मई में सोना 4 फीसदी तक हुआ महंगा, चांदी की कीमत में 5 फीसदी तक का इजाफा

सोना मई के महीने में 4 फीसदी महंगा हो गया है। जबकि चांदी की कीमत में 5 फीसदी तक तेजी देखने को मिल चुकी है।

By: Saurabh Sharma

Updated: 24 May 2021, 12:36 PM IST

नई दिल्ली। मई के महीने में सोना और चांदी की कीमत में अच्छी तेजी देखने को मिली है। जहां सोना मई के महीने में 4 फीसदी महंगा हो गया है। जबकि चांदी की कीमत में 5 फीसदी तक तेजी देखने को मिल चुकी है। मई में सोने और चांदी की कीमत में तेजी के कई कारण देखने को मिल रहे हैं। सबसे बड़ा कारण है क्रिप्टो करेंसी में जबरदस्त गिरावट। वहीं डॉलर इंडेक्स में गिरावट के कारण भी सोना और चांदी में सपोर्ट देखने को मिल रहा है। वहीं जियो पॉलिटिकल टेंशन और फेड रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में इजाफा ना करने के कारण भी कीमती मेटल में तेजी देखने को मिल रही है। आइए पहले आपको बताते हैं कि आखिर सोने और चांदी की कीमत कितनी हो गई है।

यह भी पढ़ेंः- रतन टाटा की इस कंपनी ने दिखाई दरियादिली, पूरे देश में हो रही है वहावाही

आज भी सोने और चांदी की कीमत
आज यानी 24 मई को सोने और चांदी की कीमत में तेजी देखने को मिल रही है। दोपहर 12 बजे तक 142 रुपए की तेजी के साथ 48,546 रुपए प्रति दस ग्राम की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है। जबकि कारोबारी सत्र के दौरान 48,622 रुपए के साथ दिन के उच्च स्तर पर पहुंच गया है। जबकि चांदी की बात करें तो 532 रुपए प्रति किलोग्राम के साथ 71,581 रुपए प्रति किलोग्राम पर कारोबार कर रहा है। जबकि आज कारोबारी सत्र के दौरान चांदी 71,718 रुपए प्रति किलोग्राम पर कारोबार कर रही है।

मई के महीने कितना महंगा हुआ सोना और चांदी
मई के महीने में सोना और चांदी की कीमत में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। मई के महीने में सोने की कीमत 4 फीसदी यानी करीब 1900 रुपए की तेजी आ चुकी है। 30 अप्रैल को सोने की कीमत 46,737 रुपए पर बंद हुई है। जबकि चांदी की कीमत में 5 फीसदी की तेजी आ चुकी है। आंकड़ों की मानें तो 30 अप्रैल को वायदा बाजार में चांदी 68,366 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। इस दौरान चांदी की कीमत में 3352 रुपए प्रति किलोग्राम की बढ़ोतरी देखने को मिल चुकी है।

यह भी पढ़ेंः- सब्जी की कीमत बढ़ाने वालों पर कार्रवाई करेगी तमिलनाडु सरकार, इस तरह के दिए आदेश

इन कारणों से सोने और चांदी में आई तेजी
1. क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन में मई के महीने में 50 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है। जिसकी वजह से निवेशकों का रझान के बार फिर से गोल्ड एंड सिल्वर में बढ़ा है।

2. डॉलर इंडेक्स में गिरावट भी गोल्ड और सिल्वर की कीमत को सपोर्ट करता हुआ दिखाई दिया।

3. फेड रिजर्व की ओर से साफ किया गया है कि वो ब्याज दरों में किसी तरह के फेरबदल के मूड में नहीं है। यह वजह भी सोने और चांदी को सपोर्ट कर रही है।

4. फिलिस्तीन और इजरायल के बीच चल रहे युद्घ के कारण जियो पॉलिटिकल टेंशन बढ़ गई है, जिसका असर सोने और चांदी की कीमत में बढ़ा है।

5. वहीं भारत में कोविड के केसों में काफी कमी आई है। जिसकी वजह से सोने में खरीदारी और डिमांड में इजाफा हुआ है। जिसकी वजह से भी सोना और चांदी बढ़ा है।

अभी और होगा इजाफा
केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया के अनुसार आने वाले दिनों में सोने और चांदी की कीमत में और ज्यादा इजाफा होने के आसार हैं। जून के महीने में कोविड-19 की दूसरी लहर का असर कम होने की संभावना बताई गई है। जिससे सोने और चांदी की डिमांड में इजाफा होने के आसार हैं जिसका असर कीमत में देखने को मिल सकता है। पिछले कुछ महीनों से गोल्ड इंपोर्ट में भी तेजी देखने को मिला है।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today : कोरोना काल के करीब 17 महीनों में 20 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल और डीजल

क्यों हुआ इजाफा
आईआईएफएल के वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता ने बताया कि क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन में मई के महीने में 50 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है। डॉलर इंडेक्स में गिरावट का असर भी है। जियो पॉलिटिकल टेंशन बढऩे की वजह से भी निवेशकों का रुझान सोने और चांदी की ओर बढ़ा है। वहीं भारत में कोविड के केसों में काफी कमी आई है। जिसकी वजह से सोने में खरीदारी और डिमांड में इजाफा हुआ है। जिसकी वजह से भी सोना और चांदी बढ़ा है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned