Patrika Breaking: गोमती रिवर फ्रंट घोटाला, रूप सिंह यादव और राजकुमार यादव 24 घंटे की कस्टडी रिमांड पर, सीबीआई करेगी पूछताछ

रिवर फ्रंट घोटाले में चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव और राजकुमार यादव को 24 घंटे के लिए सीबीआई रिमांड पर भेजा गया है।

By: Karishma Lalwani

Published: 21 Nov 2020, 11:10 AM IST

लखनऊ. रिवर फ्रंट घोटाले में चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव और राजकुमार यादव को 24 घंटे के लिए सीबीआई रिमांड पर भेजा गया है। सीबीआई दोनों से अपनी कस्टडी में पूछताछ करेगी। इससे पहले सीबीआई ने शुक्रवार को सिंचाई विभाग के तत्कालीन चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव और राजकुमार यादव को गिरफ्तार किया था। दरअसल, रिवर फ्रंट घोटाले में सीबीआई इस बात की जांच कर रही है कि प्रजोक्ट के तहत निर्धारित कार्य पूरा कराए बगैर ही स्वीकृत बजट की 95 प्रतिशत राशि कैसे खर्च हो गई। प्रारंभिक जांच में यह सामने आया था कि गोमती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट की कुल अनुमानित लागत 1513 करोड़ रुपये थी, जिसमें 1437 करोड़ रुपए खर्च हो जाने के बाद भी 60 फीसदी काम पूरा नहीं हो पाया था। इसके साथ ही यह भी आरोप है कि जिस कंपनी को रिवर फ्रंट डेवलप्मेंट का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था, वह पहले से डिफॉल्टर घोषित थी।

यूपी में भाजपा की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोमती रिवर फ्रंट घोटाले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से केंद्र सरकार को रिवर फ्रंट घोटाले में न्यायिक जांच समिति की रिपोर्ट, गोमतीनगर थाने में दर्ज एफआईआर की कॉपी और अन्य दस्तावेज भेजे गए थे। इसके आधार पर केंद्र ने सीबीआई को जांच सौंप दी थी। हालांकि, सीबीआई की जांच से पहले योगी सरकार ने मामले की न्यायिक जांच कराई थी।

धोखाधड़ी सहित अन्य मुकदमों में केस दर्ज

इलाहाबाद हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त जज न्यायमूर्ति आलोक सिंह की अध्यक्षता में गठित समिति ने जांच में दोषी पाए गए इंजीनियरों व अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराए जाने की सिफारिश की थी। 19 जून, 2017 को सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता डॉ. अंबुज द्विवेदी ने गोमतीनगर थाने में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराई थी। 30 नवंबर, 2017 को रिवर फ्रंट घोटाले मामले में नया मुकदमा दर्ज किया गया था।

नए मुकदमे में सिंचाई विभाग के तत्कालीन मुख्य अभियंता (अब सेवानिवृत्त) गुलेश चंद, एसएन शर्मा व काजिम अली, तत्कालीन अधीक्षण अभियंता (अब सेवानिवृत्त) शिव मंगल यादव, अखिल रमन, कमलेश्वर सिंह व रूप सिंह यादव व अधिशासी अभियंता सुरेश यादव नामजद हैं।

ये भी पढ़ें: Patrika Breaking: बिकरू गोलीकांड में 37 पुलिसकर्मी दोषी, गृह विभाग ने डीजीपी से 37 के खिलाफ की एक्शन लेने की सिफारिश

ये भी पढ़ें: Patrika Breaking: बढ़ रहा जहरीली शराब का कहर, दो घंटे में 6 और लोगों की मौत, 8 की हालत नाजुक

Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned