script Ration Card से कट जाएगा 2 लाख 74 हजार लोगों का नाम, नए नियम के तहत होगा ये काम, जानिए अभी | 2 lakh 74 thousand people will be removed from ration card | Patrika News

Ration Card से कट जाएगा 2 लाख 74 हजार लोगों का नाम, नए नियम के तहत होगा ये काम, जानिए अभी

locationमहासमुंदPublished: Dec 12, 2023 02:17:39 pm

Ration card Update : रसोई गैस के उपभोक्ताओं को भी ई-केवाईसी कराना होगा। गैस एजेंसियों में सर्वर की समस्या के कारण ई-केवाईसी का कार्य धीमी गति से चल रहा है...

ration_card_update_.jpg
Ration Card e-KYC Latest Update : राशन कार्ड में शामिल सदस्यों का ई-केवायसी अनिवार्य है। अभी भी 2 लाख 74 हजार सदस्यों की ई-केवाईसी नहीं हो पाई है। तिथि बढ़ने के बाद भी लोग रुचि नहीं दिखा रहे हैं। 31 दिसंबर अंतिम तिथि निर्धारित की गई है।
यह भी पढ़ें

CG Weather Update : छत्तीसगढ़ में ठंड - कोहरे का डबल अटैक ! 9 डिग्री से भी नीचे गिरा पारा, मौसम विभाग ने जारी किया ये अलर्ट



एक जून से ई-केवाईसी की प्रक्रिया चल रही है। चार बार तिथि में वृद्धि की जा चुकी है। बाद भी राशन कार्ड में दर्ज सदस्य ई-केवायसी में कराने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। बताया जा रहा है ज्यादातर बच्चों और बुजुर्गों की ही ई-केवाईसी नहीं हो पाई है। बच्चों का बायोमेट्रिक नहीं होने से राशनकार्डधारियों को चक्कर काटने पड़ रहे हैं।
यह भी पढ़ें

CG Road Accident : तेज रफ्तार हाईवा ने बच्चों और पिता को रौंदा, तीनों की दर्दनाक मौत, भड़का आक्रोश



जिले में 8 लाख 34 हजार राशनकार्डधारियों ने ही अभी तक ई-केवाईसी कराई है। पूर्व में सरायपाली व बसना विकासखंड में कार्य धीमा होने से फटकार भी लगाई गई थी। ई-केवाईसी नहीं कराने पर भविष्य में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इधर, रसोई गैस के उपभोक्ताओं को भी ई-केवाईसी कराना होगा। गैस एजेंसियों में सर्वर की समस्या के कारण ई-केवाईसी का कार्य धीमी गति से चल रहा है। जिले में लगभग ढाई लाख उपभोक्ता हैं। जिला खाद्य अधिकारी अजय यादव ने बताया कि उचित मूल्य की दुकान में उपभोक्ता ई-केवायसी करा सकते हैं।
तेजी आने की उम्मीद
विधानसभा चुनाव के कारण भी ई-केवाईसी की प्रक्रिया धीमी हुई। अब इसमें तेजी आने की उम्मीद है। ऐसे हितग्राही जिन्हें अन्य गांव राशन लेने के लिए जाना पड़ता है, ऐसे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसे हितग्राहियों के लिए शिविर आदि नहीं लगाए जा रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो