समूह 'ग' के लिए प्री टेस्ट, जानें क्या कुछ अलग होगा PET में

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए बड़ी खबर है। परीक्षा में बड़े स्तर पर बदलाव हुए हैं। समूह 'ग' की भर्ती परीक्षा में बदलाव हुआ है। यूपीएसएससी अब समूह 'ग' की दो स्तरीय परीक्षा कराएगा।

By: Karishma Lalwani

Published: 22 Nov 2020, 12:58 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए बड़ी खबर है। परीक्षा में बड़े स्तर पर बदलाव हुए हैं। समूह 'ग' की भर्ती परीक्षा में बदलाव हुआ है। यूपीएसएसएससी अब समूह 'ग' की दो स्तरीय परीक्षा कराएगा। यानी की प्री परीक्षा पास करने के बाद ही अभ्यर्थी पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्री टेस्ट की अवधि एक साल होगी। टेस्ट पास करने वाले अभ्यार्थी एक साल तक समूह ग के पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। एक साल के बाद दोबारा पेट (PET) पास करना जरूरी होगा।

सिंगल पॉइंट रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया भी शुरू

परीक्षा से संबंधित कुछ अन्य बदलाव भी किए गए हैं। अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए सिंगल पॉइंट रजिस्ट्रेशन (SPR) प्रक्रिया शुरू होने जा रही है, इससे अभ्यर्थियों को किसी पद के आवेदन के लिए बार-बार फॉर्म भरने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

परीक्षा आयोजित कराने में होगी आसानी

नए स्तर से परीक्षा आयोजित कराने में आसानी होगी। दरअसल, इससे पहले लाखों की संख्या में आवेदन आते थे। ऐसे में इतनी बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों की परीक्षा कराने में समस्या होती थी। नए नियम के तहत अब दो स्तरीय परीक्षा कराए जाने से परीक्षाओं को कराने में आसानी होगी। इससे बार-बार डिटेल्स भरने का झंझट कम होगा। अभी तक किसी नौकरी के लिए विज्ञापन निकलने पर उसी के लिए आवेदन किया जाता है। उसके बाद फिर से कोई और पद निकालने जाने पर अभ्यर्थियों को दोबारा आवेदन के लिए फिर से पूरी डीटेल भरनी होती है। लेकिन अब इसके लिए केवाईसी (Know your candidate) होने जा रहा है।

ये भी पढ़ें: Patrika Breaking: स्कूल परिसर में हत्या, प्रेम संबंधों के चलते शिक्षक ने सहायक शिक्षिका को मार दी गोली

ये भी पढ़ें: Patrika Breaking: मिर्जापुर और सोनभद्र में दूर होगा पेयजल संकट, पीएम मोदी करेंगे योजना का वर्चुअल शिलान्यास

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned