scriptजानिए क्या है नागरिकता संशोधन कानून (CAA), जिसका पूरे देशभर में हो रहा विरोध | What is CAA Kya Hota Hai in Hindi | Patrika News
लखनऊ

जानिए क्या है नागरिकता संशोधन कानून (CAA), जिसका पूरे देशभर में हो रहा विरोध

नागरिकता संशोधन कानून 2019 (CAA 2019) को लेकर देश भर में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। इसके विरोध में 19 दिसम्बर को यूपी की राजधानी लखनऊ में लोगों ने जमकर विरोध प्रदर्शन कर आगजनी की।

लखनऊDec 21, 2019 / 04:27 pm

Neeraj Patel

जानिए क्या है नागरिकता संशोधन कानून (CAA), जिसका पूरे देशभर में हो रहा विरोध

जानिए क्या है नागरिकता संशोधन कानून (CAA), जिसका पूरे देशभर में हो रहा विरोध

लखनऊ. नागरिकता संशोधन कानून 2019 (CAA 2019) को लेकर देश भर में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। इसके विरोध में 19 दिसम्बर को यूपी की राजधानी लखनऊ में लोगों ने जमकर विरोध प्रदर्शन कर आगजनी की। जिसके बाद उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है और 45 घंटे के लिए प्रदेश के कई जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

बता दें कि नागरिकता कानून को भारतीय संसद में 11 दिसंबर, 2019 को पारित किया गया, जिसमें 125 मत पक्ष में थे और 105 मत विरुद्ध। राष्ट्रपति द्वारा इस विधेयक को 12 दिसंबर को मंजूरी भी दे दी गई। मोदी सरकार और उसके समर्थक जहां इसे ऐतिहासिक कदम बता रहे हैं, वहीं विपक्ष, मुस्लिम संगठन द्वारा इसका विरोध किया जा रहा हैं। हालांकि, इस बिल को लेकर उत्तर प्रदेश सहित देश भर में इसके विरोध को लेकर जमकर प्रदर्शन किया जा रहा है।

CAA के पारित होने के साथ ही उत्तर-पूर्व, पश्चिम बंगाल और नई दिल्ली सहित पूरे देश में हिंसक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। छात्र, नेता और साथ में कुछ अन्य लोग भी, जिन पर हिंसा भड़काने के आरोप है। देशभर में उपद्रवियों ने हंगामा मचाया। वहीं, गुरुवार को लखनऊ में हुई हिंसा व आगजनी के बाद प्रदेश भर में धारा 144 लगाई गई और इंटरनेट भी बंद है। मेट्रो भी प्रभावित है। तो आइए समझते हैं कि CAA और इस मुद्दे पर देश में क्यों इसका विरोध किया जा रहा है।

जानें क्या हैं CAA नागरिकता संशोधन कानून

नागरिकता संशोधन कानून 2019 (CAA – 2019) अल्पसंख्यकों (गैर-मुस्लिम) के लिए भारतीय नागरिकता देने का रास्ता खोलता है। इस कानून से भारत के किसी भी धर्म के शख्‍स की नागरिकता नहीं छीनी जाएगी। ये कानून सिर्फ पाकिस्‍तान, बांग्‍लादेश और अफगानिस्‍तान में रहने वाले शोषित लोगों को भारत की नागरिकता हासिल करने की राह आसान करता है। भारत के मुस्लिमों या किसी भी धर्म और समुदाय के लोगों की नागरिकता को इस कानून से खतरा नहीं है।

CAA और CAB

नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA का फुल फॉर्म Citizenship Amendment Act है। ये संसद में पास होने से पहले (Citizenship Amendment Bill) था। फिर राष्ट्रपति की मुहर लगने के बाद ये बिल नागरिक संशोधन कानून Citizenship Amendment Act) यानी एक्ट बन गया है।

CAA में कौन से धर्म शामिल हैं?

CAA में छह गैर-मुस्लिम समुदायों – हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसी से संबंधित अल्पसंख्यक शामिल हैं। इन्हें भारतीय नागरिकता तब मिलेगी जब वे 31 दिसंबर, 2014 को या उससे पहले भारत में प्रवेश कर गए हों।

Hindi News/ Lucknow / जानिए क्या है नागरिकता संशोधन कानून (CAA), जिसका पूरे देशभर में हो रहा विरोध

ट्रेंडिंग वीडियो