Quick Read: दो साल से गायब आशा चला रही थी अस्पताल, सेवा समाप्ति और एफआईआर दर्ज

नियामताबाद ब्लाक की दो साल से गायब चल रही आशा कार्यकर्ता सुमन देवी बिना रजिस्ट्रेशन खुद का नर्सिंग होम चलाती मिली। यहां धड़ल्ले से प्रसव कराया जा रहा था।

By: Karishma Lalwani

Published: 27 Jun 2021, 01:37 PM IST

दो साल से गायब आशा चला रही थी अस्पताल, सेवा समाप्ति और एफआईआर दर्ज

चंदौली. नियामताबाद ब्लाक की दो साल से गायब चल रही आशा कार्यकर्ता सुमन देवी बिना रजिस्ट्रेशन खुद का नर्सिंग होम चलाती मिली। यहां धड़ल्ले से प्रसव कराया जा रहा था। पिछले दिनों समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी संजीव सिंह ने लापरवाही पर प्रभारी चिकित्साधिकारी को सख्त हिदायत दी थी। एक आशा संगिनी ने कहा कि ब्लाक में नियुक्त आशा कार्यकर्ता अलीनगर में खुद का नर्सिंग होम चलाती है। लोगों में अच्छी पकड़ व अन्य कार्यकर्ताओं को भी अपने साथ मिला लिया है। इससे अधिक से अधिक प्रसव उसके अस्पताल में ही होते हैं। इससे गर्भवती महिलाएं सरकारी अस्पतालों का रुख नहीं करती हैं। इसकी वजह से प्रचार-प्रसार के बावजूद जननी सुरक्षा योजना का ग्राफ नहीं बढ़ रहा। डीएम ने जांच का निर्देश दिया था, तो जांच में गड़बड़ी पाई गई। आशा की सेवा समाप्ति के साथ ही एफआइआर का निर्देश दिया।

लखनऊ के 200 स्थानों पर लगेंगे आर्टिफिशिय इंटेलिजेंस कैमरे

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में महिलाओं की हिफाजत के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कैमरे लगाए जाएंगे। एआई तकनीक से लैस 200 कैमरे शहर के प्रमुख स्थानों जैसे हजरतगंज, आईजीपी, परिवर्तन चौक, 1090 और सूनी सड़कों पर लगाए जाएंगे। अगर किसी महिला के साथ छेड़खानी होती है, या वह मुसीबत में है तो कैमरे उसको पकड़ लेंगे। तुरंत कंट्रोल रूम का सायरन बज उठेगा। कैमरे से चिह्नित स्थान पर नजदीकी पीआरवी यानी पुलिस की पेट्रोलिंग कार पहुंच जाएगी। कमिश्नर ने इसके लिए मंजूरी दे दी है। अब एआई सॉफ्टवेयर लागू करने वाली एजेंसी का चयन किया जाएगा। सेफ सिटी के तहत यह परियोजना लागू की जाएगी। सिर्फ लखनऊ ही नहीं, 17 और जिले ऐसे हैं जहां यह परियोजना लागू की जा रही है।

यूपी के 120 कॉलेजों में टैबलेट बांटेगी यूपी सरकार

लखनऊ. ग्रामीण इलाकों में स्थित राजकीय महाविद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं की शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। राजकीय महाविद्यालयों को डिजिटल इंडिया के तहत प्रीलोडेड टैबलेट दिए जाएंगे। इस सुविधा के बाद महाविद्यालयों पर पढ़ने वाले विद्यार्थियों की शिक्षा व्यवस्था में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकेगा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल में राजकीय महाविद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए 1 करोड़ 68 लाख 75 हजार का बजट पास कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने उच्च शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश देते हुए इसी सत्र यानि साल 2021-22 में ही चिन्हित सभी राजकीय महाविद्यालयों को टैबलेट वितरित करने की बात कही है।

हाईवे पर बेकाबू ट्रक खाई में गिरी

ललितपुर. उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में रविवार की सुबह एनएच-44 पर बेकाबू ट्रक ने साइकिल सवार दो बुजुर्गों को रौंद दिया। इसके बाद ट्रक गहरी खाई में जाकर पलट गया। कोतवाली सदर अंतर्गत मोहल्ला पटेल नगर निवासी हुकुम उर्फ बड़े (59 साल) और मोहल्ला शांति नगर निवासी जगदीश (60 साल) आपस में गहरे दोस्त थे। दोनों मजदूरी करने के लिए रविवार की सुबह छह बजे घर से मसौरा कलां जाने के लिए साइकिल से निकले थे। जब दोनों हाईवे-44 पर स्थित ग्राम मसौरा वेरियाल के निकट पहुंचे, तभी झांसी से सागर की ओर तेज गति से जा रहे ट्रक ने दोनों साइकिल सवारों को रौंदते हुए आगे जाकर पलट गया। हादसे में दोनों बुजुर्गों की मौत हो गई। हादसे के बाद ट्रक का ड्राइवर केबिन में फंस गया था। उसे कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया।

सदमे में आकर पति ने लगाई फांसी

ललितपुर. उत्तर प्रदेश के ललितपुर में पारिवारिक कलह के चलते एक व्यक्ति ने बबूल के पेड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मामला जिले के थाना बानपुर के ग्राम हुसंगा का है। गोलू (22) ने अपनी पत्नी चांदनी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। पत्नी ने अपने मायके गांव कचनौंदाकला में फोन कर अपने भाई रोहित को ससुराल बुलाया। जब रोहित बहन के सुसराल पहुंचा, तो चांदनी ने रोते हुए पूरी बात बताई। बहन के आंसू देख गुस्से में आकर रोहित ने अपने जीजा गोलू को थप्पड़ मार दिया। थप्पड़ से जीजा गोलू सदमे में चला गया। पारिवारिक कलह बढ़ता देख उसने खेत में जाकर बबूल के पेड़ पर फांसी लगा ली। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

हाईटेंशन की चपेट में आने से दो दोस्तों की मौत

बहराइच. नेपाल से सटे उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में दो दोस्तों की हाईटेंशन तार की चपेट में आने से मौत हो गई। फखरपुर थाना क्षेत्र के मुड़का गांव निवासी अनिल कुमार (17 साल) और शिवबालक (16 साल) दोस्त थे। शनिवार की रात करीब नौ बजे दोनों घर से गांव के बाहर खेत में शौच के लिए जाने की बात कह कर निकले थे। रास्ते में हाईटेंशन तार टूटकर गिरा पड़ा और उसमें करंट दौड़ होता रहा। दोनों के तार की चपेट में आने से मौत हो गई। रात भर परिवार वाले उन्हें ढूंढते रहे। रविवार सुबह खेत में दोनों के शव मिले। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

शादी का झांसा देकर दिल्ली ले जा रही लड़की को पकड़ा

लखीमपुर खीरी. खीरी जिले में दो नेपाली युवक नेपाल की एक युवती को शादी का झांसा देकर बहला फुसलाकर जंगल मार्ग से दिल्ली ले जाने की फिराक में थे, लेकिन एसएसबी की टीम ने उन्हें पकड़कर नेपाल की शांति पुर्नस्थापना धनगढ़ी एनजीओ के सुपुर्द कर दिया। 39वीं वाहिनी एसएसबी गौरीफंटा की इंचार्ज एसआई मनीषा ने कहा कि शुक्रवार की देर शाम को मोहाना नदी व जंगल मार्ग से बनगवां आ रहे दो नेपाली युवकों और एक युवती को एसएसबी ने रोककर पूछताछ की, जिससे उन्हें पता चला कि नेपाल से युवती को शादी का झांसा देकर बहला फुसलाकर दिल्ली ले जाया जा रहा है। पूछताछ में युवकों ने अपना नाम मान बहादुर सांउद, चंद्र सांउद निवासी नेपाल बताया। जिसके बाद युवकों व युवती को नेपाल सशस्त्र पुलिस बल व बार्डर पर तैनात नेपाली संस्था के सुपुर्द कर दिया गया।

अवैध चार पहिया वाहन स्टैंड चालत की पिटाई

वाराणसी. सिगरा थानांतर्गत रोडवेज क्षेत्र में अनधिकृत रूप से संचालित चार पहिया वाहन स्टैंड पर हमलावरों ने एक कार चालक की पिटाई कर दी। कार का शीशा क्षतिग्रस्त कर दिया। आरोप है कि जेब में रखे पैसे भी छीन लिए। घटना के शिकार हुए हंडिया (प्रयागराज) निवासी विजय कुमार भारतीय ने कहा कि वह लखनऊ से पेपर का बंडल लेकर आया था। यहां वाहन स्टैंड से अपनी कार चलवाने वाले चार लोगों ने उसे घेर लिया। पिटाई के बाद जेब में रखे एक हजार रूपए भी निकाल लिए गए। इस घटना में कार का शीशा भी टूट गया। जबकि स्टैंड से गाड़ी के टोकन नंबर को लेकर प्रयागराज और वाराणसी के वाहन चालकों के बीच आए दिन विवाद होता है। प्रथम दृष्टया तहरीर के आधार पर पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ़ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले की जांच की जा रही है।

सड़क हादसे में मां और बेटे की मौत

वाराणसी. वाराणसी के रोहनिया थाना क्षेत्र के करनाडाडी स्थित हाईवे पर रविवार सुबह रफ्तार का कहर नजर आया। दर्दनाक सड़क हादसे में स्कूटी सवार मां और मासूम बेटे की मौत हो गई। हाईवे पर तेज रफ्तार ट्रक ने स्कूटी को टक्कर मारी। हादसे में स्कूटी चला रहा युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। रोहनिया थाना अंतर्गत अखरी के रहने वाले चंद्रिका उर्फ पिंटू (30) अपनी पत्नी प्रियंका (26) और पुत्र आयुष (3) के साथ बच्चे को दवा दिलाने राजातालब गए थे, वापसी में ट्रक की चपेट में आने से पत्नी प्रियंका और पुत्र आयुष की मौके पर ही मौत हो गई। घायल चंद्रिका को रोहनिया थाना प्रभारी प्रवीण कुमार ने नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं मां और बेटे के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के अनुसार घायल चंद्रिका अदलपुरा के सब्जी अनुसंधान केंद्र में संविदा कर्मी है।

सोशल मीडिया ने मां-बेटे को मिलाया

वाराणसी. सौतेले पिता की प्रताड़ना से नाराज आकर नेपाल निवासी एक किशोर ने दो साल पहले अपना घर छोड़ दिया। 16 वर्षीय किशोर के अनुसार, वह नेपाल के लुंबिनी राज्य के देवदहा कस्बे का रहने वाला है। उसके माता और पिता के बीच तलाक हो गया था। किशोर अपनी मां के साथ रहता था। मां की शादी के कुछ दिनों बाद सौतेले पिता ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। इससे परेशान होकर उसने घर छोड़ दिया और सोनौली होते हुए फरीदाबाद चला गया। दो साल बाद उसने घर वापस जाने का सोचा। बनारस में उसे बीच चाइल्ड लाइन के लोग मिले, जिन्होंने आश्रम संस्था में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया गया। उसे रामनगर स्थित राजकीय बाल सुधार गृह भेज दिया गया। लड़के की मां को फेसबुक पर सर्च कर उसका पता लगाया गया।

ये भी पढ़ें: Quick Read: यूपी राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला पंचायत सदस्यों को लेकर सुनाया ये फरमान

ये भी पढ़ें: Quick Read: संविदा पर होगी महिला बस ड्राइवरों की भर्ती

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned