लगभग हर जिले में उनकी तलाश कर रही है। दूसरी ओर, धनंजय के वकील गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रहे हैं।

संभावित ठिकानों पर दबिश

पुलिस टीम धनंजय के करीबियों की सूची तैयार कर रही है। उन ठिकानों के बारे में पता लगाया जा रहा है जहां धनंजय सिंह के छिपे होने की आशंका है। इस संबंध में रविवार को लखनऊ पुलिस ने जौनपुर पुलिस से संपर्क किया और संभावित ठिकानों पर दबिश दी। क्राइम ब्रांच और विभूति खंड थाने की पुलिस की टीमें धनंजय को गिरफ्तार करने के लिए गठित की गई हैं। उधर, दिल्ली के न्यायालय में दी गई एक अर्जी पर कोर्ट ने तिहाड़ जेल के अधीक्षक से एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट तलब की है, जिसमें गिरधारी उर्फ डॉक्टर की सुरक्षा से संबंधित आख्या के बारे में जानकारी मांगी गई है।

गौरतलब है कि छह जनवरी को अजीत सिंह की विभूति खंड के कठौता चौराहे पर गैंगवार में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अजीत आजमगढ़ के पूर्व विधायक सर्वेश सिंह हत्याकांड में गवाह थे। इस मामले में आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह, बरेली जेल में बंद अखंड और एक लाख के इनामी गिरधारी को नामजद किया गया था। इनमें से गिरधारी की पुलिस मुठभेड़ में मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें: भारत सरकार की आवासीय योजना के अंतर्गत अयोध्या में बनेगा 'कौशल्या सदन', निराश्रित महिलाओं और बच्चों को मिलेगा सहारा

ये भी पढ़ें: होली पर टिकटों की नहीं होगी दिक्कत, रेलवे ने शुरू की 35 नई पैसेंजर ट्रेनें

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned